नेपाल के भक्तपुर में भूकंप के झटके, घरों से बाहर निकले लोग

नेपाल के भक्तपुर में भूकंप के झटके, घरों से बाहर निकले लोग
पर्वतों के निर्माण की वजह से बार बार भीषण भूकंप भी आते हैं.

नेपाल (Nepal) में अभी तक का सबसे शक्तिशाली भूकंप (Earthquake) अप्रैल 2015 (April 2015) में आया था, जिसमें करीब 9,000 लोगों की जान चली गई थी

  • Share this:
काठमांडू. नेपाल (Nepal) स्थित भक्तपुर (Bhaktapur) जिले के अनंतलिंगेश्वर के आसपास गुरुवार सुबह 08:14 बजे 3.4 तीव्रता का भूकंप आया. लोगों ने भूकंप के झटके महसूस किये. भूकंप के बाद लोग अपने घरों के बाहर आ गए. भक्तपुर ने आए भूंकप की जानकारी राष्ट्रीय भूकंप केंद्र, नेपाल ने दी. हालांकि, अभी तक किसी तरह के जान माल के नुकसान की कोई खबर नहीं है.

वहीं मध्य नेपाल में 11 मई की रात 5.3 तीव्रता का भूकंप आया था, जिससे दहशत में डूबे लोग घरों के बाहर निकल आए थे. राष्ट्रीय भूकंपीय केंद्र के अनुसार, काठमांडू से 180 किलोमीटर पूर्व डोल्खा जिले में स्थित अपने भूकंप केंद्र के साथ मंगलवार को रात 11.53 बजे भूकंप आया.

इससे पहले पूर्वी नेपाल (Nepal) में भूकंप (Earthquake) के झटके महसूस किए गए थे. भूकंप की तीव्रता 4.7 मापी गई थी. देश के राष्ट्रीय भू विज्ञान केन्द्र ने 16 अप्रैल को यह जानकारी दी.



खबरों के अनुसार, भूकंप (Earthquake) काठमांडू से 120 किलोमीटर पूर्व में स्थित सिंधुपाल्चोक जिले में देर रात 12 बजकर 55 मिनट पर आया था. इस दौरान कई लोग अपने घर से बाहर निकल आए. काठमांडू घाटी में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए. गौरतलब है कि नेपाल में अभी तक का सबसे शक्तिशाली भूकंप अप्रैल 2015 में आया था, जिसमें करीब 9,000 लोगों की जान चली गई थी.



 लॉकडाउन के दौरान दिल्ली में चार झटके
वहीं  लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान 50 दिन में चार बार राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली भूकंप (Earthquake) के झटकों से हिल चुकी है. हालांकि रिएक्टर पैमाने पर इसकी तीव्रता कम थी. बावजूद इसके दिल्ली के कुछ इलाकों में इसका खतरा अभी टला नहीं है. जानकार बताते हैं कि अभी दिल्ली को भूकंप के झटके और झेलने होंगे. लिथोस्फीयर की प्लेट्स आपस में रगड़ खा रही हैं.

कोरोना के कहर और लॉकडाउन के दौरान दिल्ली में पहली बार भूकंप के झटके 13 अप्रैल को 3.5 की तीव्रता वाले आए थे. इसकी गहराई दिल्ली-एनसीआर में 8 किलोमीटर थी. ठीक उसी के अगले दिन यानी 14 अप्रैल को भी कम तीव्रता वाला भूकंप आया था, जिसकी तीव्रता रिएक्टर स्केल पर 2.7 मापी गई थी. इससे पहले 10 मई को भी दिल्ली में मौसम बदलने के बाद भूकंप के हल्के झटके महसूस किए गए थे.

भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 3.5 मापी गई थी. 15 मई को चौथी बार आए भूकंप के बारे में जानकार का कहना है कि दिल्ली में एक बार फिर से भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं. दिल्ली के पीतमपुरा इलाके में 2.2 की तीव्रता से भूकंप आया. दिल्ली में बीते लॉकडाउन के दौरान यह चौथी बार है जब भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading