Home /News /world /

काबुल में हमने सब गड़बड़ कर दिया- अपनी सेना पर सवाल उठाने वाला अमेरिकी सैनिक बर्खास्त

काबुल में हमने सब गड़बड़ कर दिया- अपनी सेना पर सवाल उठाने वाला अमेरिकी सैनिक बर्खास्त

लेफ्टिनेंट कर्नल स्टुअर्ट शेलर ने काबुल में हुए विस्फोट के कुछ घंटे बाद सोशल मीडिया पर वीडियो पोस्ट किया. (फोटो- फेसबुक)

लेफ्टिनेंट कर्नल स्टुअर्ट शेलर ने काबुल में हुए विस्फोट के कुछ घंटे बाद सोशल मीडिया पर वीडियो पोस्ट किया. (फोटो- फेसबुक)

Kabul Blast: लेफ्टिनेंट कर्नल स्टुअर्ट शेलर ने काबुल में हुए विस्फोट के कुछ घंटे बाद सोशल मीडिया पर वीडियो पोस्ट किया. इस विडियो में उन्होंने कहा, 'लोग परेशान हैं क्योंकि उनके वरिष्ठ लीडर ने उन्हें निराश किया है. और उनमें से कोई भी जवाबदेही स्वीकार नहीं कर रहा है.'

अधिक पढ़ें ...

    वॉशिंगटन. काबुल में आत्मघाती विस्फोट (Kabul Blast) के बाद अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन चौतरफा घिरे हैं. इस हमले में अमेरिका के 13 सैनिकों की मौत हो गई. इसके अलावा 170 से ज्यादा अफगानी नागरिक मारे गए. आरोप लग रहे हैं इस हमले के बारे में पहले से जानकारी होने के बावजूद अमेरिका लोगों की जान नहीं बचा सका. इस अफरातफरी के लिए लोग अमेरिकी सेना को भी ज़िम्मेदार ठहरा रहे हैं. इस बीच यूएस मरीन के अधिकारी को सस्पेंड कर दिया गया है. दरअसल इस अधिकारी ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो पोस्ट कर सेना पर सवाल उठा दिए थे. उन्होंने सेना के अधिकारियों को जिम्मेदारी लेने के लिए सामने आने को कहा. उन्होंने कहा- काबुल में हमने सब गड़बड़ कर दिया.

    लेफ्टिनेंट कर्नल स्टुअर्ट शेलर ने काबुल में हुए विस्फोट के कुछ घंटे बाद सोशल मीडिया पर वीडियो पोस्ट किया. वो वर्दी में दिखाई दे रहे हैं. पांच मिनट लंबे इस विडियो में उन्होंने कहा, ‘इस समय सोशल मीडिया पर लोग बेहद नाराज़ हैं. युद्ध के मैदान पर मरीन ने किसी को निराश नहीं किया है. लोग परेशान हैं क्योंकि उनके वरिष्ठ लीडर ने उन्हें निराश किया है. और उनमें से कोई भी हाथ नहीं उठा रहा है और जवाबदेही स्वीकार नहीं कर रहा है. काबुल में हमने सब गड़बड़ कर दिया.’

    शेलर का कहना है कि वो विस्फोट में मारे गए लोगों में से एक को जानता है, लेकिन जब तक परिवार को सूचित नहीं किया जाता तब तक वह उस व्यक्ति का नाम नहीं लेंगे. बता दें कि कई लोग अफगनिस्तान में आए मौजूदा संकट के लिए अमेरिका को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं. आरोप लग रहे हैं कि अफगान सकार को कमजोर किया गया. साथ ही तालिबान के साथ समझौता कर उन्हें कब्जा करना का मौका दिया गया.

    बता दें कि गुरुवार को काबुल एयरपोर्ट पर हुए आत्मघाती धमाकों में 13 अमेरिकी सैनिकों सहित करीब 200 लोगों की मौत हो गई थी. इन बम धमाकों की जिम्मेदारी खुद को इस्लामिक स्टेट कहने वाले आतंकी संगठन के खुरासान मॉड्यूल (ISIS-K) ने ली थी. इस हमले के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने जवाबी कार्रवाई करने का वादा किया था. अमेरिकी सेना इन धमाकों के 48 घंटों के भीतर नांगरहार स्थित आईएसआईएस के ठिकानों पर ड्रोन से हमला किया. अमेरिका ने इस ड्रोन अटैक में बम धमाकों के साजिशकर्ता के मारे जाने का दावा किया था.

    Tags: Afghanistan Taliban conflict, Kabul Blast

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर