मेहुल चोकसी का वकील विपक्षी पार्टी का सदस्‍य- डोमिनिका में सुनवाई से पहले एंटीगा के PM का दावा

डोमिनिका की जेल में बंद है मेहुल चोकसी. (File pic)

डोमिनिका की जेल में बंद है मेहुल चोकसी. (File pic)

Mehul Choksi Case: एंटीगुआ (Antigua) के पीएम गैस्‍टन ब्राउन (Gaston Brown) ने कहा है कि मेहुल चोकसी ने विपक्षी पार्टी यूपीपी के सदस्‍य और पूर्व अटॉर्नी जनरल जस्टिन साइमन को अपना वकील नियुक्‍त किया है.

  • Share this:

नई दिल्‍ली. भारत के भगोड़े कारोबारी मेहुल चोकसी (Mehul Choksi) को देश वापस लाने के लिए प्रयास तेज हो गए हैं. इसके तहत डोमिनिका (Dominica) में बुधवार को उसके प्रत्‍यर्पण से संबंधित फैसले को लेकर सुनवाई होगी. उसे भारत लाने के लिए भारत से जांच एजेंसियों की टीम डोमिनिका पहुंच चुकी हैं. वहीं इस सुनवाई से पहले एंटीगा (Antigua) के प्रधानमंत्री गैस्‍टन ब्राउन (Gaston Brown) ने दावा किया है कि मेहुल चोकसी की वकालत करने वाला वकील विपक्षी पार्टी का सदस्‍य है. वह राजनीतिक स्‍वार्थ के साथ काम कर रहा है.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार एंटीगा के पीएम गैस्‍टन ब्राउन ने कहा है कि मेहुल चोकसी ने विपक्षी पार्टी यूपीपी के सदस्‍य और पूर्व अटॉर्नी जनरल जस्टिन साइमन को अपना वकील नियुक्‍त किया है. हमारे पास यह जानकारी है कि उन्‍होंने कैंपेन की फंडिंग के लिए चोकसी की सुरक्षा का वादा किया था.

उन्‍होंने कहा, 'इसीलिए वे इस बात के लिए उग्र हैं कि चोकसी को डोमिनिका से भारत नहीं भेजा जाना चाहिए, बल्कि उसे एंटीगा वापस भेज देना चाहिए जहां वह नागरिकता के संवैधानिक संरक्षण के पीछे छिपा रह सके.' बता दें कि एंटीगा की सरकार ने 14 अक्‍टूबर, 2019 को मेहुल चोकसी की नागरिकता खत्‍म कर दी थी.

वहीं चोकसी के वकील जस्टिन साइमन का कहना है कि उन्‍हें अपने क्‍लाइंट और यूपीपी के बीच के संबंध की कोई जानकारी नहीं है. उन्‍होंने कहा, 'मैं यूपीपी सरकार के दौरान अटॉर्नी जनरल बनाया गया था और मैंने अप्रैल 2004 से 10 साल तक इस पद पर काम किया. मैं लगातार पार्टी को समर्थन करता हूं. लेकिन मैं उसका कार्यकारी सदस्‍य नहीं हूं. मैं चोकसी और यूपीपी के बीच के संबंधों या पीएम द्वारा किए गए चोकसी की ओर से फंड देने के दावे से पूरी तरह अनभिज्ञ हूं. मैं उसे सुरक्षा के वादे से भी अंजान हूं.'
बता दें कि जांच एजेंसी सीबीआई के एक उप महानिरीक्षक (डीआईजी) के नेतृत्व में विभिन्न एजेंसियों के अधिकारियों की एक टीम डोमिनिका गई है और यदि इस कैरिबियन द्वीप देश की अदालतें फरार हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी को भारत निर्वासित करने की अनुमति देती हैं तो उसे वापस लाया जा सकेगा.

इस टीम में सीबीआई के दो सदस्य हैं. अधिकारियों की टीम डोमिनिका पहुंच गई है जहां चोकसी का मामला कल (स्थानीय समयानुसार) डोमिनिका के उच्च न्यायालय के समक्ष सुनवाई के लिए लाया जाएगा.




चोकसी 23 मई को एंटीगा से रहस्यमय तरीके से लापता हो गया था जहां वह 2018 से एक नागरिक के रूप में रह रहा है. उसे पड़ोसी डोमिनिका में अवैध रूप से प्रवेश करने पर हिरासत में लिया गया था.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज