परमाणु हमले की धमकी के बीच पाकिस्तान ने किया 'गजनवी' मिसाइल का परीक्षण

News18Hindi
Updated: August 29, 2019, 1:58 PM IST
परमाणु हमले की धमकी के बीच पाकिस्तान ने किया 'गजनवी' मिसाइल का परीक्षण
गजनवी मिसाइल परीक्षण कराची के पास सोनमियानी उड़ान परीक्षण रेंज से किया गया.

बैलिस्टिक मिसाइल गजनवी (Ballistic Missile Ghaznavi) के परीक्षण को लेकर पाकिस्तान (Pakistan) ने नॉटम जारी किया था. इस मिसाइल का परीक्षण कराची के पास सोनमियानी उड़ान परीक्षण रेंज में किया गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 29, 2019, 1:58 PM IST
  • Share this:
पाकिस्तान (Pakistan) ने अपनी बैलेस्टिक मिसाइल गजनवी (Ghaznavi) का गुरुवार को सफलतापूर्वक परीक्षण किया. 'गजनवी' सतह से सतह पर 290 किलोमीटर तक मार करने में सक्षम है. ये मिसाइल 700 किलोग्राम विस्फोटक ले जा सकती है. इसका परीक्षण कराची के पास सोनमियानी उड़ान परीक्षण रेंज में किया गया. पाकिस्तान का नेशनल डेवलेपमेंट कॉम्प्लेक्स (NDC) पंजाब (पाकिस्तान) के फतेहजंग में है, जहां से इसे ट्रैक किया जाएगा. 'गजनवी' के परीक्षण के लिए पाकिस्तान ने कराची एयरस्पेस को अगले तीन दिनों के लिए बंद रखने का ऐलान किया था. मालूम हो कि पाकिस्तान ने कराची एयरस्पेस के तीन हवाई मार्गों को 28 अगस्त से 31 अगस्त तक बंद कर दिया है.

बैलेस्टिक मिसाइल 'गजनवी' का परीक्षण ऐसे समय में किया गया, जब जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) से आर्टिकल 370 (Article 370) हटाने के बाद पाकिस्तान भारत के खिलाफ लगातार दुनियाभर से मदद मदद मांग रहा है. हालांकि, पाक प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) को मायूसी हाथ लग रही है. ऐसे में वह जंग और परमाणु हमले की धमकी भी दे रहे हैं.

पाकिस्तान सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने ट्वीट किया, 'पाकिस्तान ने सहत से सहत तक मार करने वाले बैलेस्टिक मिसाइल गजनवी को लॉन्च किया. ये मिसाइल 290 किलोमीटर तक मार कर सकता है.'

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने एक हफ्ते पहले 'न्यूयॉर्क टाइम्स' को दिए गए इंटरव्यू में परमाणु टकराव (Nuclear Confrontation) के संकेत दिए थे. इसके बाद 26 अगस्त को न्यूज़ चैनलों में उन्होंने इस बयान को दोहराया था.

पाकिस्तान के रेल मंत्री का दावा- अक्टूबर या उसके बाद भारत से होगा युद्ध

'New York Times' की खबर के मुताबिक, ये माना जा रहा है कि पाकिस्तान कश्मीर मुद्दे (Kashmir Issue) का अंतरराष्ट्रीयकरण करने के लिए यह कदम उठाने जा रहा है. इस हरकत से पाकिस्तान दोनों देशों के बीच युद्ध का माहौल बनाकर अंतरराष्ट्रीय समुदाय का ध्यान कश्मीर पर केंद्रित करना चाहता है.

imran
पाकिस्तान के पीएम इमरान खान (दाएं) के साथ आर्मी चीफ जनरल जावेद कमर बाजवा (बाएं)

Loading...

पाक मंत्री ने किया अक्टूबर में भारत से जंग का दावा
बता दें कि पाकिस्तान की इमरान खान सरकार के रेल मंत्री शेख रशीद अहमद ने दावा किया है कि भारत से जंग होगी. मंत्री यहीं नहीं रुके, उन्होंने यह तक बता दिया है कि जंग कब शुरू होगी. शेख रशीद अहमद ने भविष्यवाणी की है कि पाकिस्तान और भारत के बीच एक पूर्ण युद्ध (India Pakistan War) होगा. उनका दावा है कि यह युद्ध अक्टूबर या उसके बाद होगा.

विदेश मंत्री ने कहा था- कश्मीरियों के हक के लिए हद तक जाएंगे
इसके पहले इस्लामाबाद में कश्मीर पर आयोजित एक सेमिनार में पाक विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि पाकिस्तान कश्मीरियों के अधिकारों की रक्षा के लिए किसी भी हद तक जाएगा. उन्होंने कहा, 'भारत ने कश्मीर से गैरकानूनी तरीके से आर्टिकल 370 हटाकर वहां तनाव पैदा कर दिया है. ऐसे में यहां भारत और पाकिस्तान के बीच युद्ध जैसे हालात बन सकते हैं और हम इसके लिए तैयार हैं.'

कुरैशी ने यह भी कहा कि वो अगले महीने इस मुद्दे को संयुक्त राष्ट्र महासभा में भी उठाएंगे. बता दें कि अब तक पाकिस्तान को आर्टिकल 370 के मुद्दे पर हर जगह झटका लगा है. यहां तक कि अमेरिका ने भी इस मुद्दे पर भारत का साथ दिया है.

कैसी है भारत की परमाणु ताकत
भारत के पास तीनों मोर्चों से परमाणु हमला लड़ने की क्षमता है यानी भारत जमीन, आसमान और समुद्र तीनों में परमाणु युद्ध लड़ने में सक्षम है. 2018 में भारत की परमाणु शक्ति संपन्न पनडुब्बी आईएनएस अरिहंत भी सेना में शामिल हो गई है. भारत की जमीन से मार करने वाली बैलिस्टिक मिसाइल अग्नि-3 की रेंज 3000 किमी है.

पाकिस्तान के पास हैं ये बैलिस्टिक मिसाइलें

युद्धक्षेत्र दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल:-
नस्र- नस्र या हत्फ-9 (Nasr या Hatf 9) पाकिस्तान के राष्ट्रीय विकास परिसर (एनडीसी) द्वारा विकसित एक ठोस ईंधन सामरिक बैलिस्टिक मिसाइल प्रणाली है. इसकी रेज 60 किमी है.

हत्फ-1- हत्फ-1 (Hatf-I) एक सामरिक और सबसोनिक अनिर्देशित युद्धक्षेत्र दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल है. इसे 1980 के दशक में अंतरिक्ष अनुसंधान आयोग और कहूटा अनुसंधान प्रयोगशाला (केआरएल) द्वारा विकसित किया गया था.

कम दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल:-
गजनवी-गजनवी या हत्फ-3 (Ghaznavi या Hatf-3) एक हाइपरसोनिक और सतह से सतह के लिए कम दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल है. गजनवी मिसाइल नेशनल डिफेंस परिसर द्वारा विकसित की गई है. इसकी मारक क्षमता 290 किमी है.

अब्दाली-1- अब्दाली-1 या हत्फ-2 (Abdali-I या Hatf-2) एक सुपरसोनिक और सामरिक सतह से सतह के लिए कम दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल है. अब्दाली-1 मिसाइल अंतरिक्ष अनुसंधान आयोग द्वारा विकसित की गई है. इसकी मारक क्षमता 290 किमी है.

गौरी-1- गौरी-1 या हत्फ-5 (Ghauri-1 या Hatf-5) एक पाकिस्तानी सतह से सतह मध्यम दूरी की निर्देशित बैलिस्टिक मिसाइल है. यह वर्तमान में पाकिस्तान के सेना सामरिक बल कमान में कार्यरत है. इसकी मारक क्षमता 1500 किमी है.

शाहीन-1 - शाहीन-1 या हत्फ-4 (Shaheen-I या Hatf-4) एक भूमि आधारित सुपरसोनिक और कम-से-माध्यमिक दूरी की सतह से सतह निर्देशित बैलिस्टिक मिसाइल है.

pakistan
पाकिस्तान ने भारत को परमाणु हमले और जंग की धमकी दी है.


इमरान खान सरकार को झटका! पाकिस्तान को हुआ अब तक का सबसे बड़ा घाटा

मध्यम दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल:-
गौरी-2 - गौरी-2 या हत्फ-5ए (Ghauri-II या Hatf-Vए) एक पाकिस्तानी सतह से सतह मध्यम दूरी की निर्देशित बैलिस्टिक मिसाइल है. गौरी-2 मिसाइल खान रिसर्च लैबोरेटरीज द्वारा विकसित की गयी है. यह एक एकल चरण तरल ईंधन मिसाइल प्रणाली है.

शाहीन-2 - शाहीन-2 या हत्फ-6 (Shaheen-2 या Hatf-6) एक भूमि आधारित सुपरसोनिक और कम-से-माध्यमिक दूरी की सतह से सतह निर्देशित बैलिस्टिक मिसाइल है.

शाहीन-2 - शाहीन-3 (Shaheen-3) एक भूमि आधारित सुपरसोनिक और कम-से-माध्यमिक दूरी की सतह से सतह निर्देशित बैलिस्टिक मिसाइल है. शाहीन-3 का पहला परीक्षण 9 मार्च 2015 को किया गया.

यह भी पढ़ें: पाकिस्तान के राष्ट्रपति को कश्मीर पर ट्वीट करना पड़ा भारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 29, 2019, 9:37 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...