एस्ट्राजेनेका-ऑक्सफोर्ड सितंबर तक तैयार करेंगे 2 बिलियन corona वैक्सीन, काम शुरू

एस्ट्राजेनेका-ऑक्सफोर्ड सितंबर तक तैयार करेंगे 2 बिलियन corona वैक्सीन, काम शुरू
साल के अंत तक मिल जाएगी कोरोना की वैक्सीन

फार्मा कंपनी एस्ट्राजेनेका (AstraZeneca), ऑक्सफोर्ड यूनिवसिर्टी के साथ भागीदारी में कोरोना वायरस वैक्सीन बना रही है और इसको इस वैक्सीन के विकास के लिए काफी तगड़ा कैन्डीडेट माना जा रहा है.

  • Share this:
लंदन. ब्रिटिश फार्मा कंपनी एस्ट्राजेनेका (AstraZeneca), ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के साथ मिलकर सितंबर माह तक 2 बिलियन कोरोना वैक्सीन का उत्पादन करने की योजना बना रही है. एस्ट्राजेनेका के मुख्य कार्यकारी पास्कल सोरियोट ने बीबीसी रेडियो को बताया, 'अब तक हम ट्रैक पर हैं. हम अभी इस वैक्सीन का निर्माण शुरू कर रहे हैं. हमारी वर्तमान धारणा यह है कि गर्मियों के अंत तक, यानी अगस्त तक हमारे पास इसका पूरा डेटा होगा.' इस बीच, अमेरिका (America) ने भी कहा है कि उसने पहले ही दो मिलियन वैक्सीन का उत्पादन कर लिया है, जिसकी बस सुरक्षा जांच होनी बाकी है.

बता दें, ब्रिटेन की फार्मा कंपनी AstraZeneca ने कुछ दिन पहले भारतीय कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और बिलगेट्स समर्थित दो ग्लोबल हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन के साथ एक करार किया है. इसके तहत इस साल और अगले साल के दौरान AstraZeneca की संभावित कोरोना वायरस वैक्सीन के 2 अरब खुराक की सप्लाई की जाएगी.

इसके पहले कंपनी अमेरिका और ब्रिटिश सरकार को भी अपनी संभावित कोरोना वायरस वैक्सीन की सप्लाई के लिए सहमति दे चुकी है. AstraZeneca ने 4 जून को दिए गए अपने बयान में कहा था कि उसने दुनिया की सबसे बड़ी वैक्सीन बनाने वाली भारतीय कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के साथ एक करार किया है जिसके तहत मध्यम और निम्न आय वर्ग के देशों में उसके संभावित कोरोना वायरस वैक्सीन के 1 अरब खुराक की सप्लाई की जायेगी.



अमेरिकी सरकार से 1 अरब डॉलर से ज्यादा का अनुदान
AstraZeneca ऑक्सफोर्ड यूनिवसिर्टी के साथ भागीदारी में कोरोना वायरस वैक्सीन बना रही है और इसको इस वैक्सीन के विकास के लिए काफी तगड़ा कैन्डीडेट माना जा रहा है. कंपनी को पिछले महीने अपनी टेस्टिंग और मैन्यूफैक्चरिंग गतिविधियों को बढ़ाने के लिए अमेरिकी सरकार से 1 अरब डॉलर से ज्यादा का अनुदान मिला था.

दुनिया में करीब 100 कोरोना वैक्सीन के विकास पर काम
सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute of India) के सीईओ अदार पूनावाला ने मीडिया से कहा कि उनको AstraZeneca के साथ भागीदारी से काफी खुशी हो रही है. इससे कंपनी को भारत और दुनिया के दूसरे निम्न और मध्यम आय वर्ग के देशों में कोरोना वैक्सीन की सप्लाई का मौका मिलेगा. पिछले 50 साल में सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने वैश्विक स्तर पर वैक्सीन उत्पादन और आपूर्ति के क्षेत्र में बड़ी उपलब्धियां हासिल की हैं. हम निम्न और मध्यम आय वर्ग के देशों में कोरोना वैक्सीन के बिना किसी पक्षपात और भेदभाव के सप्लाई में सहयोग करने के लिए AstraZeneca के साथ मिलकर काम करेंगे. बता दें कि इस समय दुनिया में करीब 100 कोरोना वैक्सीन के विकास पर काम चल रहा है. कोरोना से दुनिया की करीब 65 लाख की अबादी प्रभावित हुई है.

ये भी पढ़ें: दुनिया में corona से मरने वालों की संख्या चार लाख के पार, कुल मामले 70 लाख के करीब
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज