LIVE संसद सत्र के दौरान सांसद ने पार्टनर के प्राइवेट पार्ट को किया किस, देना पड़ा इस्तीफा

फोटो सौ. (ट्विटर)
फोटो सौ. (ट्विटर)

अर्जेंटीना (Argentina) में एक सांसद को इसलिए निलंबित कर दिया गया क्योंकि वह ऑनलाइन संसद सत्र की कार्यवाही के दौरान अपने पार्टनर के प्राइवेट पार्ट को किस करने लगे थे. बता दें, यह वीडियो यूट्यूब (Youtube) चैनल के जरिए लाइव प्रसारित भी हो गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 26, 2020, 8:34 PM IST
  • Share this:
ब्यूनर्स ऑयर्स. कोरोना महामारी की वजह से अर्जेंटीना में इन दिनों संसद सत्र की कार्यवाही ऑनलाइन (Online) चल रही है. मिल रही जानकारी के मुताबिक, एक सांसद जुआन एमिलियो अमेरी ऑनलाइन सत्र के दौरान ही अपने पार्टनर के प्राइवेट पार्ट (Private Part) को किस करने लगे. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अर्जेंटीना के निचले सदन के सभी सदस्य उस समय आश्चर्य चकित रह गए जब एक सांसद बीच डिबेट में ही पार्टनर के प्राइवेट पार्ट का चुंबन लेने लगे. इसके बाद उन्हें उनके इस व्यवहार की वजह से निलंबित कर दिया गया. बाद में इस मामले में सांसद अमेरी ने अपनी तरफ से सफाई भी जारी किया है.

इस मामले में सांसद अमेरी ने बाद में एक रेडियो साक्षात्कार में माफी मांगी है. उन्होंने कहा कि उन्हें नहीं पता था कि उस समय वह लाइव हैं. इसके बाद सांसद ने यह भी कहा कि हाल में पार्टनर के स्तन की सर्जरी हुई थी. इसी वजह से मैंने उसे पास बुलाया और पूछा कि सर्जरी के बाद उनके इम्प्लांट्स कैसे हैं...इसके बाद ही मैंने उसे पास बुलाकर उसके स्तन पर चुंबन किया था. सासंद अमेरी को भले ही लगा हो कि वह ऑफलाइन था लेकिन इसके बाद फुटेज तुरंत वायरल हो गया. इस दौरान सांसद के इस व्यवहार को न सिर्फ दूसरे सांसदों ने बल्कि उस दौरान सदन की कार्रवाई देख रहे सभी लोगों ने देखा.

ये भी पढ़ें: सही जगह पर नहीं थे शरीर के अंदरूनी अंग, फिर भी 99 साल तक जीवित रही महिला



अहम बहस के दौरान घटी ये घटना
बता दें कि सदन में पेंशन फंड निवेश के बारे में जारी एक अहम बहस के दौरान यह निंदनीय घटना घटी. और यह सारा वाकया ऑनलाइन के जमाने में टीवी व YouTube चैनल के माध्यम से लाइव प्रसारित हो गया. इस घटना के बाद सांसद जुआन एमिलियो अमेरी ने दावा किया कि उन्हें लगा कि वह घटना के दौरान वह ऑफलाइन थे. लेकिन, निचले सदन के अध्यक्ष सर्जियो मस्सा द्वारा आदेश देने के बाद उन्हें गुरुवार को इस्तीफा देना ही पड़ा. अध्यक्ष ने कहा कि सत्र के दौरान सांसद से इस तरह के व्यवहार की अपेक्षा नहीं की जाती है. इस व्यवहार से सदन शर्मसार हुआ है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज