लाइव टीवी

WHO चीफ का डोनाल्ड ट्रंप को कड़ा जवाब, 'अगर हम नहीं सुधरे, तो हमारे सामने और अधिक लाशों का ढेर होगा'

News18Hindi
Updated: April 9, 2020, 5:05 PM IST
WHO चीफ का डोनाल्ड ट्रंप को कड़ा जवाब, 'अगर हम नहीं सुधरे, तो हमारे सामने और अधिक लाशों का ढेर होगा'
WHO का ट्रंप को जवाब

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) को विश्व स्वास्थ्य संगठन ( WHO) के डायरेक्टर जनरल टेडरोस अधानोम गेब्रियेसस ने करारा जवाब देते हुए कहा है कि कोरोना वायरस (Coronavirus) का 'राजनीतिकरण' नहीं किया जाना चाहिए.

  • Share this:
वॉशिंगटन. दुनिया भर के तमाम देशों में कोरोना वायरस (Coronavirus) का कहर जारी है. इस वायरस से अब तक 88 हज़ार से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है. सिर्फ अमेरिका में अब तक 14700 लोगों की जान जा चुकी है, जबकि 4 लाख 30 हजार अमेरिकी कोरोना संक्रमित हैं. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) पर लापरवाह होने और चीन पर खास ध्यान देने का आरोप लगाया है, जिसके बाद WHO ने अमेरिकी राष्ट्रपति को कड़ा जवाब दिया. विश्व स्वास्थ्य संगठन के डायरेक्टर जनरल टेडरोस अधानोम गेब्रियेसस ने कहा है कि कोरोना वायरस का 'राजनीतिकरण' नहीं किया जाना चाहिए.

WHO का जवाब
जेनेवा में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान विश्व स्वास्थ्य संगठन के डायरेक्टर जनरल टेडरोस ने कहा, 'कोरोना वायरस का राजनीतिकरण नहीं किया जाना चाहिए. अभी जरूरत है कि हम सब साथ मिलकर काम करें. अगर हम नहीं सुधरे, तो हमारे सामने और ज्यादा ताबूत रखे होंगे. लाशों का ढेर लग जाएगा. इस वक्त कोरोना वायरस की लड़ाई में चीन और अमेरिका को साथ मिलकर काम करना चाहिए.'

WHO ने किया बचाव



टेडरोस ने विश्व स्वास्थ्य संगठन का बचाव करते हुए कहा कि न्यू ईयर के दिन जैसे ही चीन में इस वायरस के बारे में पता चला WHO तुरंत हरकत में आ गई. 5 जनवरी को हमने सारे सदस्य देशों को इसकी सूचना दे दी. इसके बाद 10 जनवरी तक वायरस के लड़ने के लिए गाइडलाइन्स भी जारी कर दिए गए. जब पता चला कि इस वायरस  से कम्युनिटी आउटब्रेक हो रहा है, तो हमने पब्लिक हेल्थ इमरजेंसी का ऐलान कर दिया.



ट्रंप ने दी थी धमकी
इससे पहले अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने व्हाइट हाउस के एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में WHO की फंडिंग रोकने की धमकी दी थी. उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस को रोकने के लिए WHO ने कोई कारगर कदम नहीं उठाए. उन्होंने ये भी आरोप लगाया कि WHO चीन की मदद कर रहा है. ट्रंप ने कहा, 'अमेरिका WHO को सबसे ज़्यादा फंड देता है और आने वाले समय में हम इस फंड पर रोक लगा सकते हैं. जब हमने ट्रैवल पर बैन लगाया था, तो विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इसकी आलोचना की थी. उन्होंने कोरोना संक्रमण को लेकर बहुत सारी ग़लतियां की हैं. उन्हें और पहले इस बीमारी के बारे में चेतावनी जारी करनी चाहिए थी.'



कोरोना की वजह से नौकरी जाने पर अब नहीं सताएगी पैसों की टेंशन,ऐसे करें प्लानिंग

कोरोना: इस शहर में लगा ऑड-ईवन फॉर्मूला, मर्द और औरत एकसाथ नहीं कर सकते खरीदारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अमेरिका से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 9, 2020, 8:39 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading