दिल्ली में बांग्लादेश उच्चायुक्त ने मनाई मुजीबुर रहमान की 101वीं जयंती

भारत में बांग्लादेश हाई कमीशन. (फाइल फोटो: ANI)

भारत में बांग्लादेश हाई कमीशन. (फाइल फोटो: ANI)

101st birth anniversary of Mujibur Rahman: बैठक के दौरान इमरान ने कहा कि बंगबंधु की विरासत और उनके आदर्श बंगाली राष्ट्र को हमेशा प्रोत्साहित करेंगे. इस दौरान उन्होंने शोनार बांग्ला के मकसद को लेकर काम कर रहीं उनकी बेटी पीएम हसीना की तारीफ भी की.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 27, 2021, 12:06 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत (India) की राजधानी नई दिल्ली स्थित बांग्लादेश हाई कमिशन (Bangladesh High Commission) में बंगबंधु शेख मुजीबुर रहमान (Sheikh Mujibur Rahman) की 101वीं जयंती मनाई गई. यह कार्यक्रम बुधवार को आयोजित किया गया था. रहमान को बांग्लादेश में 'राष्ट्रपिता' भी कहा जाता है. रहमान की साल 1975 में हत्या कर दी गई थी. कार्यक्रम की शुरुआत भारत में बांग्लादेश के उच्चायुक्त मोहम्मद इमरान ने राष्ट्रीय ध्वज फहराकर की.

समाचार एजेंसी एएनआई ने ढाका ट्रिब्यून के हवाले लिखा कि राष्ट्रीय ध्वज फहराकर मोहम्मद इमरान ने कार्यक्रम की शुरुआत की. ध्वजारोहण के बाद कार्यालय भवन में बंगबंधु की तस्वीर पर फूल अर्पित किए गए. इसके बाद राष्ट्रपति अब्दुल हामिद, प्रधानमंत्री शेख हसीना, विदेश मंत्री डॉक्टर अब्दुल मोमीन और मंत्री मोहम्मद शेहरयार आलम ने संदेश पढ़े.

बैठक के दौरान इमरान ने कहा कि बंगबंधु की विरासत और उनके आदर्श बंगाली राष्ट्र को हमेशा प्रोत्साहित करेंगे. इस दौरान उन्होंने शोनार बांग्ला के मकसद को लेकर काम कर रहीं उनकी बेटी पीएम हसीना की तारीफ भी की. उन्होंने कहा 'हमारे बच्चों को अब तक के सबसे महान बंगाली अपने राष्ट्रपिता के बारे में और ज्यादा सीखना चाहिए. ताकि वे देश को शोनार बांग्ला बनाने के उनके सपने को भविष्य में नेतृत्व प्रदान कर सकें.'



यह भी पढ़ें: कोविड-19 महामारी के बाद 26 मार्च को पीएम नरेंद्र मोदी बांग्लादेश के दौरे पर
एएनआई ने ढाका ट्रिब्यून के हवाले से लिखा कि इस दौरान बंगबंधु और 15 अगस्त 1975 में जान गंवाने वालों का अशीर्वाद पाने के लिए खास प्रार्थना की गई. बाद में उच्चायुक्त ने निबंध प्रतियोगिता और सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए. इससे पहले बुधवार को भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी मुजीबुर रहमान की जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित की थी.

पीएम मोदी का 26 मार्च को ढाका पहुंचने का कार्यक्रम तय है . इस दौरान वे बांग्लादेश की आजादी के गोल्डन जुबली और बंगबंधु की जन्मशताब्दी कार्यक्रम में शामिल होंगे. रहमान बांग्लादेश के पहले राष्ट्रपति थे और बाद में वे देश के प्रधानमंत्री बने.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज