'चीन में उइगर मुस्लिमों के दमन पर चुप क्‍यों हैं पाकिस्‍तान, तुर्की और खाड़ी देश'

'चीन में उइगर मुस्लिमों के दमन पर चुप क्‍यों हैं पाकिस्‍तान, तुर्की और खाड़ी देश'
चीन में उइगर एक अल्पसंख्यक मुस्लिम समुदाय है. (File Photo: Reuters)

सांसद ब्रैड शर्मन ने बुधवार को संसदीय सुनवाई के दौरान कहा, 'हमें खास तौर पर उन मुस्लिम देशों का नाम लेना चाहिए जिन्होंने कुछ नहीं किया'

  • भाषा
  • Last Updated: September 29, 2018, 7:26 PM IST
  • Share this:
अमेरिका के सांसदों ने कहा है कि रोहिंग्या मुस्लिमों के समर्थन में वैश्विक प्रयासों का नेतृत्व करने वाले पाकिस्तान, तुर्की और खाड़ी देशों की चीन में उइगर मुस्लिमों के दमन पर चुप्पी आक्रोशित करने वाली है. सांसद ब्रैड शर्मन ने बुधवार को संसदीय सुनवाई के दौरान कहा, 'हमें खास तौर पर उन मुस्लिम देशों का नाम लेना चाहिए, जिन्होंने कुछ नहीं किया'

शर्मन ने कहा, 'चाहे वह तुर्की, पाकिस्तान या खाड़ी देश हों, इन्होंने रोहिंग्या मुस्लिमों के लिए काफी कम प्रयास किए और उइगर मुस्लिमों की मदद करने से साफ पीछे हट गए.' चीन में उइगर एक अल्पसंख्यक मुस्लिम समुदाय है. चीन के स्वशासित क्षेत्र शिनजियांग में लगातार कथित तौर पर इनका दमन हो रहा है.

उन्होंने आरोप लगाया कि चीन उइगर मुस्लिमों का बड़े पैमाने पर दमन कर रहा है. हाल की संयुक्त राष्ट्र की बैठक में जैसा कि संज्ञान लिया गया है कि चीन सरकार ने शिनजियांग को एक तरह से 'नजरबंदी शिविर' में तब्दील कर दिया है.



उइगर मानवाधिकार बोर्ड की चेयरमैन नूरी तुर्केल ने बताया कि चीन का साथ देने का पाकिस्‍तान का भयानक इतिहास है. मलेशियाई नेता अनवर इब्राहिम इकलौते मुस्लिम नेता हैं जिन्‍होंने उइगर मुसलमानों के लिए आवाज उठाई है. उन्‍होंने आरोप लगाया, 'पाकिस्‍तान तो पाकिस्‍तानी-उइगर नागरिकों को खामोश करने में भी चीन के साथ रहा है. खाड़ी देश विशेष रूप से यूएई, मिस्र का भी उइगर मुसलमानों को लेकर रवैया खराब रहा है. इन देशों ने कई उइगर लोगों को वापस भेजा है.'
वहीं अमेरिकी सांसद टेड योहो ने आरोप लगाया कि चीनी सेना ने 1949 में आक्रमण कर शिनजियांग को चीन में शामिल किया था. आज चीन की कम्‍युनिस्‍ट पार्टी शिनजियांग के अनूठेपन को खत्‍म कर रही है. प्रशासन ने इस क्षेत्र को हाईटेक सैन्‍य राज्‍य में बदल दिया है.

सांसद डेना रोराबाशर ने आरोप लगाया कि चीन सरकार म्‍यांमार में भी मुसलमानों के कत्‍ल के पीछे थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज