Home /News /world /

तालिबान ने कहा- US सैनिकों की वापसी दुश्मनों के लिए सबक, ब्लिंकन ने बताया नया प्लान

तालिबान ने कहा- US सैनिकों की वापसी दुश्मनों के लिए सबक, ब्लिंकन ने बताया नया प्लान

अमेरिकी सैनिकों की वापसी के बाद ही तालिबान के लड़ाकों ने काबुल एयरपोर्ट पर कब्जा कर लिया है (AP)

अमेरिकी सैनिकों की वापसी के बाद ही तालिबान के लड़ाकों ने काबुल एयरपोर्ट पर कब्जा कर लिया है (AP)

अमेरिकी विदेश मंत्री ब्लिंकन ने तालिबान से कहा कि अगर आप अफगानिस्तान में शासन करना चाहते हैं, तो आपको नागरिकों की स्वतंत्रता को लेकर प्रतिबद्धताओं और अपने आधारभूत दायित्वों को पूरा करना होगा. ब्लिंकन ने कहा कि फिलहाल हम दोहा में दूतावास का उपयोग अफगानिस्तान के साथ अपनी कूटनीति का प्रबंधन करने के लिए करेंगे.

अधिक पढ़ें ...

    वॉशिंगटन/काबुल. अफगानिस्तान (Afghanistan) से अमेरिकी सेना (US Troops) की वापसी हो गई है. पिछली रात को 12 बजने से पहले ही काबुल एयरपोर्ट से आखिरी अमेरिकी विमानों ने उड़ान भर ली. इसी के साथ अफगानिस्तान में 20 साल पहले शुरू हुआ अमेरिका का युद्ध भी समाप्त हो गया. तालिबान (Taliban) ने मंगलवार को कहा है कि अफगानिस्तान में अमेरिका की शिकस्त दूसरे हमलावरों और हमारी आने वाली नस्लों के लिए एक सबक है. वहीं, अमेरिका के विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने अफगानिस्तान को लेकर अगले प्लान के बारे में बताया है. इसके साथ ही ब्लिंकन ने तालिबान को शासन करने के लिए नया फॉर्मूला भी दिया.

    अमेरिकी विदेश मंत्री ब्लिंकन ने तालिबान से कहा कि अगर आप अफगानिस्तान में शासन करना चाहते हैं, तो आपको नागरिकों की स्वतंत्रता को लेकर प्रतिबद्धताओं और अपने आधारभूत दायित्वों को पूरा करना होगा. ब्लिंकन ने बताया कि फिलहाल हम दोहा में दूतावास का उपयोग अफगानिस्तान के साथ अपनी कूटनीति का प्रबंधन करने के लिए करेंगे. जिसमें कांसुलर मामलों, मानवीय सहायता का प्रबंधन और तालिबान को संदेश भेजने के लिए सहयोगियों, भागीदारों और अंतरराष्ट्रीय हितधारकों के साथ काम करना शामिल है. वहां हमारी टीम का नेतृत्व इयान मैककरी करेंगे, जिन्होंने पिछले एक साल से अफगानिस्तान में हमारे डिप्टी चीफ ऑफ मिशन के रूप में काम किया है. उन्होंने कहा कि यहां काम करने के लिए कोई भी इनसे बेहतर नहीं हो सकता.

    अमेरिकी सेना ने 31 अगस्त से पहले ही क्यों छोड़ा अफगानिस्तान? आज बताएंगे जो बाइडन

    अमेरिका का जाना दुनिया के लिए सबक-तालिबान
    सोमवार की रात 6 हज़ार अमेरिकी सैनिकों ने आनन-फानन में काबुल एयरपोर्ट को छोड़ा है. तालिबान के प्रवक्ता ज़बीहुल्लाह मुजाहिद ने काबुल से आख़िरी अमेरिकी विमान के रवाना होने के कुछ ही देर बाद हामिद करज़ई इंटरनेशनल एयरपोर्ट के रनवे पर से कहा, ‘ये दुनिया के लिए भी एक सबक है. लेकिन हम अमेरिका और बाकी दुनिया के साथ अच्छे राजनयिक रिश्ते चाहते हैं.’ इस मौके पर जश्न मनाते हुए तालिबान लड़ाकों ने हवाई फायरिंग की और सुलह के संकेत दिए.

    मुजाहिद ने कहा, ‘अफगानिस्तान को ये आजादी मुबारक हो…. ये फतह हम सब की है.’ तालिबान लड़ाकों ने काबुल एयरपोर्ट को अपने नियंत्रण में लेने में देर नहीं की. इसके साथ ही अमेरिका की महाशक्ति वाली छवि अब पहले जैसी नहीं रह जाएगी.

    अफगानियों की करेंगे मदद
    ब्लिंकन ने कहा- ‘बेशक अमेरिकी सैनिकों की वापसी हो चुकी है. मगर जो-जो लोग अभी भी अफगानिस्तान छोड़ना चाहते हैं, हम उनकी पूरी मदद करेंगे. इसके लिए कोई डेडलाइन नहीं रखी गई है.’

    अब कतर में होगी नए राजनयिक मिशन की शुरुआत
    अमेरिका के विदेश मंत्री ने मंगलवार को बड़ी घोषणा करते हुए कहा कि अमेरिका ने काबुल में राजनयिक उपस्थिति को खत्म कर दिया है और अपने दूतावास को काबुल से कतर शिफ्ट कर दिया है. ब्लिंकन ने कहा कि अमेरिका अब कतर से ही अफगानिस्तान में नए राजनयिक मिशन की शुरुआत करेगा.

    US सैनिकों की वापसी अफगानिस्तान की जीत, अमेरिका और दुनिया के साथ चाहते हैं अच्छे रिश्ते- तालिबान

    एक नया अध्याय शुरू
    ब्लिंकन ने कहा कि अफगानिस्तान के साथ अमेरिका के जुड़ाव का एक नया अध्याय शुरू हो गया है. यहां अब हम अपनी कूटनीति के साथ आगे बढ़ेंगे. उन्होंने कहा कि करीब 6,000 अमेरिकी नागरिकों सहित 1,23,000 से अधिक लोगों को अफगानिस्तान से सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है.

    बचाव अभियान काफी चुनौतीपूर्ण रहा
    ब्लिंकन ने कहा अफगानिस्तान में बचाव अभियान काफी चुनौतीपूर्ण रहा. उन्होंने कहा कि हमने  काबुल में सैन्य अभियान के दौरान कई कठिन परिस्थितियों का सामना किया. इस दौरान दूतावास और संकट में फंसे लोगों से समन्वय बनाना बेहद मुश्किल हो रहा था.

    Tags: Afghanistan, Taliban

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर