लाइव टीवी

बांग्लादेश में किशोरी को जिंदा जलाए जाने के मामले में 16 लोगों को मृत्युदंड

News18Hindi
Updated: October 24, 2019, 3:46 PM IST
बांग्लादेश में किशोरी को जिंदा जलाए जाने के मामले में 16 लोगों को मृत्युदंड
किशोरी को जिंदा जलाए जाने के मामले में 16 लोगों को मृत्युदंड

नुसरत जहां रफी (Nusrat Jahan Rafi) ने एक मदरसे के मौलाना के खिलाफ यौन उत्पीड़न की शिकायत वापस लेने से इनकार कर दिया था जिसके कारण केरोसिन छिड़ककर उसे जिंदा जला दिया गया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 24, 2019, 3:46 PM IST
  • Share this:
फेनी (बांग्लादेश). बांग्लादेश (Bangladesh) की एक अदालत ने अप्रैल में 19 वर्षीय एक छात्रा को जिंदा जलाकर उसकी हत्या करने के मामले में गुरुवार को 16 लोगों को मौत की सजा सुनाई. इस घटना के विरोध में देशभर में व्यापक प्रदर्शन हुए थे. नुसरत जहां रफी (Nusrat Jahan Rafi) ने एक मदरसे के मौलाना के खिलाफ यौन उत्पीड़न की शिकायत वापस लेने से इनकार कर दिया था जिसके कारण केरोसिन छिड़ककर उसे जिंदा जला दिया गया था.

18 वर्षीय नुसरत बांग्लादेश के एक छोटे से शहर फेनी में रहती थी जहां 06 अप्रैल, 2019 को उसे जलाकर मार दिया गया था. नुसरत ने अपनी मदरसे के हेड मास्टर के खिलाफ यौन उत्पीड़न की शिकायत दर्ज कराई थी. जिसे लेकर उसपर शिकायत वापस लेने का दबाव बनाया जा रहा था लेकिन नुसरत ने शिकायत वापस लेने से इनकार कर दिया.

अभियोजक हाफिज अहमद ने लोगों की भारी भीड़ के बीच अदालत में फैसला सुनाए जाने के बाद संवाददाताओं से कहा कि यह फैसला साबित करता है कि बांग्लादेश में कोई हत्यारा कानून से नहीं बचेगा. हमारे यहां कानून का शासन है. (भाषा इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें : सीरिया-तुर्की सीमा की ओर बढ़ी रूसी सेना, कुर्दों को झटका

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 24, 2019, 3:46 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...