लाइव टीवी

कोरोना वायरस फैलने से रोकने के लिए अमेरिका का बड़ा फैसला, पासपोर्ट बनाने पर लगी रोक

News18Hindi
Updated: April 3, 2020, 7:29 PM IST
कोरोना वायरस फैलने से रोकने के लिए अमेरिका का बड़ा फैसला, पासपोर्ट बनाने पर लगी रोक
अमेरिका में लगातार बढ़ रहे हैं संक्रमण के मामले (AP Photo)

अमेरिका (America) ने लॉकडाउन (Lockdown) का ऐलान नहीं किया है लेकिन अपनी जनता को दूसरे देशों की यात्रा करने से रोकने को कोशिश जरूर कर रहा है ताकि कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण को रोका जा सके

  • Share this:
कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण को रोकने के लिए अमेरिका (America) ने भले ही लॉकडाउन (Lockdown) नहीं किया लेकिन अपने नागरिकों को विदेश यात्रा न करने की सलाह जरूर दे रहा है. अमेरिका ने कोरोना वायरस की वजह से पासपोर्ट (Passport) बनाने पर रोक लगा दी है. केवल उन्हीं लोगों को अब पासपोर्ट जारी हुआ करेंगे जिनके सामने ज़िंदगी और मौत जैसे इमरजेंसी हालात हों.

इतिहास के सबसे चुनौतीपूर्ण  और मुश्किल दौर से गुज़रते अमेरिका के सामने कोरोना वायरस के कहर का फिलहाल कोई जवाब नहीं है. इसके बावजूद अमेरिका ने लॉकडाउन का ऐलान नहीं किया है. ऐसे में अमेरिका अपनी जनता को दूसरे देशों की यात्रा करने से रोकने को कोशिश कर रहा है ताकि कोरोना के संक्रमण को रोका जा सके. वो केवल उन्हीं यात्रियों को पासपोर्ट जारी करेगा जिनके सामने आपात और न टालने वाली स्थिति होगी. अमेरिकी प्रशासन ने तय किया है कि अब केवल उन्हीं की पासपोर्ट की प्रक्रिया पूरी की जाएगी जिनका आवेदन 19 मार्च तक या उससे पहले किया गया हो.

जा चुकी हैं 6 हज़ार से ज्यादा जानें
दुनिया में कोरोना वायरस के कहर से अमेरिका सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ है. जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के मुताबिक अमेरिका में अब तक ढाई लाख के लगभग लोग संक्रमित हो चुके हैं जबकि 6 हज़ार से ज्यादा जानें जा चुकी हैं. जबकि दुनिया भर में 10 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं और 53 हज़ार से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं. हालात ये है कि न्यूयॉर्क जैसे शहर के मुर्दाघरों में शव रखने की जगह नहीं बची है.



अमेरिका के अस्पतालों में जहां संक्रमित मरीज़ों की बढ़ती तादाद की वजह से हाहाकार मचा हुआ है तो वहीं जरूरी मेडिकल संसाधनों की कमी ने अमेरिका की कमर तोड़ दी है. सुपरपावर देश कोरोना वायरस से निपटने में मास्क और वेंटिलेटर्स की कमी से जूझ रहा है जिसकी वजह से हज़ारों लोग रोज़ संक्रमित हो रहे हैं तो सैकड़ों लोग रोज़ जान गंवा रहे हैं.



निपटने में नाकाम रहा अमेरिका
कोरोना से निपटने में नाकामी की दो बड़ी वजहे हैं. पहली वजह ये है कि अमेरिका में संक्रमण का पहला मामला सामने आने के बाद लोगों की स्क्रीनिंग सही तरीके से तकनीकी खामियों की वजह से नहीं हो सकी जिसकी वजह से कोरोना वायरस को अमेरिका में फैलने का मौका मिला.

दूसरी वजह ये है कि लोगों में सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर चेतना नहीं फैलाई गई. अमेरिकी प्रशासन ने लोगों से घर में रहने औऱ सार्वजनिक इलाकों में न घूमने की अपील नहीं की. इन दो गलतियों की वजह से अब अमेरिका बड़ी कीमत चुका रहा है. खुद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ये आशंका जताई है कि आने वाले समय में दो लाख अमेरिकी कोरोना वायरस की वजह से जान गंवा सकते हैं.

घर के भीतर रहना बेहतर
यही वजह है कि अमेरिका में सीनियर विशेषज्ञ डॉ एंथोनी फौसी का मानना है कि समूचे अमेरिका में लोगों को ऐसी विषम परिस्थिति में घर के भीतर रहना चाहिए ताकि कोरोना का संक्रमण न फैल सके. अब तक अमेरिका के 40 राज्यों को स्टे-एट-होम का आदेश जारी किया जा चुका है और अमेरिकी नागरिकों से अपील की गई है कि वो कोरोना वायरस के संक्रमण काल में घर के भीतर रहें और सुरक्षित रहें.

ये भी पढ़ें :-

कोरोना: अमेरिका में मरने वालों के लिए कम पड़ गए कफन, ऑर्डर किए 1 लाख बॉडी बैग
अमेरिका को 3 साल पहले ही मिली थी कोरोना की चेतावनी, ट्रंप ने नहीं की तैयारी
कोरोना संकट: अमेरिका की मदद के लिए रूस ने बढ़ाया हाथ, ट्रंप बोले- शानदार ऑफर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अमेरिका से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 3, 2020, 6:46 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading