Home /News /world /

एंटनी ब्लिंकन बोले-तालिबान पर भरोसा नहीं, जरूरत पड़ने पर करते रहेंगे कार्रवाई

एंटनी ब्लिंकन बोले-तालिबान पर भरोसा नहीं, जरूरत पड़ने पर करते रहेंगे कार्रवाई

अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन.

अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन.

अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन (Antony Blinken) ने कहा, 'अमेरिका किसी भी खतरे को बेअसर करने के लिए इस क्षेत्र में मजबूत आतंकवाद विरोधी क्षमताओं (Anti Terrorism) को बनाए रखेगा, और अगर हमें ऐसा करना है तो हम उन क्षमताओं का उपयोग करने में संकोच नहीं करेंगे.'

अधिक पढ़ें ...
  • News18Hindi
  • Last Updated :

    वॉशिंगटन. अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन (Antony Blinken) ने तालिबान के साथ संबंध को लेकर बयान दिया है. उन्होंने कहा, ‘हम प्रतिबद्धताओं (Commitments) को पूरा करने के लिए सिर्फ तालिबान (Taliban) पर भरोसा नहीं कर सकते. 26 अगस्त को आईएसआईएस-के द्वारा भयानक हमला किया गया. जिसमें 13 अमेरिकी सेवा सदस्य और कई, कई अफगान मारे गए. जिसने एक गंभीर खतरे को बढ़ावा दिया है. ऐसे में जरूरत पड़ने पर हम अफगानिस्तान में आतंकवाद के खिलाफ एक्शन लेते रहेंगे.’

    अमेरिकी विदेश मंत्री (Antony Blinken) ने इसके तहत सर्तक रहने पर भी जोर दिया. उन्होंने कहा, ‘हम सभी को सतर्क रहना होगा और खतरों की निगरानी करनी होगी और जब वे उत्पन्न हों तो उन पर एक्शन लेना होगा.’ विदेश मंत्री ने अफगानिस्तान में आतंकवाद के खिलाफ लड़ने को लेकर कहा, ‘अमेरिका किसी भी खतरे को बेअसर करने के लिए इस क्षेत्र में मजबूत आतंकवाद विरोधी क्षमताओं को बनाए रखेगा, और अगर हमें ऐसा करना है तो हम उन क्षमताओं का उपयोग करने में संकोच नहीं करेंगे.’

    तालिबान को चीनी वित्‍तीय मदद पर पूछा गया सवाल तो जो बाइडेन ने दिया ये जवाब

    तालिबान को पकड़ने पर जोर
    अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने आगे कहा, ‘हमें तालिबान को पकड़ना चाहिए, जिसमें हाल ही में घोषित कार्यवाहक सरकार और कोई भी अंतिम अफगान सरकार शामिल है. यदि वे चाहें तो विदेशी नागरिकों, वीजा धारकों और अफगानों को देश से बाहर यात्रा करने की अनुमति देने की उनकी प्रतिबद्धता के लिए काम करेगी.’

    ब्लिंकन ने आगे कहा, ‘क्या वे इसे दिल से लेते हैं, यह देखना बाकी है. इस तरह के आंदोलन को मुख्य उद्देश्य काबुल में हवाई अड्डे के संचालन को फिर से शुरू करना है. हम उस पर काम करने वाली सरकारों और संयुक्त राष्ट्र एजेंसियों के विशेष रूप से आभारी हैं. तालिबान आतंकवादी समूहों को अफगानिस्तान को बाहरी अभियानों के लिए आधार के रूप में इस्तेमाल करने से रोकने के लिए प्रतिबद्ध है. जिससे हममें से किसी को भी खतरा हो सकता है. एक प्रतिज्ञा जो उन्होंने न केवल हमें बल्कि अन्य सभी देशों के लिए भी दी है. हमें उस प्रतिबद्धता के लिए उन्हें जवाब देने की आवश्यकता है.’

    विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला से भी की थी मुलाकात
    हाल ही में विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने भी गुरुवार को अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन से मुलाकात की और द्विपक्षीय संबंधों के साथ ही अफगानिस्तान के हालात पर चर्चा की. अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक करने के लिए बुधवार को वाशिंगटन पहुंचे श्रृंगला ने उप विदेश मंत्री वेंडी शेरमेन से भी मुलाकात की. दोनों नेताओं की मुलाकात ऐसे समय में हुई है जब अमेरिका ने अफगानिस्तान में 30 अगस्त को अपने बीस साल के सैन्य अभियान को समाप्त कर दिया.

    अफगानिस्तान पर भारत से ग्राउंड इंटेलिजेंस चाहता है अमेरिका, NSA डोभाल से मिले CIA चीफ

    विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने कहा था कि अमेरिका अपने नागरिकों और अफगानों को वहां से निकालने का प्रयास करता रहेगा और काबुल हवाई अड्डा फिर से खुलने के बाद अफगानिस्तान के पड़ोसी मुल्कों के साथ सड़क रास्ते से या चार्टर्ड विमानों के जरिए उनकी सुरक्षित वापसी का प्रयास करेगा. उन्होंने कहा था, ‘हमें इस बात का कोई भ्रम नहीं है कि ये आसान होगा या जल्दी होगा.’ (एजेंसी इनपुट)

    Tags: Afghanistan Crisis, Afghanistan Taliban conflict, Afghanistan Terrorism

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर