• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • UNICEF की बैठक में पाकिस्तान उठा रहा था कश्मीर का मुद्दा, भारत ने यूं की बोलती बंद

UNICEF की बैठक में पाकिस्तान उठा रहा था कश्मीर का मुद्दा, भारत ने यूं की बोलती बंद

पाकिस्तान की ये बौखलाहट कोलंबो में हो रही यूनिसेफ की एक कॉन्फ्रेंस में भी साफ दिखी.

पाकिस्तान की ये बौखलाहट कोलंबो में हो रही यूनिसेफ की एक कॉन्फ्रेंस में भी साफ दिखी.

श्रीलंका (Sri Lanka) के कोलंबो में चल रही साउथ एशियन पार्लियामेंटेरिन कॉन्फ्रेंस (South Asian Parliamentarian Conference) में चाइल्ड राइट्स कंवेंशन (Children Right’s Convention) में पाकिस्तान ने कश्मीर का मुद्दा उठाने की कोशिश की लेकिन भारत ने पाकिस्तान को वहीं पस्त कर दिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:
    जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) से आर्टिकल 370 (Article 370) के अधिकतर प्रावधान हटाए जाने और राज्य को दो केंद्रशासित प्रदेशों में बांटने के भारत सरकार के फैसले के बाद से भारत (India) और पाकिस्तान (Pakistan) के बीच तनाव कायम है. पाकिस्तान कई बार अंतरराष्ट्रीय मंचों पर भी इस मामले को उठाने की कोशिश कर चुका है लेकिन हर जगह से उसे नाकामी हाथ लग रही है. ऐसे में पाकिस्तान की खिसियाहट कई बार दिख चुकी है. पाकिस्तान की ये बौखलाहट कोलंबो (Colombo) में हो रही यूनिसेफ (UNICEF) की एक कॉन्फ्रेंस में भी साफ दिखी.

    श्रीलंका (Sri Lanka) के कोलंबो में चल रही साउथ एशियन पार्लियामेंटेरिन कॉन्फ्रेंस (South Asian Parliamentarian Conference) में चाइल्ड राइट्स कंवेंशन (Children Right’s Convention) में पाकिस्तान ने कश्मीर का मुद्दा उठाने की कोशिश की लेकिन भारत ने पाकिस्तान को वहीं पस्त कर दिया.

    पाक के दावों को यूं किया खारिज
    पाकिस्तान को यूनिसेफ की इस कॉन्फ्रेंस में भारत के प्रतिनिधि गौरव गोगोई (Gaurav Gogoi) ने पकिस्तान को सीधा जवाब दिया. असम की कलियाबोर सीट से सांसद गौरव गोगोई ने पाकिस्तान को जवाब देते हुए कहा कि जम्मू और कश्मीर भारत का आंतरिक मामला है और भारतीय लोकतंत्र में हितधारकों के रूप में मैं आपको सलाह देना चाहूंगा कि आप अपने देश में मानवाधिकार, अल्पसंख्यकों की दुर्दशा और ईश निंदा कानून जैसे मामलों से निपटें.

     

     

     

     

     

    Gaurav Gogoi
    पाकिस्तान को यूनिसेफ की इस कॉन्फ्रेंस में भारत के प्रतिनिधि गौरव गोगोई ने पकिस्तान को सीधा जवाब दिया


    गौरव गोगोई ने इसे लेकर एक ट्वीट भी किया है. उन्होंने लिखा है कि कोलंबो में चल रही साउथ एशियन पार्लियामेंटेरिन कॉन्फ्रेंस चाइल्ड राइट्स कंवेंशन को लेकर चल रही कॉन्फ्रेंस में भारत की प्रेज़ेंटेशन के बाद पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर का मुद्दा उठाने की कोशिश की लेकिन हमने उन्हें सीडब्लूसी रिसॉल्यूशन की पुष्टि करते हुए कहा कि इस मामले में कोई भी बाहरी दखल बर्दाश्त नहीं की जाएगी



    मालदीव में भी पाक को किया था पस्त
    इससे पहले भारत ने रविवार को मालदीव में दक्षिण एशिया की संसदों के अध्यक्षों के शिखर सम्मेलन के दौरान कश्मीर मुद्दा उठाने की पाकिस्तान की कोशिश नाकाम कर दी. भारत ने कहा कि इस्लामाबाद को आतंकवाद को सभी तरह का राजकीय सहयोग खत्म करना चाहिए क्योंकि यह मानवता के लिए ‘सबसे बड़ा खतरा’ है. मालदीव की संसद में हुए इस सम्मेलन के दौरान दोनों देशों के प्रतिनिधियों के बीच तीखी नोकझोंक हुई. सम्मेलन में दक्षिण एशियाई देशों के प्रतिनिधि जुटे थे.

    पाक के सारे दावे हुए फेल
    इसके बाद सोमवार को ‘‘माले घोषणापत्र’’ को स्वीकार किया गया, जिसमें ‘‘सर्वसम्मति’’ से यह माना गया कि कश्मीर भारत का ‘‘आंतरिक विषय’’ है और इस मुद्दे पर पाकिस्तान के सभी दावों को पूरी तरह नजरअंदाज कर दिया गया.

    मालदीव में दक्षिण एशिया के स्पीकरों के शिखर सम्मेलन में कश्मीर मुद्दा उठाने के पाकिस्तान के प्रयासों को भारत द्वारा विफल किए जाने के एक दिन बाद सोमवार को जिस माले घोषणापत्र को स्वीकार किया गया, उसमें इस मुद्दे पर पाकिस्तान के सभी दावों की अनदेखी की गई.

    ये भी पढ़ें-
    ऐसे जम्मू-कश्मीर का विकास करेगी मोदी सरकार

    J&K: तनाव के दावे फेल, भारतीय सेना में भर्ती होने पहुंचे 29,000 युवा

     

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज