ऑस्ट्रेलिया ने दिया चीन को झटका, हांगकांग के साथ की प्रत्यर्पण संधि स्थगित

ऑस्ट्रेलिया ने दिया चीन को झटका, हांगकांग के साथ की प्रत्यर्पण संधि स्थगित
ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन (फाइल फोटो)

ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन (Scott Morrison) ने कहा कि चीन द्वारा हांगकांग में थोपा गया नया राष्ट्रीय सुरक्षा कानून दुनियाभर की कई सरकारों के लिए "परिस्थितियों में मूलभूत परिवर्तन" को दर्शाता है.

  • Share this:
मेलबर्न. ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन (Scott Morrison) ने बृहस्पतिवार को विवादित चीनी राष्ट्रीय सुरक्षा कानून को लेकर हांगकांग (Hong Kong) के साथ देश की प्रत्यर्पण संधि को स्थगित करने की घोषणा की. इसके साथ ही उन्होंने पूर्व ब्रिटिश क्षेत्र के 10,000 छात्रों और अस्थायी कुशल श्रमिकों के लिए वीजा की पेशकश की, ताकि वे यहां नया जीवन शुरू सकें. पूर्व ब्रिटिश क्षेत्र हांगकांग में नया कानून थोपे जाने के बाद ऑस्ट्रेलिया ने यह कदम उठाया है. मॉरिसन ने कहा कि चीन द्वारा हांगकांग में थोपा गया नया राष्ट्रीय सुरक्षा कानून दुनियाभर की कई सरकारों के लिए "परिस्थितियों में मूलभूत परिवर्तन" को दर्शाता है.

उन्होंने कैनबरा में कहा, 'हांगकांग के साथ प्रत्यर्पण समझौते को स्थगित करने का हमारा निर्णय नए सुरक्षा कानून की वजह से हांगकांग के संबंध में परिस्थितियों के मूलभूत परिवर्तन की स्वीकारोक्ति को दर्शाता है. हमारे विचार में नया कानून 'एक देश, दो व्यवस्था' की रूपरेखा और हांगकांग के अपने बुनियादी कानून और चीन-ब्रिटिश संयुक्त घोषणा में प्रदत्त उच्च स्वायत्तता की अनदेखी करता है.' उन्होंने कहा कि आव्रजन ऑस्ट्रेलिया की शक्ति का एक स्तंभ रहा है और यह दुनियाभर के ऐसे लोगों के लिए स्वागत करने वाला देश रहा है. प्रधानमंत्री ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया सरकार हांगकांग स्थित कारोबार को यहां स्थापित करने का स्वागत करेगी.

ये भी पढ़ें: हांगकांग निवासियों को मिला ऑस्ट्रेलिया का साथ, दे सकता है अस्थायी सुरक्षा VISA



पिछले सप्ताह कर रहे थे विचार
इससे पहले ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने कहा था कि उनकी सरकार हांगकांग के उन निवासियों को पनाह मुहैया कराने पर विचार कर रही है जिन्हें इस अर्द्ध स्वायत्त क्षेत्र में सख्त राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लागू करने के चीन के कदम से खतरा है. मॉरिसन ने कहा था कि उनका मंत्रिमंडल ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन की तरह के ही अवसरों को मुहैया कराने पर जल्द ही विचार करेगा जिन्होंने हांगकांग वासियों को नागरिकता की पेशकश की है. मॉरिसन ने पत्रकारों से कहा था कि जब हम इस पर अंतिम निर्णय ले लेंगे तो मैं आपको बताऊंगा. लेकिन अगर आप पूछ रहे हैं कि हम समर्थन देने की तैयारी कर रहे हैं? तो जवाब है : हां.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading