अपना शहर चुनें

States

एरिजोना, विस्कोंसिन में भी बाइडन विजेता घोषित, ट्रंप के आरोपों का दम निकला

एरिजोना और विस्कोंसिन ने भी रीकाउंट में प्रेजिडेंट इलेक्ट बाइडन को विजेता घोषित कर दिया है.
एरिजोना और विस्कोंसिन ने भी रीकाउंट में प्रेजिडेंट इलेक्ट बाइडन को विजेता घोषित कर दिया है.

Arizona Wisconsin certify Bidens win: राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के चुनाव धांधली से जुड़े आरोप अब बेबुनियाद साबित होते नज़र आ रहे हैं. अमेरिका के राज्यों एरिजोना और विस्कोंसिन ने भी रीकाउंट में प्रेजिडेंट इलेक्ट बाइडन को विजेता घोषित कर दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 1, 2020, 9:52 AM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. अमेरिका के राज्यों एरिजोना (Arizona) और विस्कोंसिन (Wisconsin) ने राष्ट्रपति पद के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बाइडन (Joe Biden) को औपचारिक रूप से चुनाव का विजेता प्रमाणित किया. राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने 2016 के चुनाव में इन दोनों ही राज्यों से जीत दर्ज की थी. विस्कोंसिन में बाइडन ने 20,700 मतों से ट्रंप पर जीत दर्ज की है. बाइडन की इस जीत के बाद अब ट्रंप के चुनाव धांधली से जुड़े आरोपों में कोई दम नज़र नहीं आ रहा है, खुद ट्रंप भी अब व्हाइट हाउस छोड़ने के लिए तैयार हो गए हैं.

चुनाव परिणाम को प्रमाणित करते हुए विस्कोंसिन के गवर्नर टोनी इवर्स ने कहा, 'तीन नवंबर को हुए चुनाव को प्रमाणित करने का आज मैं दायित्व निभा रहा हूं तथा राज्य एवं संघीय कानून के अनुसार मैंने नव निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन और नव निर्वाचित उप राष्ट्रपति कमला हैरिस की जीत के प्रमाणपत्र पर हस्ताक्षर किए हैं.' ट्रंप के अनुरोध पर विस्कोंसिन की दो काउंटी में एक दिन पहले मतों की पुनर्गणना की प्रक्रिया पूरी हुई थी. परंपरागत रूप से रिपब्लिक पार्टी का गढ़ माने जाने वाले एरिजोना ने भी बाइडन को विजेता घोषित किया है. यहां बाइडन ने दस हजार से भी अधिक मतों से जीत दर्ज की है. अब बाइडन के खाते में 306 इलेक्टोरल कॉलेज वोट हैं जबकि ट्रंप को 232 इलेक्टोरल कॉलेज वोट मिले हैं. इन चुनाव परिणामों को चुनौती देने के लिए ट्रंप के पास पांच दिन का वक्त है.

ट्रंप ने रीकाउंट के नतीजे को भी बताया भ्रष्टाचार
उधर ट्रंप ने ट्वीट किया, 'पूरा का पूरा भ्रष्टाचार. देश के लिए दुख होता है.' ट्रंप ने रविवार को एक बार फिर अपने बेबुनियाद दावे दोहराते हुए कहा कि तीन नवम्बर को हुए राष्ट्रपति चुनाव अमेरिकी इतिहास के सबसे असुरक्षित चुनाव थे. विस्कॉन्सिन की दो काउंटी में मतों की पुन: गणना के दिन ट्रंप ने ट्वीट किया, 'हमारे 2020 के चुनाव..... अभी तक के सबसे असुरक्षित चुनाव थे.' उन्होंने दूसरे ट्वीट में आरोप लगाया, 'चुनाव धोखाधड़ी के संबंध में जारी हमारे मुकदमों पर कुछ बड़ी बातें सामने आई हैं. हर किसी को पता है, इसमें धांधली हुई. उन्हें पता है कि (डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो) बाइडन को अश्वेत समुदाय से (अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक) ओबामा की तुलना में अधिक वोट नहीं मिले और 80,000,000 वोट तो निश्चित तौर पर नहीं मिले. देखिए डेट्रायट, फ़िलाडेल्फिया में क्या हुआ.'
येलेन को वित्त मंत्री, नीरा टंडन को ओएमबी निदेशक पद


बाइडन ने सोमवार को वित्त मंत्री के पद के लिए जेनेट येलेन को और व्हाइट हाउस के शीर्ष पद ‘प्रबंधन एवं बजट कार्यालय’ निदेशक के रूप में भारतीय-अमेरिकी नीरा टंडन को नामित किया. अगर अमेरिकी सीनेट से इसकी पुष्टि हो जाती है तो 74 वर्षीय येलन 231 साल के इतिहास में वित्त मंत्रालय का नेतृत्व करने वाली पहली महिला होंगी. वहीं अगर अमेरिकी सीनेट में इस पद के लिए टंडन (50) के नाम की पुष्टि हो जाती है, तो वह व्हाइट हाउस में प्रभावशाली ‘प्रबंधन और बजट कार्यालय’ (ओएमबी) की प्रमुख बनने वाली पहली अश्वेत महिला होंगी. टंडन वर्तमान में वामपंथी झुकाव वाले ‘सेंटर फॉर अमेरिकन प्रोग्रेस’ की मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं.

बाइडन ने संयुक्त राष्ट्र महासचिव से चर्चा की
बाइडन ने सोमवार को संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस से बात की, दोनों के बीच कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई सहित जरूरी वैश्विक मुद्दों पर साझेदारी को मजबूत बनाने के संबंध में चर्चा हुई. अस्थाई प्रशासन ने बताया कि दोनों के बीच भविष्य में स्वास्थ्य के क्षेत्र में आने वाली चुनौतियां से निपटने का तरीका विकसित करने, जलवायु परिवर्तन से निपटने, मानवीय संकट दूर करने, सतत विकास को प्रोत्साहित करने, शांति और सुरक्षा बनाए रखने, संघर्षों को समाप्त करने और लोकतंत्र तथा मानवाधिकारों को प्रोत्साहित करने पर भी चर्चा हुई.



उसके अनुसार, देश के अगले राष्ट्रपति ने इथोपिया में बढ़ती हिंसा और उससे नागरिकों के लिए पैदा खतरा पर भी चिंता जताई. बाइडन ने अर्जेंटिना के राष्ट्रपति एल्बर्टो फर्नांडेज से भी बात की और कोविड-19 पर काबू पाने के लिए साथ मिलकर काम करने की बात कही. बयान के अनुसार, 'उन्होंने (बाइडन) आर्थिक समृद्धि को बढ़ाने, जलवायु परिर्वतन से लड़ने, लाकेतंत्र को मजबूत बनाने, क्षेत्रीय प्रवासियों के आवागमन के मुद्दे को देखने और अन्य साझी चुनौतियों से निपटने में गोलार्द्ध में गहरी साझेदारी पर जोर दिया.' बाइडन ने अर्जेंटिना और लातिन अमेरिका के लिए पोप के महत्व को भी स्वीकार किया. कोस्टा रिका के राष्ट्रपति कार्लोस अल्वाराडो के साथ फोन पर बातचीत में बाइडन ने मानवाधिकार, क्षेत्रीय प्रवास, कोविड-19 और जलवायु संबंधी खतरों पर काम के लिए देश के नेतृत्व की सराहना की. बाइडन ने केन्या के राष्ट्रपति केन्याटा से बात कर विभिन्न मुद्दों पर देश के साथ साझेदारी करने की बात कही.




अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज