जॉर्ज फ्लॉयड की याद में एकत्र हुए हजारों अमेरिकी, कहा-'कालों की जिंदगी मायने रखती है

जॉर्ज फ्लॉयड की याद में एकत्र हुए हजारों अमेरिकी, कहा-'कालों की जिंदगी मायने रखती है
फ्लॉयड की याद में एकत्र हुए हजारों अमेरिकी

अमेरिका में श्वेत पुलिस अधिकारी के हाथों हुई अफ्रीकी-अमेरिकी जॉर्ज फ्लॉयड (George Floyd) की हत्या के विरोध में हजारों अमेरिकियों ने देश के विभिन्न शहरों में सड़कों पर उतरकर शांतिपूर्ण प्रदर्शन किया. उनके हाथों में पोस्टर थे जिन पर 'काले लोगों की जिंदगी मायने रखती है'

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
वाशिंगटन. अमेरिका के मिनियापोलिस (Miniapolis) में श्वेत पुलिस अधिकारी के हाथों हुई अफ्रीकी-अमेरिकी जॉर्ज फ्लॉयड (George Floyd) की हत्या के विरोध में हजारों अमेरिकियों ने देश के विभिन्न शहरों में सड़कों पर उतरकर शांतिपूर्ण प्रदर्शन किया. उनके हाथों में पोस्टर थे जिन पर 'काले लोगों की जिंदगी मायने रखती है' (Black Peole Live Matter) लिखा हुआ था और ‘न्याय नहीं, शांति नहीं के नारे लगाए गए.

ह्यूस्टन के रहने वाले, 46 वर्षीय जॉर्ज फ्लॉयड को 25 मई को एक श्वेत अधिकारी ने हथकड़ी लगाकर जमीन पर गिरा दिया था और उसकी गर्दन से अपना घुटना तब तक नहीं हटाया जब तक कि उसने दम नहीं तोड़ दिया. श्वेत अधिकारी ने मरने के बाद भी जॉर्ज फ्लॉयड के गर्दन से करीब ढाई मिनट तक अपना घुटना नहीं हटाया था.

फ्लॉयड की मौत के खिलाफ राष्ट्रव्यापी हिंसक प्रदर्शन होने लगे जहां प्रदर्शनकारियों का एक धड़ा देश भर में लूट और दंगों को अंजाम दे रहा है और बर्बादी के निशान छोड़ रहा है.



पुलिस तंत्र में तत्काल सुधार की मांग



मिनियापोलिस में अंतिम संस्कार के बाद फ्लॉयड को याद करने के लिए बृहस्पतिवार रात देश भर में बड़ी संख्या में शोकाकुल लोग एकत्र हुए. फ्लॉयड के लिए न्याय मांगते हुए, उन्होंने पुलिस तंत्र और आपराधिक न्याय व्यवस्था में तत्काल सुधार की मांग की.

न्यूयॉर्क, वाशिंगटन डीसी, शिकागो और लॉस एंजिलिस समेत कई शहरों में पिछले कुछ दिनों में बड़े पैमाने पर हिंसा और लूट हुई है।

अबतक 10 हजार से ज्यादा गिरफ्तार

हिंसक प्रदर्शनों के लिए देश भर में 10,000 से ज्यादा अमेरिकियों को गिरफ्तार किया गया है. लॉस एंजिलिस में प्रदर्शनकारियों ने मार्च के साथ नारेबाजी की और पृष्ठभूमि में संगीत एवं ड्रम बजता रहा. मार्च करने वालों के साथ गाड़ियां धीरे-धीरे चलती रहीं जहां कई चालकों एवं यात्रियों के हाथ में प्रदर्शन के चिह्न थे या वे समर्थन जुटाने के लिए खिड़कियों से अपनी बंधी मुठ्ठी दिखा रहे थे.न्यूयॉर्क में, एक कार्यक्रम में शहर के मेयर बिल डे ब्लासियो के खिलाफ नारेबाजी की गई. सदन की अध्यक्ष नेंसी पैलोसी ने इस दिन को अत्यंत दुख का दिन बताया.

'हमारे लिए यह राष्ट्रीय शोक का दिन'

उन्होंने अमेरिकी कैपिटल में संवाददाताओं से कहा कि वे जॉर्ज फ्लॉयड की याद में पहला दिन मना रहे हैं. यह राष्ट्रीय शोक का दिन है और हम जॉर्ज फ्लॉयड और उनके परिवार के लिए प्रार्थना कर रहे हैं और हमारे देश को इससे उबारने के लिए प्रार्थना कर रहे हैं.

अमेरिकी शहरों में असहज खामोशी

वॉल स्ट्रीट जर्नल ने खबर दी कि अमेरिकी शहरों में असहज खामोशी थी, इतने दिनों की अशांति के दौरान बड़े पैमाने पर हुई लूट एवं बर्बादी थम गई है और गुस्से ने दुख की शक्ल और न्याय की मांग की शक्ल ले ली है.

मिनीसोटा के वकील जनरल कीथ एलिसन ने बृहस्पतिवार को घोषणा की है कि मिनियापोलिस के पूर्व पुलिस अधिकारी के खिलाफ आरोपों को और सख्त किया जाएगा जबकि मौके पर मौजूद तीन अन्य अधिकारियों के खिलाफ हत्या के लिए उकसाने के आरोप लगाए गए हैं.

मेलानिया ट्रंप ने फ्लॉयड की मौत पर संवेदना जाहिर की

देश की प्रथम महिला नागरिक मेलानिया ट्रंप ने कहा कि मिनियापोलिस में जॉर्ज फ्लॉयड के अंतिम संस्कार के साथ ही, मैं एक बार फिर उनके परिवार एवं दोस्तों के प्रति संवेदना जाहिर करती हूं. मुझे उम्मीद है कि देश शांति से एक साथ आएगा और इस चुनौतीपूर्ण समय से उबर जाएगा।”

न्यूयॉर्क टाइम्स की खबर के मुताबिक बृहस्पतिवार को हुए कई प्रदर्शन मूल रूप से दुख जताने के लिए थे. संसद के डेमोक्रेटिक सदस्यों ने बृहस्पतिवार को कहा था कि वे पुलिस जिम्मेदारी को लेकर एक प्रस्ताव लाने की योजना बना रहे हैं.

ये भी पढ़े: PM मोदी और आस्ट्रेलियाई पीएम ने चीन को घेरने के लिए बनाया ये प्लान

पाकिस्तान में Coronavirus से 24 घंटे में 68 की मौत, 4896 नए मामले सामने आए
First published: June 5, 2020, 5:02 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading