अपना शहर चुनें

States

रोहिंग्या मामला: नरसंहार पर सुनवाई के लिए सू ची पहुंचीं अंतरराष्ट्रीय न्यायालय

आईसीजे में म्यांमार की पैरवी करने पहुंचीं आंग सांग सू की (Photo Credit- Twitter)
आईसीजे में म्यांमार की पैरवी करने पहुंचीं आंग सांग सू की (Photo Credit- Twitter)

मामले पर बांग्लादेश (Bangladesh) की भी नजर रहेगी, जहां सात लाख 40 हजार रोहिंग्या मुसलमानों (Rohingya Muslims) ने म्यांमार (Myanmar) के राखिने प्रांत में रक्तपात के बाद से पनाह ले रखी है.

  • Share this:
द हेग. नोबेल शांति पुरस्कार (Nobel Peace Prize) से सम्मानित आंग सान सू ची (Aung San Suu Kyi) मंगलवार को संयुक्त राष्ट्र (United Nations) के शीर्ष अदालत में पहुंचीं, जहां वह रोहिंग्या मुसलमानों (Rohingya Muslims) के नरसंहार के आरोपों पर खुद म्यांमार की पैरवी करेंगी. बर्मा (Burma) का परंपरागत परिधान पहने हुए नागरिक नेता ने वहां मौजूद मीडिया से कोई बात नहीं की. वह कार से बाहर निकलीं ओर द हेग (The Hague) में अंतरराष्ट्रीय न्यायालय (International Court of Justice) के परिसर में चली गईं.

पश्चिम अफ्रीकी देश गाम्बिया ने यह मामला उठाया है. रोहिंग्या मुसलमानों के खिलाफ 2017 में सैन्य अभियान को लेकर म्यांमार को न्याय के कटघरे में लाने की यह पहली कोशिश है. एक समय सू ची ने महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) और नेल्सन मंडेला (Nelson Mandela) के बताए रास्तों का अनुसरण करने की बात कही थी लेकिन रोहिंग्या मुसलमानों के खिलाफ चलाए गए अभियान पर चुप्पी से उनकी अंतरराष्ट्रीय साख को धक्का लगा.

बांग्लागेश की पनाह में हैं लाखों रोहिंग्या
मामले पर बांग्लादेश (Bangladesh) की भी नजर रहेगी, जहां सात लाख 40 हजार रोहिंग्या ने म्यांमार के राखिने प्रांत में रक्तपात के बाद से पनाह ले रखी है. संयुक्त राष्ट्र के जांच अधिकारियों ने पिछले साल रोहिंग्या के खिलाफ सैन्य कार्रवाई को नरसंहार बताया था.
मुस्लिम बहुल गाम्बिया 57 देशों के इस्लामिक सहयोग संगठन की ओर से कदम उठा रहा है. इस मामले पर गाम्बिया मंगलवार को टिप्पणी करेगा. आरोप है कि म्यामां ने नरसंहार रोकने के लिए 1948 के समझौते का उल्लंघन किया. गाम्बिया न्यायालय से म्यामां में नरसंहार की कार्रवाई पर रोक लगाने के लिए कहेगा.



ये भी पढ़ें-
पाकिस्तान में भी नहीं मिलती धर्म के आधार पर नागरिकता, जानें क्या है नियम

कुलभूषण मामले में पाक का नया पैतरा, कहा- पाकिस्तानी वकील ही रखेगा जाधव का पक्ष
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज