• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • लेबनान विस्फोट के मलबे से आयत नजीर ने बनाई मूर्ति, कहा- ये हमें एकजुट करेगी

लेबनान विस्फोट के मलबे से आयत नजीर ने बनाई मूर्ति, कहा- ये हमें एकजुट करेगी

लेबनान विस्फोट के कचरों से नजीर आयत ने खूबसूरत मूर्ति बनाई. फोटो: Instagram

लेबनान विस्फोट के कचरों से नजीर आयत ने खूबसूरत मूर्ति बनाई. फोटो: Instagram

LEBANON BLAST: लेबनान की कलाकार आयत नज़ीर (Ayat Naer) ने कुछ महीने पहले राजधानी बेरूत में हुए जोरदार धमाके में टूट-फूट के चलते बिखरे धातुओं, टूटे हुए कांच और मलबे से एक खूबसूरत मूर्ति (Beautiful Statue) बनाई है.

  • Share this:
    बेरूत. लेबनान (Lebanon) की कलाकार आयत नज़ीर (Ayat Nazer) ने कुछ महीने पहले राजधानी बेरूत में हुए जोरदार धमाके में टूट-फूट के चलते बिखरे धातुओं, टूटे हुए कांच और मलबे से एक खूबसूरत मूर्ति बनाई है. आयत ने इस मर्ति (Statute) की फोटो अपने इंस्टाग्राम पर पोस्ट कर दी. आयत की मूर्ति को बहुत बड़े पैमाने पर लोगों ने पसंद किया है. दरअसल, आयत नज़ीर 4 अगस्त को बेरूत जा रही थी जब बंदरगाह पर अमोनियम नाइट्राइट का एक बड़ा भंडार फट गया और इस धमाके में 190 लोग मारे गए और 6,000 से अधिक लोग घायल हो गए. इस धमाके के चलते 3,00,000 से अधिक लोगों को बेघर होना पड़ा. लेबनान पहले से ही राजनीतिक उथल-पुथल, आर्थिक पतन और बिगड़ते हालात और कोरोनोवायरस के प्रकोप से उबरने की कोशिश कर रहा था लेकिन इन सबके बीच इस विस्फोट ने हालात को बेकाबू बना दिया.

    'विस्फोट के बाद मेरा दिल टूट गया और मैं तबाह हो गई'

    33 साल की आयत नज़ीर ने इस विस्फोट की तबाही के बारे में सीएनएन को बताया कि इस विस्फोट से मेरा दिल टूट गया था और मैं पूरी तरह से तबाह हो गई थी. मुझे बहुत बड़ा आघात पहुंचा था और ईमानदारी से कहूं तो लेबनान में हम सभी को आघात पहुंचा है. विस्फोट के बाद नज़ीर भी अन्य निवासियों की तरह मलबे को साफ करने और शहर को उसके पुराने गौरव को वापिस दिलाने की कोशिशों में शामिल हो गई.

    मूर्ति बनाने के लिए लोगों ने दान में दी बेशकीमती चीजें

    नजीर ने कहा कि शहर की सफाई के दौरान की उसके मन में एक ऐसी प्रतिमा बनाने का विचार आया जो उसके देश के लोगों को एकजुट होने और शहर के पुनर्निर्माण के लिए प्रेरित कर सके. हफ्तों तक नज़ीर बेरूत की सड़कों पर घूमती रही और मूर्तिकला में उपयोग होने वाली धातु, टूटे हुए कांच और लोगों के फेंके हुए सामान को एकत्र करती रही. नज़ीर का कहना है कि विस्फोट के बाद वह लोगों के तबाह हुए घरों में गई और उनसे अपनी मूर्तिकला में उन्हें हिस्सा बनाने के लिए सामान माँगा. वो यह देखकर हैरान थी कि लोगों ने उन्हें उनके वे बेशकीमती और बहुमूल्य चीजें जो उनके दादा के जमाने की थीं और जिन्हें वे अपने बच्चों के लिए रखना चाहते थे, तक दे दिए.

    मूर्ति में एक टूटी घड़ी में विस्फोट का समय भी दर्शाया गया है

    नजीर ने जब सामान इकट्ठा कर लिया तो उससे उसने उससे लेबनान के झंडे को उठाये एक महिला की प्रतिमा का निर्माण किया. इस महिला के बाल और कपड़े हवा में लहराते हुए दिखाया गया था. इस मूर्ति का अभी तक कोई नाम नहीं रखा गया है. इस मूर्ति में विस्फोट के क्षण का समय 6:08 दिखाती हुई एक क्षतिग्रस्त घड़ी भी दिखाई गई है.

    ये भी पढ़ें: फ्रांस: 72 घंटे में दूसरा हमला, चर्च के गेट पर पादरी को गोली मारी, हमलावर फरार

    PHOTOS: फ्रांस राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों की बूट प्रिंट वाली तस्वीर हो रही है पॉपुलर

    2019 में भी नज़ीर ने "द फीनिक्स" नामक एक मूर्ति का निर्माण किया था, जो देश की राजनीतिक उथल-पुथल के दौरान काउंटर प्रोटेक्टर्स द्वारा तोड़े गए टेंट से बनाया गया था. कार्य में राख से उठने वाले पौराणिक पक्षी को दर्शाया गया है. उसने दंगों में बरसाए गए पत्थरों और आंसू गैस के कनस्तरों से एक बहुत विशाल दिल भी बनाया है. नज़ीर का कहना है कि एक विस्फोट के बाद आप दुबारा अपने घरों और इमारतों का निर्माण कर सकते हैं लेकिन जो आप वापस नहीं ला सकते, वह आपकी यादें हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज