लाइव टीवी

उइगर मुस्लिमों का मुद्दा गरमाया: अब अमेरिका ने चीनी अधिकारियों पर वीजा बैन लगाया

News18Hindi
Updated: October 9, 2019, 11:14 PM IST
उइगर मुस्लिमों का मुद्दा गरमाया: अब अमेरिका ने चीनी अधिकारियों पर वीजा बैन लगाया
चीन पर आरोप है कि उसने उइगर मुस्लिमों पर कई प्रतिबंध लगा रखे हैं.

अमेरिका (America) के विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ (Mike Pompeo) ने कहा, ‘देश के उइगर (Uighur Muslims) बहुल शिनजियांग क्षेत्र में चीनी सरकार ने उइगर, जातीय कज़ाकों, किर्गिज़ और मुस्लिम अल्पसंख्यकों के खिलाफ ‘दमनकारी अभियान’ चला रखा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 9, 2019, 11:14 PM IST
  • Share this:
वाशिंगटन/बीजिंग. अमेरिका (America) ने चीन के अशांत शिनजियांग क्षेत्र में उइगर मुस्लिमों (Uighur Muslims) और अन्य अल्पसंख्यकों को निशाना बनाने तथा उनके साथ दुर्व्यवहार करने के मामले में चीन सरकार तथा सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी के अधिकारियों पर वीजा प्रतिबंध लगा दिए हैं. अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने कहा, ‘देश के उइगर बहुल शिनजियांग क्षेत्र में चीनी सरकार ने उइगर, जातीय कज़ाकों, किर्गिज़ और मुस्लिम अल्पसंख्यकों के खिलाफ ‘दमनकारी अभियान’ चला रखा है.

उन्होंने कहा, ‘दमनकारी अभियानों में शिविरों में बड़े पैमाने पर लोगों को बंदी बनाना, कठोर निगरानी रखना, सांस्कृतिक और धार्मिक स्वतंत्रता पर नियंत्रण शामिल है.’ पोम्पिओ ने कहा कि ये वीजा प्रतिबंध चीन सरकार और वहां की सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी के उन अधिकारियों पर होंगे जो दमनकारी अभियानों के लिए जिम्मेदार हैं.

अमेरिका के वाणिज्य मंत्रालय ने भी उइगर मुसलमानों और अन्य अल्पसंख्यकों को निशाना बनाने तथा उनके साथ दुर्व्यवहार करने के मामले में चीन की 28 संस्थाओं को सोमवार को काली सूची में डाल दिया था. अमेरिका के वाणिज्य मंत्री विल्बर रोस ने कहा था कि अमेरिका ‘चीन के भीतर जातीय अल्पसंख्यकों के क्रूर दमन को न तो बर्दाश्त करता है और न ही करेगा.’

उधर, बीजिंग में चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता जेंग शुआंग ने वाशिंगटन से चीनी अधिकारियों पर लगाए गए वीजा प्रतिबंधों को वापस लेने की मांग की. उन्होंने कहा, ‘अमेरिका तथ्यों की अनदेखी कर रहा है और शिनजियांग मुद्दे पर चीन पर दोषारोपण कर रहा है.’प्रवक्ता ने कहा कि अमेरिका का कदम ‘गलत इरादों’ पर केंद्रित है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अमेरिका से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 9, 2019, 11:14 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...