लाइव टीवी

कोरोना से बचने के लिए मदद मांगने वाले अमेरिकी नेवी शिप के कैप्टन को हटाया गया

News18Hindi
Updated: April 3, 2020, 9:30 PM IST
कोरोना से बचने के लिए मदद मांगने वाले अमेरिकी नेवी शिप के कैप्टन को हटाया गया
अमेरिकी नेवी शिप के उस कैप्टन को हटा दिया गया है, जिन्होंने कोरोना से बचने के लिए मदद की अपील की थी.

अमेरिकी नेवी शिप (American Navy Ship) के कैप्टन ने अपने सैनिकों को कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण से बचाने के लिए मदद की अपील की थी.

  • Share this:
वाशिंगटन: अमेरिकी (American) नेवी शिव थियोडोर रूजवेल्ट (Navy Ship Theodore Roosevelt) के कैप्टन ब्रेट क्रॉजियर (Brett Crozier) को अमेरिकी नेवी ने हटा दिया है. कैप्टन ब्रेट क्रॉजियर ने अपने शिप पर कोरोना वायरस (Coronavirus) का संक्रमण फैलने के बाद अपने सैनिकों को इससे बचाने के लिए मदद की मांग की थी.

कैप्टन ब्रेट ने इसको लेकर अमेरिकन नेवी को ईमेल लिखा था. हालांकि बाद में वो ई-मेल मीडिया में लीक हो गया. जिसके बाद इस घटना के लिए अमेरिकी नेवी को आलोचनाओं का सामना करना पड़ा. अब अमेरिक नेवी ने कैप्टन ब्रेट क्रॉजियर को उनके पद से हटा दिया गया है.

अमेरिका में कैप्टन ब्रेट क्रॉजियर को हटाए जाने की आलोचना की जा रही है. न्यूजवीक की एक रिपोर्ट के मुताबिक कैप्टन ब्रेट क्रॉजियर के हटाने के नेवी के फैसले पर सवाल उठ रहे हैं. इस बारे में अमेरिकन नेवी के एक्टिंग सेक्रेटरी थॉमस मोडली ने कहा है कि कैप्टन ब्रेट क्रॉजियर ने गलत तरीके से फैसला लिया. उन्होंने नॉन सिक्योर और अनक्लासीफाइड ई-मेल एड्रेस पर मेल भेजा. कैप्टन ब्रेट क्रॉजियर का भेजा मेल करीब 20-30 लोगों तक पहुंचा था.



मीडिया में लीक हुआ मदद की अपील वाला कैप्टन का लिखा लेटर



क्रॉजियर के मेल को बाद में सैन फ्रांसिस्को क्रॉनिकल ने छाप दिया. कॉजियर ने अपने लेटर में अपने नेवी शिप में तैनात 4 हजार सैनिकों को कोरोना के संक्रमण से बचाने के लिए मदद की गुहार की थी. उन्होंने अपने क्रू में संक्रमण के लक्षण को देखने के बाद अमेरिकन नेवी को लेटर लिखा था. इस लेटर के सार्वजनिक हो जाने के बाद करीब 1 हजार अमेरिकी सैनिकों को शिप से अगले ही दिन उतार दिया गया. इसके बाद करीब 114 क्रू मेंबर्स को कोरोना वायरस के संक्रमण में पॉजिटिव पाया गया.

क्रॉजियर ने कहा है कि उन्होंने मौके की नजाकत को देखते हुए सही कदम उठाया था. नेवी शिप में सीमित जगह थी. ऐसे में कोरोना का संक्रमण जैसा फैलने का खतरा बना हुआ था. क्रू मेंबर्स एकदूसरे से सोशल डिस्टेंसिंग रख रहे थे लेकिन इसके बावजूद संक्रमण फैलता जा रहा था.

अमेरिकी नेवी शिप के कैप्टन को हटाने की हो रही है आलोचना
क्रॉजियर ने अपने लेटर में लिखा था कि इसके लिए राजनीतिक समाधान की जरूरत होगी लेकिन ऐसा करना सही होगा. उन्होंने लिखा था कि हम जंग के मैदान में नहीं हैं. सैनिकों को बेवजह मरने के लिए नहीं छोड़ा जा सकता. अगर हम सही कदम नहीं उठाते हैं या अगर हम सही कदम उठाने में नाकाम रहते हैं तो हम अपने सबसे भरोसेमंद सैनिक खो देंगे.

इस घटना पर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बोलते हुए मोडली ने बताया कि कैप्टन ब्रेट क्रॉजियर को इसलिए नहीं हटाया गया है क्योंकि उनका ईमेल लीक हुआ. हालांकि उन्होंने कहा कि ऐसा नहीं होना चाहिए. इससे गैरजरूरी की बदहवासी फैली.

ये भी पढ़ें:

कोरोना पर काबू पाने के लिए कम से कम 6 हफ्ते का लॉकडाउन जरूरी- रिसर्च

कोरोना: स्पेन में 11 हजार के करीब पहुंचा मौत का आंकड़ा, पूरी दुनिया में संक्रमण के 10 लाख मामले

यूरोप में फंसे नागरिकों के लिए भारतीय मिशन, इस तरह पहुंचाई जा रही मदद

कोरोना: अमेरिका में मरने वालों का आंकड़ा 6 हजार के पार, 24 घंटे में 911 मौतें

अप्रैल के आखिर तक काबू में आ जाएगा कोरोना, चीन के एक्सपर्ट डॉक्टर का दावा

अमेरिका को 3 साल पहले ही मिली थी कोरोना की चेतावनी, ट्रंप ने नहीं की तैयारी

कोरोना: अमेरिका में मरने वालों के लिए कम पड़ गए कफन, ऑर्डर किए 1 लाख बॉडी बैग

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अमेरिका से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 3, 2020, 9:30 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading