कथा-कहानियों के अंदाज में बोतल पर लिखे संदेश से बची घाटी में फंसे परिवार की जिंदगी

अमेरिका का यह परिवार तेज बहाव वाले झरने में फंस गया था. उनका भेजा संदेश हाइकर्स को नदी में तैरता हुआ मिला. इसके बाद रेस्‍कयू टीम ने उन्‍हें बचाकर वहां से निकाला.

News18Hindi
Updated: September 12, 2019, 5:44 PM IST
कथा-कहानियों के अंदाज में बोतल पर लिखे संदेश से बची घाटी में फंसे परिवार की जिंदगी
कर्टिस व्हिटसन, उनकी गर्लफ्रेंड और उनका 13 साल का बेटा जून में मध्य कैलिफोर्निया गए थे. तीसरे दिन वे घाटी के एक तंग हिस्से में फंस गए. 
News18Hindi
Updated: September 12, 2019, 5:44 PM IST
वाशिंगटन. अमेरिका में कैलिफोर्निया की एक घाटी में फंसे एक परिवार की जान कथा-कहानियों के अंदाज में बचा ली गई. दरअसल, अमरीका में एक परिवार तेज बहाव वाले झरने में फंस गया. इसके बाद उन्‍होंने बोतल पर लिखकर एक संदेश भेजा. उनका यह संदेश नीचे नदी में हाइकर्स को तैरता मिला. इसके बाद रेस्‍क्‍यू टीम ने वहां पहुंचकर पूरे परिवार की जान बचा ली.

घाटी के तंग हिस्‍से में फंसा था परिवार, दोनों तरफ थीं ऊंची दीवारें
कर्टिस व्हिटसन, उनकी गर्लफ्रेंड और उनका 13 साल का बेटा जून में मध्य कैलिफोर्निया गए थे. यह परिवार एक घाटी से होते हुए अरोयो सेको नदी और फिर वहां से झरने तक जाना चाहता था. इसी कोशिश में तीसरे दिन वे घाटी के एक ऐसे तंग हिस्से में फंस गए, जहां दोनों तरफ 40 फुट ऊंची दीवारें थीं. कर्टिस को लगा कि उनके पास रस्सी होगी, लेकिन ऐसा नहीं था. इसका सीधा मतलब था कि वे लोग चढ़कर नीचे या बाहर नहीं जा सकते थे. झरने का बहाव भी बहुत तेज थे. ऐसे में पूरा परिवार वहीं फंस गया.

पानी के तेज बहाव के कारण नीचे उतरना था काफी जोखिम भरा

कर्टिस ने CNN को बताया, जब मुझे अहसास हुआ कि पानी इतना ज़्यादा है कि नीचे उतरना खतरनाक है तो मेरा मन बैठ गया. उस जगह पर परिवार में किसी के भी फोन में सिग्‍नल नहीं आ रहे थे. झरने में उनके अलावा कोई और भी नहीं था, जिससे मदद ली जा सके. बहुत देर परेशान होने के बाद कर्टिस के दिमाग में एक आइडिया आया. उन्होंने एक ऑर्डर स्लिप पर संदेश लिखा कि हम यहां झरने के पास फंस गए हैं. हमारी मदद करें. उनकी गर्लफ्रेंड खेल का स्कोर लिखने के लिए ये स्लिप साथ लाई थीं.

कर्टिस ने संदेश लिखकर बोतल में डाल दिया. इसके अलावा बोतल के बाहर 'Help' लिख दिया. इसके बाद उन्होंने बोतल झरने में फेंक दी.


बोतल में डाला संदेश, ऊपर लिखा हेल्‍प, हाइकर्स को मिली बोतल
Loading...

कर्टिस ने संदेश लिखकर बोतल में डाल दिया. इसके अलावा बोतल के बाहर 'Help' लिख दिया. इसके बाद उन्होंने बोतल झरने में फेंक दी. किस्मत अच्छी रही और पहली बार में ही बोतल सीधे झरने की तरफ चली गई. लगभग 400 मीटर दूर दो हाइकर्स को यह बोतल मिली और उन्‍होंने उनकी मदद की. हाइकर्स टीम को संदेश मिलने के कुछ घंटों बाद ही रेस्क्यू टीम ने 15 जून की रात कर्टिस, उनके बेटे और उनकी गर्लफ्रेंड को खोज निकाला.

मदद करने वाले हाइकर्स से मिलना चाहते हैं कर्टिस व्हिटसन
कैलिफोर्निया हाइवे की पुलिस के टॉड ब्रेथोर ने कहा कि अगर वे इस अंदाज में संदेश नहीं भेजते तो उन लोगों के पास वाकई में कोई दूसरा विकल्प नही बचा था. कर्टिस व्हिटसन दरवाजे मरम्मत करने का काम करते हैं. उन्होंने कहा है कि वे उन हाइकर्स से मिलना चाहते हैं, जिन्हें उनका संदेश मिला था. उन्होंने कहा, मुझे आश्चर्य है कि सब कुछ एक दम परफेक्ट तरीके से कैसे हो गया. उनको सही पर मदद मिली और पूरे परिवार की जिंदगी बच गई.

ये भी पढ़ें:

कश्‍मीर पर पाकिस्‍तान ने मानी हार, गृह मंत्री ने कहा - दुनिया को साथ नहीं ला पाई इमरान सरकार

अमेरिका में बड़े ड्रग रैकेट का भंडाफोड, दाऊद इब्राहिम और बॉलीवुड से जुड़े तार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 12, 2019, 5:44 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...