इंटरनेट सर्च में डोनाल्ड ट्रंप ने जो बाइडन को पछाड़ा, राष्ट्रपति चुनाव के लिए अमेरिका में वोटिंग

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में जीत के लिए 270 का आंकड़ा हासिल करना होगा.
अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में जीत के लिए 270 का आंकड़ा हासिल करना होगा.

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में वोटिंग से ठीक एक दिन पहले दोनों उम्मीदवारों (डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) और जो बाइडन (Joe Biden)) के बीच का अंतर तेजी से बढ़ा है. इंटरनेट पर जो बाइडन (Joe Biden) को सर्च करने वालों की संख्या तेजी से घटी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 3, 2020, 8:09 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव (US Presidential Election 2020) का फैसला आने में अभी थोड़ा वक्त है. वोटिंग जारी है और अप्रूवल रेटिंग में जो बाइडन (Joe Biden) अपने प्रतिद्वंद्वी डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) से आगे हैं, लेकिन इंटरनेट सर्च में डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) डेमोक्रेटिक उम्मीदवार पर स्पष्ट तौर पर बढ़त बनाए हैं.

अमेरिका की कई प्रतिष्ठित सर्वे एजेंसियों के अनुमानों में डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) के मुकाबले जो बाइडन (Joe Biden) के पास आठ अंकों की बढ़त देखने को मिली है. हालांकि गूगल सर्च डाटा के विश्लेषण से पता चलता है कि डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) के प्रति लोगों में दिलचस्पी बढ़ी है.

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में वोटिंग से ठीक एक दिन पहले दोनों उम्मीदवारों (डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) और जो बाइडन (Joe Biden)) के बीच का अंतर तेजी से बढ़ा है. इंटरनेट पर जो बाइडन  (Joe Biden) को सर्च करने वालों की संख्या तेजी से घटी है. औसत रूप से 45 फीसदी इंटरनेट यूजर्स ने ट्रंप को सर्च किया, जबकि बाइडन को सर्च करने वालों की संख्या 23 फीसदी रही.



नेब्रास्का, वेरमोंट, एरिजोना, वॉशिंगटन और ओरेगांव में गूगल पर ट्रंप को सबसे ज्यादा सर्च किया गया. हालांकि इनमें से कुछ राज्य डेमोक्रेट्स समर्थक माने जाते हैं. वहीं, डेलावर, टेक्सास, कोलंबिया, ओहायो और अरकंसास में भी ट्रंप को बाइडन के ऊपर बढ़त है.
इंटरनेट सर्च में ट्रंप के प्रति दिलचस्पी पैदा होने के अहम कारणों में रिपब्लिकन उम्मीदवार की लिल वेन और अन्य दूसरे रैपर्स से मुलाकात को माना जा रहा है. साथ ही हाल के नस्लीय हमलों के चलते भी लोग इंटरनेट पर ट्रंप को सर्च कर रहे हैं. अमेरिकी चुनाव में नस्लीय भेदभाव एक बड़ा मुद्दा है और अमेरिकी राष्ट्रपति को सपोर्ट कर रहे रैपर्स ने लोगों में नई दिलचस्पी पैदा की है.

पेंसिलवेनिया और बटलर में हुई डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) की रैलियों में बड़ी संख्या में लोगों की मौजूदगी देखने को मिली है. खबरों में दावा किया जा रहा है कि 60 हजार से ज्यादा लोग इन रैलियों में पहुंचे हैं. इन मामलों में दिलचस्पी की वजह ये है कि अमेरिका में कोरोना वायरस संक्रमण एक बार फिर तेजी से फैला है और अधिकारियों ने चेताया कि ट्रंप की रैलियों के चलते संक्रमण और तेजी से फैल सकता है. दुनिया भर के देशों में अमेरिका कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों में से एक है और कई राज्यों में कोरोना संक्रमितों की संख्या में उछाल देखने को मिला है.

दूसरी ओर ट्रंप समर्थकों द्वारा जो बाइडन (Joe Biden) की कैंपेन बस पर कथित तौर पर हमला किए जाने के चलते डेमोक्रेटिक उम्मीदवार के प्रति लोगों में दिलचस्पी है. पिछले हफ्ते टेक्सास में हुई इस घटना की जांच के लिए एफबीआई ने मामला दर्ज किया है. भले ही इंटरनेट सर्च अमेरिकी चुनाव के बारे में दिलचस्प तथ्यों से रूबरू कराते हों, लेकिन ये अमेरिकी लोगों की वास्तविक भावनाओं को नहीं प्रदर्शित करते.

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में मंगलवार को वोटिंग शुरू हुई और इसके साथ ही एक कड़वाहट भरे चुनाव प्रचार अभियान की समाप्ति हुई. बता दें कि डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) बतौर उम्मीदवार दूसरी बार चुनावी मैदान में हैं, जबकि जो बाइडन (Joe Biden), बराक ओबामा (Barack Obama) के समय उपराष्ट्रपति का पद संभाल चुके हैं.

जो बाइडन (Joe Biden) ने अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव को डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) के कोरोना वायरस संक्रमण से निपटने की कोशिशों पर जनमत संग्रह करार दिया है. साथ ही संक्रमण से निपटने के लिए नए प्रयासों का वादा भी किया है. अर्थव्यवस्था में नई जान फूंकने के साथ ही डेमोक्रेटिक उम्मीदवार ने अमेरिकी जनता के मन में पैदा हुए राजनीतिक मनभेद को भरने का भी वादा किया है.

हालांकि ट्रंप को हरा पाना जो बाइडन (Joe Biden) के लिए आसान नहीं है और रिपब्लिकन उम्मीदवार अपने प्रतिद्वंद्वी को कड़ी टक्कर दे रहे हैं. ट्रंप को दोबारा राष्ट्रपति की कुर्सी पाने के लिए 270 वोटों की जरूरत है. 2016 के राष्ट्रपति चुनाव में ट्रंप ने डेमोक्रेटिक उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन (Hillary Clinton) को मात दी थी बावजूद इसके कि नेशनल पॉपुलर वोट में ट्रंप को तीन मिलियन बैलट से हार मिली थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज