लाइव टीवी

IS सरगना बगदादी की पत्‍नी ने ही उसे मौत के मुंह में भेजा, दी थी बड़ी जानकारी

भाषा
Updated: October 29, 2019, 6:32 AM IST
IS सरगना बगदादी की पत्‍नी ने ही उसे मौत के मुंह में भेजा, दी थी बड़ी जानकारी
सीआईए ने बगदादी को लेकर एक नया खुलासा किया है.

आईएस सरगना अबु बकर अल बगदादी (ISIS chief Abu Bakr al-Baghdadi) की मौत को लेकर अब कई तरह के खुलासे हो रहे हैं. इसी के तहत सीआईए (CIA) ने एक नया खुलासा किया है.

  • Share this:
वाशिंगटन. आतंकी संगठन इस्‍लामिक स्‍टेट (Islamic State, IS) के सरगना अबु बकर अल बगदादी (ISIS chief Abu Bakr al-Baghdadi) की मौत को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है. अमेरिकी समाचार पत्र न्‍यूयॉर्क टाइम्‍स ने खुफिया एजेंसी सीआईए (CIA) के हवाले से बताया कि कुछ महीने पहले जब बगदादी की एक पत्‍नी और एक संदेशवाहक को गिरफ्तार किया गया था, तब ही उसके संभावित ठिकानों के बारे में पता चल गया था.

रिपोर्ट के अनुसार, सीआईए ने शुरुआती सूचना के आधार पर बगदादी के ठिकानों की पहचान करने के लिए इराकी और कुर्दिश खुफिया अधिकारियों के साथ मिलकर काम करना शुरू किया. ठिकानों की निगरानी के लिए जासूसों को काम पर लगाया है.

बता दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने रविवार को बगदादी के मारे जाने की घोषणा की थी. आईएसआईएस के सरगना को खत्‍म करने के लिए शनिवार को उत्‍तर पश्चिमी सीरिया में अमेरिकी सेना द्वारा कार्रवाई की गई. अमेरिकी अधिकारी ने न्‍यूयॉर्क टाइम्‍स को बताया कि कुर्दों को सीरिया में ही छोड़कर अमेरिका को बाहर निकलने के राष्‍ट्रपति ट्रंप के फैसले के बाद भी कुर्दों ने खुफिया एजेंसी सीआईए को बगदादी के बारे में जानकारी देना जारी रखा.

बगदादी ने यहां ली थी शरण

एक अधिकारी ने कहा कि सीरियाई और इराकी कुर्दों ने किसी भी देश के मुकाबले हमले को लेकर अधिक खुफिया जानकारी मुहैया कराई. हमले की जगह के निकट गांव में रहने वाले लोगों से बात करने वाले इंजीनियर के मुताबिक बगदादी एक और चरमपंथी समूह हुर्रास अल दीन के एक कमांडर अबू मोहम्मद सलामा के घर में शरण लिए हुए था.

2 बार लास्‍ट मोमेंट पर रोका गया था ऑपरेशन
रिपोर्ट में कहा गया है कि सेना ने कम से कम दो बार अंतिम क्षणों में मिशन रोका था. हमले की अंतिम योजना पिछले सप्ताह दो से तीन दिन में बनाई गई थी. एक वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी ने कहा कि बगदादी भागने ही वाला था. अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने रविवार को संवाददाता सम्मेलन में कहा था कि बगदादी की मौत के बाद उसके शव के टुकड़ों की डीएनए जांच की गई, जिसमें उसकी पहचान की पुष्टि हुई.
Loading...

समाचार पत्र की खबर में कहा गया है कि इस बात की संभावना है कि बगदादी जब वर्ष 2000 के मध्य में इराक में अमेरिका द्वारा संचालित हिरासत शिविर में था, तो उसका डीएनए नमूना लिया गया होगा.

ये भी पढ़ें: बगदादी की मौत पर रूस ने जताया शक, कही ये बात

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अमेरिका से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 28, 2019, 11:21 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...