ईरान पर कभी भी हमला कर सकता है अमेरिका, ट्रंप कर रहे सैन्य कार्रवाई पर अब भी विचार

अमेरिका और ईरान के बीच गतिरोध बढ़ता ही जा रहा है. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शनिवार को ट्वीट किया कि हम ईरान के ऊपर सोमवार से नए बड़े प्रतिबंध लगाने जा रहे हैं.


Updated: June 23, 2019, 6:32 AM IST
ईरान पर कभी भी हमला कर सकता है अमेरिका, ट्रंप कर रहे सैन्य कार्रवाई पर अब भी विचार
ट्रंप ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने जारी तनाव के बीच कहा, सोमवार से ईरान पर नए और बड़े प्रतिबंध लगाए जाएंगे.

Updated: June 23, 2019, 6:32 AM IST
अमेरिका और ईरान के बीच गतिरोध बढ़ता ही जा रहा है. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शनिवार को कहा कि वह ईरान के खिलाफ सैन्य कार्रवाई पर अब भी विचार कर रहे हैं. बताते चलें कि दो दिन पहले ईरान ने एक अमेरिकी ड्रोन को मार गिराया था. ड्रोन को गिराए जाने से भड़के अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान पर हमले का आदेश दे दिया था, लेकिन देर रात तक उन्होंने आदेश वापस भी ले लिया था.

ट्रंप ने कैंप डेविड में वीकेंड के लिए रवाना होने से पहले कहा, 'मैं 150 ईरानियों को नहीं मारना चाहता. मैं तब तक 150 लोगों या किसी को भी नहीं मारना चाहता, जब तक ऐसा बहुत जरूरी न हो.' ट्रंप ने शनिवार को कहा कि ईरान के खिलाफ सोमवार से बड़े प्रतिबंध लगाए जाएंगे. उन्होंने इसके कुछ ही घंटे पहले कहा था किअगर ईरान परमाणु हथियार बनाने पर काम करना बंद कर दे तो वह उसके सबसे अच्छे दोस्त बन सकते हैं.

ट्रंप ने ट्वीट किया कि हम ईरान के ऊपर सोमवार से नए बड़े प्रतिबंध लगाने जा रहे हैं. हालांकि, उन्होंने यह भी कहा, 'मैं उस दिन का इंतजार कर रहा हूं जब ईरान के ऊपर से प्रतिबंध हटा लिए जाएंगे और वह फिर से उत्पादक व समृद्ध देश बन जाएगा. यह जितनी जल्दी हो, उतना बेहतर है.'

अमेरिका ने UNSC की बैठक बुलाने का किया आग्रह

अमेरिका ने ईरान और खाड़ी में हालिया घटनाक्रम पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) की बैठक बुलाने का आग्रह किया है. एक राजनयिक ने बताया कि बैठक में खाड़ी में तेल टैंकरों पर हमले और एक अमेरिकी सर्विलांस ड्रोन को ईरान द्वारा मार गिराए जाने पर चर्चा होगी. वहीं, एक दूसरे राजनयिक ने कहा कि यह बैठक सोमवार को होगी.

कैसे शुरू हुआ विवाद?
13 जून को अमेरिका के दो तेल टैंकरों में आग लगने के बाद दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया था. अमेरिका ने ओमान की खाड़ी में तेल टैंकरों पर हुए हमले के लिए ईरान को दोषी ठहराया था. इससे पहले भी अमेरिका ने पिछले महीने इस रणनीतिक समुद्री इलाके में ऐसे ही हमलों को लेकर इस्लामिक गणराज्य की तरफ उंगली उठाई थी. अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ के हवाले से विदेश मंत्रालय ने कहा था कि अमेरिकी सरकार का मानना है कि खाड़ी में हुए हमलों के लिए ईरान जिम्मेदार है. खुफिया जानकारी के मुताबिक, हमले में इस्तेमाल हथियारों को देखकर पता चलता है कि हमला ईरान से ही किया गया है.
Loading...

परमाणु समझौते को लेकर तनाव
हाल के दिनों में ईरान और अमेरिका के बीच परमाणु समझौते को लेकर तनाव बढ़ा है. पिछले साल अमेरिका ने ईरान परमाणु समझौते से खुद को अलग कर लिया था. अमेरिका ईरान पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव का उल्लंघन करने का आरोप लगाता रहा है.

ये भी पढ़ें-

अमेरिका ने माना, ईरान ने मार गिराया उसका जासूसी ड्रोन, दोनों देशों के बीच बढ़ा तनाव

ट्रंप ने ईरान पर हमले की इजाजत, फिर पलट दिया फैसला
First published: June 23, 2019, 5:47 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...