लाइव टीवी

सीरिया में आईएसआईएस को हराने का अमेरिकी अभियान रहेगा जारी: अमेरिकी रक्षा मंत्री

News18Hindi
Updated: October 29, 2019, 11:45 AM IST
सीरिया में आईएसआईएस को हराने का अमेरिकी अभियान रहेगा जारी: अमेरिकी रक्षा मंत्री
ISIS के खिलाफ 2014 में शुरु किया गया अभियान अभी जारी रहेगा - मार्क एस्पर

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) द्वारा तुर्की (Turkey) से सभी प्रतिबंध हटाने की घोषणा के कुछ दिनों बाद ही एस्पर ने कहा कि आईएसआईएस (ISIS) को हराने का अमेरिकी अभियान जारी रहेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 29, 2019, 11:45 AM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. अमेरिकी रक्षा मंत्री मार्क एस्पर (Mark Esper) ने कहा है कि सीरिया में साल 2014 से चल रहा आईएसआईएस (ISIS) को शिकस्त देने का अमेरिकी अभियान जारी रहेगा. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) द्वारा तुर्की (Turkey) से सभी प्रतिबंध हटाने की घोषणा के कुछ दिनों बाद ही एस्पर का यह बयान आया है.

ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ जनरल मार्क मिले के साथ एक सम्मेलन को संबोधित करते हुए एस्पर ने कहा कि हमने पश्चिम एशिया में अपने तत्कालीन इतिहास से सबक लिया है कि अगर उद्देश्य स्पष्ट नहीं हो तो संघर्ष में उलझे रहना आसान है. एक पुलिस बल की तरह हर छोटा विवाद सुलझाना हमारी प्राथमिकता नहीं है.

एस्पर ने कहा कि अमेरिका के पास उन लोगों का खत्म करने की ताकत है जो आतंकवादी हमलों के जरिए लोगों को नुकसान पहुंचाना चाहते हैं. उत्तरी सीरिया में तुर्की के अभियान को लेकर पूछे गए सवाल पर उन्होंने बताया कि तुर्की को अपने इस सैन्य अभियान के परिणाम की जिम्मेदारी लेनी होगी. बगदादी की मौत उन आतंकवादियों के लिए एक चेतावनी है जो सोचते हैं कि वह अमेरिकी सेना की पहुंच से छुप सकते हैं.

उन्होंने कहा कि आईएसआईएस (ISIS) के खिलाफ 2014 में शुरु किया गया हमारा अभियान अभी जारी रहेगा और हम आईएसआईएस को हराकर ही रहेंगे. पिछले सप्ताह ट्रंप ने बयान दिया था कि सीरिया में अमेरिकी सेना बहुत लंबे समय से है, हमने इतना वक्त नहीं सोचा था. साथ ही ट्रंप ने कहा था कि अमेरिका ने सीरिया में तेल क्षेत्र की रक्षा की है. ट्रंप ने कहा था कि कुर्द अमेरिका को सीरिया में उलझाए रखने के लिए आईएस से जुड़े कैदियों को छोड़ रहा हैं.

आपको बता दें कि अमेरिका समर्थित कुर्द लड़ाके सीरिया में अपने सहयोगियों के साथ इस्लामिक स्टेट के खिलाफ लड़ रहे हैं. सीरिया के उत्तरी क्षेत्र में इस समय कुर्द लड़ाकों के नेतृत्व वाली सीरियाई डेमोक्रेटिक फोर्सेज (एसडीएफ) का नियंत्रण है, तुर्की का मानना है कि यह वाईपीजी लड़ाकों जैसे पीकेके से संबंधित है. सीरिया की मौजूदा सरकार ने तुर्की के इस सैन्य अभियान की कड़ी निंदा की है. (भाषा इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें : सीरिया से ISIS दुल्हनों के बच्चों को वापस लाना चाहता है ब्रिटेन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 29, 2019, 11:45 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...