अपना शहर चुनें

States

बहरीन ने भी दिया फाइजर की वैक्सीन को इमरजेंसी अप्रूवल, यहां तापमान बनेगा चुनौती

ब्रिटेन  Pfizer-BioNTech की कोरोना वैक्सीन को आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी दे चुका है. (सांकेतिक तस्वीर)
ब्रिटेन Pfizer-BioNTech की कोरोना वैक्सीन को आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी दे चुका है. (सांकेतिक तस्वीर)

बहरीन (Bahrain) पहले ही चीन निर्मित टीके ‘साइनोफार्म’ के आपात इस्तेमाल की मंजूरी दे चुका है और अबतक 6,000 लोगों के ये टीके लगाए हैं. फाइजर ने बताया कि बहरीन को टीके की आपूर्ति और खुराकों की संख्या सहित बिक्री का समझौता गुप्त है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 5, 2020, 12:28 PM IST
  • Share this:
दुबई. कोरोना वायरस (Corona Virus) के खिलाफ जंग में वैक्सीन (Corona Vaccine) तैयार कर रही फाइजर-बायोएनटेक (Pfizer-BioNTech) को बहरीन में आपातकाल इस्तेमाल की मंजूरी (Emergency Use Authorisation) मिल गई है. बहरीन की सरकारी संवाद एजेंसी ने शुक्रवार रात को इसकी घोषणा की. फाइजर और उसके जर्मन सहयोगी बायोनटेक के कोविड-19 (Covid-19) टीके को नागरिकों को लगाया जा सकेगा. ब्रिटेन के बाद इस वैक्सीन को मंजूरी देने वाला बहरीन दूसरा देश बन गया है.

एजेंसी ने बताया, ‘उपलब्ध आंकड़ों के गहन विश्लेषण और समीक्षा के बाद बहरीन के स्वास्थ्य नियामक एजेंसी ने इसके आपात इस्तेमाल की मंजूरी दी है.’ हालांकि, बहरीन ने यह नहीं बताया कि उसने टीके की कितनी खुराक खरीदी है और टीकाकरण कब शुरू होगा. एसोसिएटेड प्रेस के सवाल का भी बहरीन की प्राधिकारियों ने तत्काल कोई जवाब नहीं दिया.

यह भी पढ़ें: स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- विदेश से सस्ती होगी वैक्सीन, सबका खर्च नहीं उठाएगी सरकार- सूत्र



बाद में फाइजर ने बताया कि बहरीन को टीके की आपूर्ति और खुराकों की संख्या सहित बिक्री का समझौता गुप्त है और विस्तृत टिप्पणी करने से इनकार कर दिया. कंपनी ने बताया 'हमने वैक्सीन के सही ट्रांसपोर्टेशन, स्टोरेज और तापमान की जांच के लिए विस्तृत लॉजिस्टिक प्लान विकसित कर लिए हैं.' गौरतलब है कि बहरीन पहले ही चीन निर्मित टीके ‘साइनोफार्म’ के आपात इस्तेमाल की मंजूरी दे चुका है और अबतक 6,000 लोगों के ये टीके लगाए हैं.

बहरीन के सामने स्टॉक की चुनौती
फाइजर को अनुमति देने के बाद बहरीन में इसके रखे जाने को लेकर बड़ी चुनौती खड़ी हो गई है. खास बात है कि बहरीन मिडिलईस्ट में है, जहां गर्मियों में तापमान 40 डिग्री सेल्सियस के आसपास होता है. जबकि, फाइजर की इस वैक्सीन को करीब -70 डिग्री सेल्सियस तापमान की जरूरत होती है.

बहरीन की नेशनल हेल्थ रेग्युलेटरी अथॉरिटी की सीईओ डॉक्टर मरियम अल जलहमा ने कहा 'फाइजर/बायोएनटेक वैक्सीन को अप्रूवल मिलना कोविड-19 के खिलाफ राष्ट्रीय प्रतिक्रिया में एक जरूरी परत शामिल हो जाएगा, जिसने महामारी के दौरान सभी नागरिक और रहवासियों के स्वास्थ्य को सुरक्षित करने को हमेशा मजबूती से प्राथमिकता दी है.'
(भाषा इनपुट के साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज