अमेरिका ने माना, ईरान ने मार गिराया उसका जासूसी ड्रोन, दोनों देशों के बीच बढ़ा तनाव

अमेरिका ने भी इस बात को कबूल किया है कि उसके 18 करोड़ डॉलर के जासूसी ड्रोन को ईरान ने मार गिराया है

News18Hindi
Updated: June 20, 2019, 7:06 PM IST
अमेरिका ने माना, ईरान ने मार गिराया उसका जासूसी ड्रोन, दोनों देशों के बीच बढ़ा तनाव
यूएस ड्रोन MQ-4C (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: June 20, 2019, 7:06 PM IST
अमेरिका और ईरान के बीच सशस्त्र टकराव की आशंका गहराती जा रही है. तेहरान ने अमेरिका के एक जासूसी ड्रोन को मार गिराया है. ईरान के मुताबिक US का जासूसी ड्रोन दक्षिणी प्रांत होर्मोजगन के ऊपर से उड़ रहा था, जिसे निशाना बनाया गया है.

अमेरिका ने भी इस बात को कबूल किया है कि उसके 18 करोड़ डॉलर के जासूसी ड्रोन को ईरान ने मार गिराया है. इसके बाद ईरान ने ऐलान किया है कि वह जंग के लिए तैयार है, वह किसी से नहीं डरने डरता. ईरान के कमांडर हुसैन सलामी ने कहा कि अमेरिकी ड्रोन हमारी सीमाएं हमारी रेड लाइन था.

US ने ईरान के दावे को किया खारिज

वहीं, अमेरिका ने ईरान की सेना के उस दावे को खारिज किया है कि यह ड्रोन उनके हवाई क्षेत्र में था. अमेरिकी अधिकारी ने कहा कि यह नेवी का MQ-4C ट्राइटन था, जो अंतरराष्ट्रीय हवाई क्षेत्र में मौजूद था. दोनों पक्षों के दावे लगभग समान हैं और ट्राइटन ड्रोन ग्लोबल हॉक का ही एक प्रकार है.

परमाणु समझौता टूटने पर बढ़ा तनाव

बता दें कि अमेरिका और ईरान के बीच परमाणु समझौता टूटने के बाद तनाव बना हुआ है. इस करार के खत्म होने के बाद अमेरिका ने दोबारा ईरान पर प्रतिबंध लगा दिए थे. पिछले हफ्ते ओमान की खाड़ी में तेल टैंकरों पर हुए हमलों के बाद से क्षेत्र में सैन्य टकराव का खतरा और बढ़ गया है. ये हमले होर्मुज जलडमरूमध्य (स्ट्रेट) के पास हुए थे, जो अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पेट्रोलियम की आवाजाही का अहम रास्ता है. ईरान ने इन हमलों में अमेरिका का हाथ बताया है.

ये भी पढ़ें-
Loading...

इमरान की चिट्ठी पर पीएम मोदी का जवाब, आतंक का रास्‍ता छोड़ो, तभी होगी बातचीत

क क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsAppअपडेट्स
First published: June 20, 2019, 7:02 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...