चीन में इस रहस्यमयी बीमारी से हड़कंप, अमेरिका ने अपने राजनयिकों को वापस बुलाया

चीन में अमेरिकी दूतावास
चीन में अमेरिकी दूतावास

विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हीथर नोर्ट का कहना है कि मेडिकल रिपोर्ट की पुष्टि होने के बाद अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने चीन के गुआनझोऊ में मेडिकल टीम भेजी है.

  • Share this:
अमेरिका के कई राजनयिक चीन में रहस्यमयी बिमारी के शिकार हो रहे हैं. लिहाजा अमेरिका ने अपने ऐसे राजनयिकों को इलाज के लिए वापस बुला लिया है.

एक अधिकारी ने बताया कि हाल ही में मेडिकल रिपोर्टों के जरिए अमेरिकी विदेश विभाग को ये जानकारी मिली कि चीन में राजनयिकों को भी वैसी ही बीमारी हुई है , जैसी कि क्यूबा में अमेरिकी अधिकारियों को हुई थी. इसके बाद कई राजनयिकों को वापस बुलाने का फैसला लिया गया.

विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हीथर नोर्ट का कहना है कि मेडिकल रिपोर्ट की पुष्टि होने के बाद अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने चीन के गुआनझोऊ में मेडिकल टीम भेजी है. वो अमेरिकी सरकार के सभी कर्मचारियों और अनुरोध के आधार पर उनके परिवार के सदस्यों की भी मेडिकल जांच करेगी. जिन कर्मचारियो में ऐसे लक्षण मिले हैं या जिन्होंने अनुरोध किया है उनकी मेडिकल जांच की जा रही है.



उन्होंने कहा कि मेडिकल जांच के दौरान ही विदेश मंत्रालय ने कई लोगों को आगे की जांच और इलाज के लिए अमेरिका वापस बुलाया है.
आपको बता दें कि पिछले महीने अमेरिका ने चीन में अपने नागरिकों को स्वास्थ्य संबंधी अलर्ट जारी किया था. दरअसल अमेरिकी दूतावास के कर्मचारियों को किसी असमान्य आवाज़ या किसी विज़न (दृष्य) से सतर्क रहने को कहा गया था.

क्या हुआ था हवाना में ?

साल 2016 में क्यूबा के हवाना स्थित अमेरिकी दूतावास पर राजनयिकों पर रहस्यमयी बीमारी हमले किए गए थे. यहां किसी रेडियोधर्मी अथवा सोनार तरंगों से हमला किया गया था. इस हमले से अमेरिकी दूतावास में रह रहे राजनयिकों का स्वास्थ खराब हो गया. अमेरिकी विदेश मंत्रालय के 20 से ज्यादा राजनयिक इस सोनार तरंगों के हमले की चपेट में आए थे.

ये भी पढ़ें:

नागपुर पहुंचे प्रणब मुखर्जी तो बेटी शर्मिष्ठा बोलीं- भूल जाएंगे भाषण, तस्वीरें हमेशा रहेंगी

शिवसेना नेता संजय रावत बोले, 2019 चुनाव अकेले लड़ने का फैसला अटल
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज