लाइव टीवी

रूसी तट के पास दो जहाजों में लगी आग, 11 लोगों की मौत, 15 भारतीय भी थे सवार

भाषा
Updated: January 22, 2019, 11:10 AM IST
रूसी तट के पास दो जहाजों में लगी आग, 11 लोगों की मौत, 15 भारतीय भी थे सवार
इस हादसे में कम से कम 11 लोगों की मौत हो गई.

इनमें से एक पोत कैंडी में चालक दल के 17 सदस्य मौजूद थे, जिनमें नौ तुर्की नागरिक एवं आठ भारतीय नागरिक थे. दूसरे पोत माइस्ट्रो में सात तुर्की नागरिकों, सात भारतीय नागरिकों और लीबिया के एक इंटर्न समेत चालक दल के 15 सदस्य सवार थे.

  • Share this:
रूस से क्रीमिया को अलग करने वाले केर्च जलडमरूमध्य (स्ट्रेट) में दो पोतों में आग लग गई. इस हादसे में कम से कम 11 लोगों की मौत हो गई. मीडिया में मंगलवार को आई खबरों के मुताबिक इन पोतों के चालक दल के सदस्यों में भारत, तुर्की और लीबिया के नागरिक शामिल थे.

यह आग रूसी सीमा के जलक्षेत्र के पास सोमवार को लगी थी. दोनों पोतों पर तंजानिया के ध्वज लहरा रहे थे. इनमें से एक तरलीकृत प्राकृतिक गैस (लिक्विफाइड नैचुरल गैस) लेकर जा रहा था, जबकि दूसरा तेल टैंकर था. यह आग तब लगी जब दोनों पोत एक-दूसरे से ईंधन ट्रांसफर कर रहे थे.

ये भी पढ़ें- बर्बाद हो रहा चीन, इकॉनमी सुधारने के लिए छुट्टी देकर कर्मचारियों से करा रहा शॉपिंग

रूसी संवाद समिति तास ने समुद्री अधिकारियों के हवाले से बताया कि इनमें से एक पोत कैंडी में चालक दल के 17 सदस्य मौजूद थे, जिनमें नौ तुर्की नागरिक एवं आठ भारतीय नागरिक थे. दूसरे पोत माइस्ट्रो में सात तुर्की नागरिकों, सात भारतीय नागरिकों और लीबिया के एक इंटर्न समेत चालक दल के 15 सदस्य सवार थे.



ये भी पढ़ें- रूस के लिए काम कर रहे थे डोनाल्ड ट्रंप? जांच करेगी FBI

वहीं रूसी टेलिविजवन चैनल आरटी न्यूज ने रूसी समुद्री एजेंसी के हवाले से बताया कि कम से कम 11 नाविकों की मौत हुई है. एजेंसी के एक प्रवक्ता ने बताया, 'माना जा रहा है कि एक विस्फोट हुआ (एक पोत में). फिर यह आग दूसरे पोत तक फैल गई. बचाव नौका पहुंचाई जा रही है.”

ये भी पढ़ें- रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन फिर करने वाले हैं शादी!

प्रवक्ता ने बताया कि करीब तीन दर्जन नाविक नाव से कूद करबच निकल पाने में कामयाब हुए. अब तक 12 लोगों को समुद्र से निकाला जा चुका है. नौ नाविक अब भी लापता हैं.

खबर में बताया गया कि मौसम की मुश्किल परिस्थितियों की वजह से बचाव नौकाएं पीड़ितों को इलाज के लिए तट तक नहीं ले जा पा रही हैं.

केर्च जलडमरूमध्य एक महत्त्वपूर्ण जलमार्ग है, जो रूस और यूक्रेन दोनों के लिए ही सामरिक लिहाज से महत्त्व रखता है.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास,सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 22, 2019, 10:38 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर