Home /News /world /

ट्रंप ने 200 बिलियन डॉलर मूल्य के चीनी उत्पादों पर 10% टैक्स थोपा

ट्रंप ने 200 बिलियन डॉलर मूल्य के चीनी उत्पादों पर 10% टैक्स थोपा

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड (ट्रंप फाइल फोटो)

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड (ट्रंप फाइल फोटो)

सोमवार को वाइट हाउस की तरफ से एक सख्त बयान जारी कर कहा गया कि अगर चीन ने इस टैरिफ की प्रतिक्रिया में अमेरिकी उत्पादों पर जवाबी कार्रवाई की तो अमेरिका जवाब में 267 बिलियन अमेरिकी डॉलर के चीनी उत्पादों पर और टैरिफ की घोषणा कर देगा.

    अमेरिका और चीन में 'साइलेंट ट्रेड वॉर' जारी है. दोनों देशों के संबंध पिछले एक साल से ज्यादा वक्त से धीरे-धीरे बिगड़ते जा रहे हैं. पिछले कुछ महीनों में दोनों देशों ने अपने व्यापारिक संबंधों में एक दूसरे पर अलग-अलग आरोप लगाए हैं और उत्पादों के आयात-निर्यात पर दोनों तरफ से टैक्स बढ़ाया गया है.

    अब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ऐसा फैसला लिया है, जिसके बाद विश्व की दो सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं को बीच स्थिति और बिगड़ सकती है. द गार्डियन की खबर के मुताबिक, ट्रंप ने सोमवार को 200 बिलियन डॉलर की मूल्य के चीनी उत्पादों पर 10 प्रतिशत टैरिफ थोप दिया है. ये टैरिफ 24 सितंबर से लागू हो जाएगा और अगले साल से 25 प्रतिशत की दर से बढ़ जाएगा.

    सोमवार को वाइट हाउस की तरफ से एक सख्त बयान जारी कर कहा गया कि अगर चीन ने इस टैरिफ की प्रतिक्रिया में अमेरिकी उत्पादों पर जवाबी कार्रवाई की तो अमेरिका जवाब में 267 बिलियन अमेरिकी डॉलर के चीनी उत्पादों पर और टैरिफ की घोषणा कर देगा.

    इस बयान में कहा गया कि 'हम ये फैसला तब ले रहे हैं जब हमें यूनाइटेड स्टेट्स ट्रेड रिप्रेजेंटेटिव की रिपोर्ट से पता चला है कि चीन कई अनुचित नीतियों में लिप्त है और अमेरिका की टेक्नोलॉजी और इंटेलैक्चुअल प्रॉपर्टी को नुकसान पहुंचाने की कोशिश कर रहा है. चीन अमेरिकी कंपनियों को अपनी टेक्नोलॉजी चीनी कंपनियों को बेचने पर मजबूर कर रहा है. चीन की इस हरकतों से अमेरिकी अर्थव्यवस्था की सेहत को लंबे टर्म में नुकसान पहुंच सकता है.'

    ट्रंप ने कहा कि उनके प्रशासन ने चीन से अपनी अनुचित नीतियों को बदलने और अमेरिकी कंपनियों के साथ न्यायपूर्ण और पारस्परिक संबंधों पर जोर दे रहा है. ट्रंप ने उम्मीद जताई कि चीन अमेरिका के इस कदम को अहमियत देगा ताकि दोनों देशों के संबंधों को सुधारा जा सके.

    ट्रंप ने ट्वीट कर कहा, 'टैरिफ लगाने से मोल-भाव करने के लिए अमेरिका की स्थिति काफी मजबूत हुई है. इससे बिलियन डॉलर्स और नौकरियां देश में आ रही हैं. लेकिन फिर कॉस्ट इन्क्रीज पर अभी तक ध्यान नहीं गया है. अगर दूसरे देश हमारे साथ उचित डील नहीं करेंगे, तो हम उनपर टैरिफ लगाएंगे.'

    अमेरिका-चीन के व्यापारिक संबंध पिछले कुछ महीनों से काफी तनावपूर्ण चल रहे हैं. दोनों देशों ने एक-दूसरे के 50 बिलियन अमेरिकी डॉलर की कीमत के वस्तुओं पर 25 प्रतिशत का टैरिफ लगाया है. अमेरिका ने चीन पर गलत व्यापारिक नीतियों का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया है. उधर चीन का कहना है कि अमेरिका उसे ट्रेड में 'बुली' करने की कोशिश कर रहा है. दोनों देशों के अधिकारी बातचीत से इन संबंधों में सुधार लाने की कोशिश कर रहे हैं.

    Tags: America, Business, China, China and america

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर