• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • उइगर महिलाओं से अमानवीय व्यवहार पर उबला अमेरिका, 11 चीनी कंपनियों पर लगाया बैन

उइगर महिलाओं से अमानवीय व्यवहार पर उबला अमेरिका, 11 चीनी कंपनियों पर लगाया बैन

चीन में उइगर मुस्लिम समुदाय के साथ अमानवीय व्यवहार हो रहा है.

चीन में उइगर मुस्लिम समुदाय के साथ अमानवीय व्यवहार हो रहा है.

अमेरिका ने चीनी कंपनियों पर यह प्रतिबंध चीन के शिनजियांग प्रांत में उइगर मुस्लिम (Uighurs Muslims) समुदायों के लोगों से अमानवीय व्यवहार के चलते लगाया है.

  • Share this:
    वाशिंगटन. अमेरिका के वाणिज्य विभाग (US Commerce Department) ने चीन के 11 कंपनियों (Ban on Elven Chinese Companies) पर व्यापारिक प्रतिबंध लगा दिए हैं. अमेरिका ने चीनी कंपनियों पर यह प्रतिबंध चीन के शिनजियांग प्रांत में उइगर मुस्लिम (Uighurs Muslims) समुदायों के लोगों से अमानवीय व्यवहार के चलते लगाया है. चीन के पश्चिम में शिनजियांग प्रांत में उइगर मुस्लिम महिलाओं की जनसंख्या पर नियंत्रण लगाने के लिए वहां की कम्युनिस्ट सरकार जबरदस्ती नसबंदी कार्यक्रम चला रही है. चीन में उइगर मुस्लिम समुदाय समेत 10 लाख लोग हिरासत में ले लिए गए हैं.

    टैक्टाइल्स और सरकारी कंपनियों पर बैन लगाया

    अमेरिका के वाणिज्य विभाग ने बताया कि चीनी कंपनियां उइगर व अन्य मुस्लिम समुदाय के लोगों से बलपूर्वक काम लेती हैं. अमेरिका द्वारा प्रतिबंध इन 11 चीनी कंपनियों में टैक्सटाइल्स कंपनियां और दो सरकारी कंपनियां भी शामिल हैं.

    अमेरिका और चीन के बीच लगातार बढ़ रही है कड़वाहट

    अमेरिका और चीन के संबंधों में कड़वाहट लगातार बढ़ती जा रही है. दोनों देशों के बीच कोरोना वायरस के संक्रमण की जानकारी चीन के छिपाने, एशिया में भारत समेत कई देशों के साथ आक्रामक रवैया अख्तियार करने और अब चीन में उइगर मुस्लिम आबादी के साथ अमानवीय व्यवहारों के संबंधों में खटास बढ़ती जा रही है. इन वजहों से ट्रंप सरकार ने चीन के चार अधिकारियों पर भी प्रतिबंध लगाए हैं. इसके जवाबी कार्रवाई में बीजिंग ने उसके मानवाधिकार रिकॉर्ड का विरोध करने वाले अमेरिका के चार सीनेटरों पर जुर्माना लगाने की घोषणा की है.

    ये भी पढ़ें: नेपाल में सत्ता का गतिरोध जारी, एनसीपी की स्थायी समिति की बैठक फिर से स्थगित

    चीन से कनाडा ने खरीदे $68 लाख के सुरक्षा उपकरण, जानें, कंपनी के मालिक हैं कौन?

    अमेरिका के वाणिज्य विभाग ने कहा कि प्रतिबंधित सूची में डाले जाने से इन 11 कंपनियों की अमेरिकी सामान और प्रौद्योगिकी तक पहुंच सीमित होगी. हालांकि, विभाग ने इस बात की जानकारी नहीं दी कि इससे किन वस्तुओं पर प्रभाव पड़ेगा. अमेरिका के वाणिज्य मंत्री विल्बर रॉस ने एक बयान में कहा कि यह प्रतिबंध सुनिश्चित करेंगे कि चीन की कम्युनिस्ट पार्टी वहां के असहाय मुस्लिम अल्पसंख्यकों के खिलाफ अमेरिकी सामान और प्रौद्योगिकी का उपयोग न कर सके.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज