होम /न्यूज /दुनिया /बाइडन की सिक्रेट सर्विस में घुसपैठ की कोशिश कर रहे थे 2 ISI जासूस, पकड़े गए

बाइडन की सिक्रेट सर्विस में घुसपैठ की कोशिश कर रहे थे 2 ISI जासूस, पकड़े गए

कोर्ट ने फिलहाल दोनों को शुक्रवार अगली सुनवाई तक हिरासत में रखने का आदेश दिया गया है.

कोर्ट ने फिलहाल दोनों को शुक्रवार अगली सुनवाई तक हिरासत में रखने का आदेश दिया गया है.

न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक, अमेरिका के एक अधिकारी ने बताया कि गुरुवार को दक्षिण पूर्व एफबीआई ने वॉशिंगटन से एरियन ...अधिक पढ़ें

    वॉशिंगटन/इस्लामाबाद. पाकिस्तान में मचे सियासी घमासान (Pakistan Political Crisis) के बीच संयुक्त राज्य अमेरिका ने एक और बड़ा आरोप लगाया है. अमेरिका ने गुरुवार को पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई (ISI) के एक कथित सेल का भंडाफोड़ किया, जो अमेरिकी खुफिया और सुरक्षा तंत्र में घुसपैठ करने की कोशिश कर रहा है. इसमें राष्ट्रपति जो बाइडन (Joe Biden) समेत कई हाई प्रोफाइल सीक्रेट सर्विस भी शामिल है.

    न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक, अमेरिका के एक अधिकारी ने बताया कि गुरुवार को दक्षिण पूर्व एफबीआई ने वॉशिंगटन से एरियन तहेरज़ादेह (40) और हैदर अली (35) को गिरफ्तार किया है. गुरुवार को इन्हें कोलंबिया के डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में पेश किया गया. इस दौरान एडिशनल अटॉर्नी जोशुआ रोथस्टीन ने मजिस्ट्रेट जी. माइकल हार्वे को बताया कि हैदर अली ने गवाहों को बताया था कि वह पाकिस्तान में इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस एजेंसी से जुड़ा है. संघीय कानून प्रवर्तन अधिकारियों ने कहा कि अली के पास पाकिस्तान और ईरान से भी कई वीजा मिले थे.

    आखिर अमेरिका व्लादिमीर पुतिन की बेटियों को क्यों बना रहा निशाना?

    रोथस्टीन ने मजिस्ट्रेट से कहा, “हमने उसके दावों की सटीकता की पुष्टि नहीं की है, लेकिन अली ने गवाहों से दावा किया है कि उसका आईएसआई से संबंध था, जो कि पाकिस्तानी खुफिया सेवा है.”

    तहरज़ादेह और अली ने संघीय कानून प्रवर्तन और रक्षा समुदाय के सदस्यों के साथ संपर्क बनाने के लिए होमलैंड सुरक्षा विभाग के साथ झूठे और कपटपूर्ण संबद्धता का इस्तेमाल करने की कोशिश की.

    इसके लिए तहरज़ादेह ने यूनाइटेड स्टेट्स सीक्रेट सर्विस (USSS) के सदस्यों और DHS के एक कर्मचारी को किराया-मुक्त अपार्टमेंट (प्रति अपार्टमेंट USD40,000 से अधिक के कुल वार्षिक किराए के साथ), iPhones, निगरानी प्रणाली तक मुहैया कराए. इसके अलावा उसने उसे एक ड्रोन, एक फ्लैट स्क्रीन टेलीविजन, एक असॉल्ट राइफल, एक जनरेटर दिए. साथ ही कानून प्रवर्तन सामग्री के स्टोरेज की व्यवस्था भी कर दी.

    US ने भारत को चेताया-रूस के साथ बढ़ाई दोस्ती तो भुगतना होगा अंजाम

    अदालती दस्तावेजों के मुताबिक, तहरजादेह और अली ने अपार्टमेंट कैंपस के विभिन्न हिस्सों में वीडियो निगरानी स्थापित की थी. वे किसी भी समय, अपार्टमेंट परिसर के निवासियों के सेलुलर टेलीफोन तक पहुंच सकते थे.

    कोर्ट ने फिलहाल दोनों को शुक्रवार अगली सुनवाई तक हिरासत में रखने का आदेश दिया गया है.

    Tags: Imran khan, Isi, Pakistan army

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें