लाइव टीवी

आजादी मार्चः मौलाना फजलुर रहमान ने इमरान खान को इस्तीफे के लिए दिया दो दिन का वक्त

News18Hindi
Updated: November 2, 2019, 9:02 AM IST
आजादी मार्चः मौलाना फजलुर रहमान ने इमरान खान को इस्तीफे के लिए दिया दो दिन का वक्त
इमरान खान को इस्तीफा देने के लिए 2 दिन की मोहलत

मौलाना फजलुर रहमान (Maulana Fazlur Rahman) ने इमरान खान (Imran Khan) को 'पाकिस्तान (Pakistan) का गोर्बाचोव' बताते हुए कहा कि वह आजादी मार्च (Azadi March) में शामिल शांतिपूर्ण प्रदर्शनकारियों के सयंम की परीक्षा लिए बिना पद छोड़ दें.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 2, 2019, 9:02 AM IST
  • Share this:
इस्लामाबाद. पाकिस्तान (Pakistan) में प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) के खिलाफ प्रदर्शन जारी है, प्रदर्शनकारियों का नेतृत्व कर रहे कट्टरपंथी धार्मिक नेता विशाल रैली के लिए शुक्रवार को यहां पहुंचे थे. मौलाना फजलुर रहमान ने इमरान खान सरकार को सत्ता से बेदखल करने के लिए 'आजादी मार्च' शुरू किया है, उन्होंने इमरान को इस्तीफा देने के लिए 2 दिन की मोहलत दी है.

इमरान को दी 2 दिन की मोहलत
दक्षिणपंथी जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम फजल (JUI-F) के प्रमुख मौलाना फजलुर रहमान ने प्रधानमंत्री इमरान खान को इस्तीफा देने के लिए 2 दिन की मोहलत दी है. उन्होंने खान को 'पाकिस्तान का गोर्बाचोव' बताते हुए कहा कि वह शांतिपूर्ण प्रदर्शनकारियों के सयंम की परीक्षा लिए बिना पद छोड़ दें. रहमान ने कहा कि संस्थाओं को नहीं, बल्कि केवल पाकिस्तान के लोगों को इस देश पर शासन करने का अधिकार है.

सिंध से शुरू हुआ आजादी मार्च

दक्षिणपंथी जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम फजल (जेयूआई-एफ) के प्रमुख मौलाना फजलुर रहमान ने 27 अक्टूबर को अन्य विपक्षी दलों के नेताओं के साथ दक्षिणी सिंध प्रांत से 'आजादी मार्च' शुरू किया था जो गुरुवार को इस्लामाबाद पहुंचा.

Azadi March - Fazlur Rahman gives Imran khan 2 day ultimatum to resignation

विपक्षी दल भी हुए शामिल
Loading...

इस्लामाबाद में यह आंकड़ा तब और बढ़ गया जब इस रैली में रहमान के अलावा पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज, पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी और अवामी नेशनल लीग के नेता भी शामिल हुए. पीपीपी प्रमुख बिलावल भुट्टो जरदारी ने रैली में सरकार का विरोध किया और कहा कि इमरान खान एक कठपुतली हैं.

2018 के आम चुनावों को बताया फर्जी
रहमान ने कहा 25 जुलाई 2018 हुआ आम चुनाव फर्जी है. हम न तो उसके नतीजों को स्वीकार करते हैं और न ही उस सरकार को जो उस चुनाव के बाद आई. पिछले एक साल से यह सरकार है लेकिन अब हम इसे और अधिक नहीं चाहते. खान के नेतृत्व वाली तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) पार्टी की सरकार ने अर्थव्यस्था को तबाह कर दिया है और देश के अस्तित्व को खतरे में डाल दिया है. पाकिस्तान के गोर्बाचेव को जाना ही होगा. हमनें खान को इस्तीफा देने के लिए 2 दिन का समय दिया है अगर ऐसा नहीं होता तो हम भविष्य तय करेंगे.

Azadi March - Fazlur Rahman gives Imran khan 2 day ultimatum to resignation

जमीयत प्रमुख ने कहा कि हम संस्थाओं से टकराव नहीं चाहते लेकिन उन्हें तटस्थ देखना चाहते हैं. हम संस्थाओं को विचार करने के लिए दो दिन का समय देते हैं और अगर इसके बावजदू वे इस सरकार का समर्थन जारी रखेंगे तो उसके बाद हम उन संस्थाओं के प्रति अपने विचार तय करेंगे.

करतारपुर गलियारे का विरोध
रहमान ने सरकार की कश्मीर नीति की आलोचना करते हुए कश्मीरियों को उनके हाल पर छोड़ देने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि सरकार करतारपुर गलियारा खोलकर भारत के साथ दोस्ती कर रही है. पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज के अध्यक्ष शाहबाज शरीफ ने रैली को संबोधित करते हुए कहा, समय आ गया है कि इस फर्जी सरकार से मुक्ति मिले. हम इमरान खान नियाजी को तब तक नहीं छोड़ेंगे जब तक कि पाकिस्तान उनसे मुक्त नहीं हो जाता.

शाहबाज शरीफ ने कहा, हमने इस सरकार से मुक्ति के लिए अभियान शुरू किया है और अब इसे मुकाम तक ले जाएंगे. उन्होंने दावा किया कि मौका मिलने पर एकजुट विपक्ष देश की अर्थव्यवस्था को छह महीने में स्थिर करके दिखाएगा. अवामी नेशनल पार्टी नेता मियां इफ्तिखार हुसैन ने कहा कि विपक्षी पार्टियां तब तक चुप नहीं बैठेंगी जब तक कि तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी को घर नहीं भेज दिया जाता.

बिलावल ने कहा कश्मीर बेच दिया
रैली में बिलावल ने कहा इमरान सरकार ने भारत को कश्मीर बेच दिया है जो लोगों को अस्वीकार्य है. बिलावल ने कहा कि इमरान खान की जीत सुनिश्चित करने के लिए सेना ने पिछले साल मतदान केंद्रों के भीतर और बाहर सैनिकों की तैनाती की थी. वहीं इस्लामाबाद में प्रदर्शन से बेपरवाह प्रधानमंत्री इमरान खान ने गिलगित-बाल्टिस्तान में जनसभा को संबोधित किया. उन्होंने पत्रकारों से कहा कि इस्लामाबाद में जब प्रदर्शनकारियों का खाना खत्म हो जाएगा तब वह और रसद भेजेंगे लेकिन उनके नेताओं को यह मदद स्वीकार नहीं करनी चाहिए. (भाषा इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें : 'आज़ादी मार्च' से घबराई इमरान सरकार, सेना अपने हाथ में ले सकती है लॉ एंड ऑर्डर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पाकिस्तान से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 2, 2019, 8:04 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...