अपना शहर चुनें

States

बाइडन ने उद्घाटन भाषण में कही एक ऐसी बात जो उन्हें पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपतियों से बनाती है अलग!

जो बाइडन
जो बाइडन

जो बाइडन (Joe Biden) ने अपने संबोधन में वॉशिंग्टन (Washington) की कार्यप्रणाली के बारे में एक अहम बात कही है. उन्होंने कहा- "राजनीति भड़कती हुई आग नहीं होनी चाहिए जो अपने मार्ग में आने वाली हर चीज को नष्ट कर दे."

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 21, 2021, 5:46 PM IST
  • Share this:
जो बाइडन (Joe Biden) ने कल अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति (46th President of America) के रूप में देश की बागडोर संभाल ली है. अपने संबोधन में बाइडन ने श्वेतों को श्रेष्ठ मानने की मानसिकता, घरेलू आतंकवाद जैसे कई मुद्दों को हराने की बात की. उन्होंने अमेरिकी लोगों से अपील की है कि वो भी इस लड़ाई में सरकार का साथ दें. मगर अपने भाषण में जो बाइडन ने एक ऐसी बात कही जो उन्हें अपने पहले के राष्ट्रपतियों से अलग बनाता है.

उन्होंने अपने संबोधन में वॉशिंग्टन (Washington) की कार्यप्रणाली के बारे में एक अहम बात कही है. उन्होंने कहा- "राजनीति भड़कती हुई आग नहीं होनी चाहिए जो अपने मार्ग में आने वाली हर चीज को नष्ट कर दे. असहमति किसी भी तरह के युद्ध का कारण नहीं होना चाहिए." बाइडन की ये बातें राष्ट्रपति के रूप में उनकी दूरगामी सोच को दर्शाती हैं. इसके साथ ही उनकी ये बातें उनके विचारों को भी दिखाती हैं जो पहले के अमेरिकी राष्ट्रपतियों के विचारों से अलग हैं. बाइडन ने अपनी स्पीच में पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) का जिक्र नहीं किया जो अभी के राष्ट्रपति से अलग सोच रखते थे.





ट्रंप की कई बातें बेहद उग्र और असंवैधानिक होती थीं जो वो पब्लिक फोरम में भी बोलने से नहीं हिचकिचाते थे. अगस्त में पार्टी के राष्ट्रीय सम्मेलन में रिपब्लिकन नामांक को स्वीकार करने के मसले पर ट्रंप ने कहा था- "ये चुनाव ये तय करेगा कि हम अमेरिका के सपने को बचाते हैं या फिर समाजवादी एजेंडा से इस देश को खत्म होने देते हैं."
बीते 6 जनवरी को जब ट्रंप ने अपने समर्थकों को संबोधित किया तो उन्होंने उक्साते हुए कहा- "अगर हम लड़ रहे हैं तो पूरी जान लगा कर लड़ेंगे क्योंकि अगर हम जान लगा कर नहीं लडे़ तो हमारा कोई देश नहीं रह जाएगा." ट्रंप के इस उग्र संबोधन का नतीजा सब ने देखा था जब अमेरिका की संसद पर उनके समर्थकों ने हमला बोल दिया था.

बाइडन ने अपने संबोधन में कहा कि मुझे पता है कि कुछ लोगों को एकता की बात करना बेफकूफी मालूम हो सकता है. ये ऐतिहासिक समय संकट और चुनौती का है और एकता से ही हम आगे बढ़ सकते हैं. इस पल को हमें संयुक्त राज्य अमेरिका की तरह जीना होगा. बाइडन के ये बातें ट्रंप की सोच से बिल्कुल अलग हैं जिन्होंने हमेशा डेमोक्रैट्स और रिपब्लिकन्स को अलग समझा और अलगाव की ही बात की.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज