मोदी सरकार के इस फैसले का अमेरिका ने किया समर्थन, कहा- आतंकवाद से लड़ाई में मिलेगी मदद

News18Hindi
Updated: September 5, 2019, 12:11 PM IST
मोदी सरकार के इस फैसले का अमेरिका ने किया समर्थन, कहा- आतंकवाद से लड़ाई में मिलेगी मदद
अमेरिकी सरकार के दक्षिणी और मध्‍य एशियाई मामलों के ब्‍यूरो की ओर से ट्वीट कर कहा गया है कि वह इसके समर्थन में भारत के साथ खड़ा है.

अमेरिकी ब्‍यूरो ने ट्वीट में लिखा, हम इस मामले में भारत (India) के साथ खड़े हैं. ये कानून (UAPA) आतंक के खिलाफ लड़ाई में दोनों मुल्‍कों की मदद करेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 5, 2019, 12:11 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. मोदी सरकार ने आतंकवाद की कमर तोड़ने के लिए संसोधित यूएपीए (UAPA) कानून के तहत बुधवार को बड़ी कार्रवाई की. केंद्रीय गृह मंत्रालय ने यूएपीए एक्ट के तहत कार्रवाई करते हुए जैश ए मोहम्मद के सरगना मौलाना मसूद अज़हर (Masood Azhar), लश्कर ए तैयबा के चीफ हाफिज सईद (Hafiz Saeed), मुंबई बम ब्लास्ट के मास्टरमाइंड अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम (Dawood Ibrahim) और जकी उर रहमान लखवी (Zaki ur Rehman Lakvi) को आतंकवादी घोषित किया है. भारत की इस कार्रवाई का अमेरिका ने पुरजोर समर्थन किया है. अमेरिकी सरकार के दक्षिणी और मध्‍य एशियाई मामलों के ब्‍यूरो की ओर से ट्वीट कर कहा गया है कि वह इसके समर्थन में भारत के साथ खड़ा है.

अमेरिकी ब्‍यूरो ने ट्वीट में लिखा है, 'हम इस मामले में भारत के साथ खड़े हैं. ये कानून आतंक के खिलाफ लड़ाई में दोनों मुल्‍कों की मदद करेगा. हम भारत के नए कानूनी अधिकारों के उपयोग के लिए उसकी सराहना करते हैं, जिसके तहत उसने चार कुख्‍यात आतंकियों मौलाना मसूद, हाफिज सईद, जकी उर रहमान लखवी और दाऊद इब्राहिम को आतंकी घोषित किया है. ये नया कानून आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में भारत और अमेरिका को सहयोग को बढ़ावा देगा.'



बता दें कि भारत ने संसद में नए कानून के तहत हुए संशोधनों के तहत ये कार्रवाई की है. संशोधित कानून के एक्ट 3 के तहत गृह मंत्रालय ने यह कार्रवाई की है. पहले कानून के अनुसार किसी समूह को ही आतंकवादी ग्रुप घोषित किया जा सकता था, लेकिन नए यूएपीए (UAPA) के अनुसार अब किसी व्‍यक्‍ति विशेष को भी आतंकवादी घोषित किया जा सकता है.
Loading...

ये चारों आतंकी भारत में हुए अलग-अलग बम धमाकों या आतंकी हमलों के लिए जिम्‍मेदार हैं. अधिकारियों के अनुसार, पहले जब किसी आतंकी संगठन को प्रतिबंधित किया जाता था, तो वह आतंकी उनका नाम बदलकर फिर से आतंकी गतिविधियों में लग जाते थे.

मुंबई बम धमाकों का मास्‍टरमाइंड है दाऊद
दाऊद इब्राहिम 1993 में मुंबई में हुए बम धमाकों (1993 Bombay Bomb Blast) का मास्टरमाइंड माना जाता है. दाऊद भारत से सालों से दूर है. वह पाकिस्‍तान में छिपा बैठा है, लेकिन पाक इस बात से हमेशा इनकार करता रहता है. यूनाइटेड नेशंस सिक्योरिटी काउंसिल के अनुसार इसके पास कई पाकिस्तानी पासपोर्ट हैं. वह पाकिस्तान के कराची में नूराबाद हिल्स के आलीशान बंगले में भारी सुरक्षा के बीच रहता है.

लखवी ने रची थी मुंबई हमले की साजिश
मुंबई हमले की साजिश ज़की उर रहमान लखवी ने रची थी.  अभी लखवी पाकिस्तान में जमानत पर रिहा है. लखवी ने 2008 के पूरे हमले का प्लान तैयार किया था. इतना ही नहीं वह समुद्री रास्ते से मुंबई पहुंचे यात्रियों से लगातार संपर्क में था.

Hafiz saeed in pakistan

हाफिज सईद की पार्टी चुनाव भी लड़ चुकी है
आतंकी हाफिज़ मुहम्मद सईद वर्तमान में आतंकवादी संगठन जमात-उद-दावा का कर्ताधर्ता है. मुंबई के 26/11 हमले की साजिश में मुख्य तौर पर इसका हाथ था. वह पाकिस्‍तान में चुनाव भी लड़ चुका है. भारत लगातार पाकिस्तान से उसे सौंपने की मांग करता रहा है. हाफिज सईद इस संगठन को पाकिस्तान में लाहौर के पास मुरीदके शहर से संचालित करता है.

कंधार विमान हाईजैक के बाद भारत की गिरफ्त से छूटा था मसूद अजहर
मसूद अजहर 'जैश-ए-मोहम्मद' (Jaish-e-Mohammed)का संस्थापक है. इस आतंकी संगठन को संयुक्त राष्ट्र भी ब्लैकलिस्ट में डाल चुका है. पुलवामा में सीआरपीएफ पर हुए दुर्दांत हमले का मास्‍टरमाइंड मसूद को ही माना जाता है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अमेरिका से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 5, 2019, 11:40 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...