Home /News /world /

WHO ने जी20 देशों से मांगे पैसे, कहा- नहीं मिले तो कोराेना से हो सकती हैं 50 लाख मौतें

WHO ने जी20 देशों से मांगे पैसे, कहा- नहीं मिले तो कोराेना से हो सकती हैं 50 लाख मौतें

डब्‍लयूएचओ प्रमुख (File pic)

डब्‍लयूएचओ प्रमुख (File pic)

WHO प्रमुख डॉ. टेड्रोस अधनोम घेब्रेसस (Tedros Adhanom Ghebreyesus) ने जी20 देशों को दो टूक कहा कि आपको लीडरशिप दिखाते हुए हमारी मदद करनी चाहिए और फंड रिलीज करना चाहिए. उन्होंने कहा कि हम गरीब देशों को अकेला नहीं छोड़ सकते. डॉ. टेड्रोस ने कहा, "हमें कोरोना वैक्सीन, टेस्टिंग और ट्रीटमेंट के लिए पैसे की जरूरत है. इससे भविष्य में तकरीबन 50 लाख मौतों को रोका जा सकता है.

अधिक पढ़ें ...

    जिनेवा: विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization) ने गुरुवार को कहा कि उसे अगले 12 महीनों में कोविड-19 (Covid Plan) के खात्मे के लिए 23.4 बिलियन डॉलर ($23.4 Billion) की जरूरत है. WHO प्रमुख डॉ. टेड्रोस अधनोम घेब्रेसस (Tedros Adhanom Ghebreyesus) ने जी20 देशों को दो टूक कहा कि आपको लीडरशिप दिखाते हुए हमारी मदद करनी चाहिए और फंड रिलीज करना चाहिए. उन्होंने कहा कि हम गरीब देशों को अकेला नहीं छोड़ सकते. बता दें कि जी20 देशों की बैठक इस सप्ताह के आखिर में रोम (Rome), इटली में होगी.

    डॉ. टेड्रोस ने कहा, “हमें कोरोना वैक्सीन, टेस्टिंग और ट्रीटमेंट के लिए पैसे की जरूरत है. इससे भविष्य में तकरीबन 50 लाख मौतों को रोका जा सकता है. जी20 देशों में इस महामारी (Pandemic) के खिलाफ कार्रवाई करने की राजनीतिक और आर्थिक क्षमताएं हैं. हम एक निर्णायक क्षण में हैं, दुनिया को सुरक्षित बनाने के लिए निर्णायक नेतृत्व की आवश्यकता है.” WHO के नेतृत्व वाले कोविड टूल्स एक्सेलेरेटर तक पहुंच का उद्देश्य महामारी से निपटने के लिए उपकरणों का विकास, उत्पादन, खरीद और वितरण करना है. संगठन ने कहा कि 23.4 बिलियन डॉलर का फंड दुनिया के खरबों डॉलर के आर्थिक नुकसान की तुलना में काफी कम है.

    अब समय काम करने है: WHO
    डॉ. टेड्रोस ने कहा, “एसीटी-एक्सेलरेटर (ACT-A) के लिए फंड देना हम सभी के लिए एक वैश्विक स्वास्थ्य सुरक्षा के लिएं जरूरी है. अब कार्रवाई करने का समय है. अब तक केवल 0.4% टेस्ट और 0.5% वैक्सीन खुराक का उपयोग कम आय वाले देशों में किया गया है, जो दुनिया की आबादी का 9% हैं. WHO ने कहा कि उसकी योजना एसीटी-ए को गरीब देशों को टारगेट करना है.

    दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामाफोसा ने कहा, “यह असमानता अफ्रीकी महाद्वीप में ज्यादा दिखाई देती है, यहां सिर्फ 8% आबादी को कोरोना वैक्सीन की एक खुराक मिली है.” 54 में से केवल 5 अफ्रीकी देशों को WHO के साल के अंत में अपनी 40% आबादी को पूरी तरह से टीका लगाने के लक्ष्य को पूरा करने का अनुमान है.

    ACT-A ने Covax फैसिलिटी को जन्म दिया था, जिसका यह सुनिश्चित करने के लिए डिजाइन किया गया था कि गरीब देशों में भी वैक्सीन पहुंचे. क्योंकि पहले भविष्यवाणी सही साबित हुई थी, जिसमें कहा गया था कि अमीर देश वैक्सीन प्रोडक्शन लाइन को हथिया लेंगे और गरीब देशों को कुछ नहीं मिलेगा. रिपोर्ट के मुताबिक, अब तक, Covax ने 144 क्षेत्रों में 425 मिलियन खुराक की डिलीवरी की है.

    बूस्टर डोज की जरूरत
    WHO की मुख्य वैज्ञानिक सौम्या स्वामीनाथन ने कहा कि इस योजना के लिए दान की गई एक अरब से अधिक खुराक देने का वादा किया गया था, लेकिन केवल लगभग 15% ही वास्तव में सफल हुए हैं. उन्होंने यह भी कहा कि 62 देशों ने बूस्टर देना शुरू कर दिया है और दूसरे देश इस पर कदम उठाने पर सोच रहे हैं. स्वामीनाथन ने कहा कि हर दिन लगभग एक मिलियन बूस्टर खुराक इंजेक्ट किए जा रहे थे यानी कम आय वाले देशों में लगाए जा रहे टीकों की संख्या से भी तीन गुना.

    WHO साल के अंत तक बूस्टर पर राहत चाहता है, ताकि गरीब देशों के लिए मुक्त दी जा सके. संयुक्त राष्ट्र की स्वास्थ्य एजेंसी ने महामारी के दौरान आपातकालीन उपयोग के लिए छह टीकों को अधिकृत किया है. संगठन के टीके प्रमुख मारियांगेला सिमाओ ने कहा कि एजेंसी भारत के भारत बायोटेक सहित आठ उम्मीदवारों का आंकलन कर रही है, जिस पर वह अगले सप्ताह प्रक्रिया को अंतिम रूप देने की उम्मीद कर रही है.

    WHO के अनुसार, ACT-A ने अब तक 128 मिलियन से अधिक परीक्षण किए हैं. इसने आवश्यक ऑक्सीजन, व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण और उपचार आपूर्ति को भी बढ़ावा दिया है. इसमें डेक्सामेथासोन की लगभग तीन मिलियन खुराक भी शामिल हैं.

    Tags: America Corona cases, Cases of corona infection, Corona 19, Corona Active Case, WHO, WHO chief scientist Soumya Swaminathan, WHO Expert Panel, WHO Guideline, WHO on Corona Virus, WHO technical advisory group

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर