आर्टिकल 370 पर पाक ने दुनियाभर से मांगी मदद, अमेरिका ने कहा- पहले आतंकियों का समर्थन बंद करो

सूत्रों के मुताबिक अमेरिका ने पाकिस्तान को ब्लैकलिस्ट करने की भी धमकी दी है. अमेरिका ने कहा है कि अगर पाकिस्तान आतंकी संगठनों को समर्थन देना बंद नहीं करता है तो फिर उसे FATF की ब्लैक लिस्ट में डाल देगा.

News18Hindi
Updated: August 8, 2019, 10:52 AM IST
आर्टिकल 370 पर पाक ने दुनियाभर से मांगी मदद, अमेरिका ने कहा- पहले आतंकियों का समर्थन बंद करो
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और पाकिस्तान के पीएम इमरान खान (फ़ाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: August 8, 2019, 10:52 AM IST
अमेरिका ने एक बार फिर से पाकिस्तान को आंतकवाद के मुद्दे पर कड़ी चेतावनी दी है. सूत्रों के मुताबिक अमेरिका ने कहा है कि वो भारत के खिलाफ आंतकवाद पर लगाम लगाए वरना इसके गंभीर नतीजे होंगे. इस बारे में अमेरिका ने भारत को जानकारी दी है. बता दें कि पाकिस्तान बार-बार सीमा पर सीज़फायर का उल्लंघन कर रहा है साथ ही वो आतंकियों को खुलेआम समर्थन भी दे रहा है.

बता दें कि जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को समाप्त करने के भारत सरकार के फैसले के बाद पाकिस्तान में खलबली मची है. इस मुद्दे पर पाकिस्तान संसद ने बुधवार को ज्वॉइंट सेशन बुलाया, जिसमें जोरदार हंगामा हुआ. आर्टिकल 370 को लेकर पाकिस्तान पूरी दुनिया में मदद की गुहार लगा रहा है. लेकिन, कोई भी देश खुलकर साथ नहीं आ रहा. यहां तक कि पाकिस्तान का सबसे करीबी दोस्त चीन ने भी इस मामले से दूरी बनाए रखी है.पाकिस्तान की इस गुहार पर अमेरिका ने पाकिस्तान को हिदायत दी है कि पाकिस्तान भारत के खिलाफ कोई आक्रमक रुख न अपनाए.

Kashmir
आर्टिकल 370 हटाने के बाद कश्मीर में तनाव बढ़ा है.


ब्लैकलिस्ट करने की धमकी

सूत्रों के मुताबिक, अमेरिका ने पाकिस्तान को ब्लैकलिस्ट करने की भी धमकी दी है. अमेरिका ने कहा है कि अगर पाकिस्तान आतंकी संगठनों को समर्थन देना बंद नहीं करता है, तो फिर उसे फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (Financial Action Task Force FATF) की ब्लैक लिस्ट में डाल दिया जाएगा. FATF मनी लॉन्ड्रिंग के खिलाफ काम करने वाली अंतरराष्ट्रीय संस्था है. पाकिस्तान जून, 2018 से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आतंकी फंडिंग पर नजर रखने वाली संस्था एफएटीएफ की ग्रे सूची में है.

पाकिस्तान के अखबार 'डॉन' के मुताबिक अमेरिका का एक प्रतिनिधिमंडल इस साल जून में इस्लामाबाद आया था. ये प्रतिनिधिमंडल ये पता लगाने के लिए वहां गया था कि क्या पाकिस्तान ने FATF के द्वारा सुझाए गए कदमों का पालन कर रहा है या नहीं. एफएटीएफ ने जून में कहा था कि पाकिस्तान मनी लॉन्ड्रिंग के सहारे आतंकवाद को बढ़ावा दे रहा है.

इसके अलावा अमेरिका ने पाकिस्तान को ये भी साफ-साफ कह दिया है कि वो जिहादी नेता राउफ अज़गर और लश्कर के नेताओं पर भी लगाम लगाए.
Loading...

ये भी पढ़ें:

पाकिस्तान की संसद में हंगामा- इमरान खान के मंत्री को कहा डॉग

भारत ने नहीं दी थी आर्टिकल 370 हटाने की जानकारी: US

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 8, 2019, 9:57 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...