बांग्लादेश ने कहा- NRC भारत का आंतरिक मुद्दा, लेकिन हमारी नजर है

बांग्लादेश ने कहा- NRC भारत का आंतरिक मुद्दा, लेकिन हमारी नजर है
पीएम मोदी और शेख हसीना की बातचीत में एनआरसी का मुद्दा भी उठाया गया. फोटो: पीटीआई

बांग्लादेश के विदेश सचिव शहिदुल हक ने बताया कि प्रधानमंत्री शेख हसीना (Sheikh Hasina) ने भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) के साथ द्विपक्षीय वार्ता के दौरान यह मुद्दा उठाया था.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली: बांग्लादेश (Bangladesh) ने शनिवार को कहा कि वैसे तो भारत का कहना है कि राष्ट्रीय नागरिक पंजी (NRC) देश का आंतरिक मामला है, लेकिन असम में उससे जुड़े घटनाक्रम पर नजर रखे हुए हैं. बांग्लादेश के विदेश सचिव शहिदुल हक ने बताया कि प्रधानमंत्री शेख हसीना (Sheikh Hasina) ने भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) के साथ द्विपक्षीय वार्ता के दौरान यह मुद्दा उठाया था. उन्होंने एनआरसी की पूरी प्रक्रिया समझाई. संवाददाता सम्मेलन में हक ने कहा, ‘हमें बताया गया है कि यह भारत का आंतरिक मुद्दा है. हमारा संबंध अभी अपनी सर्वोच्च ऊंचाई पर है. लेकिन साथ ही हम अपने आंखें खुली रखे हुए हैं.’

काफी समय से लंबित बीबीआईएन मोटर वाहन समझौते के बारे में हक ने संकेत दिया कि अगर भूटान इसका हिस्सा नहीं बनता तो भारत, नेपाल और बांग्लादेश इस पर हस्ताक्षर करेंगे. बांग्लादेश-भूटान-भारत-नेपाल (बीबीआईएन) मोटर वाहन समझौते का लक्ष्य चारों देशों के बीच परिवहन को बेहतर बनाना है.

असम से अवैध बांग्लादेशियों को प्रत्यर्पित करने संबंधी गृहमंत्री अमित शाह के बयान के संबंध में सवाल करने पर विदेश सचिव हक ने कहा, ‘इस स्तर पर अभी हमें राई का पहाड़ नहीं बनाना चाहिए और हमें इंतजार करना चाहिए.’



सरकारी सूत्रों का कहना है कि भारतीय पक्ष ने हसीना को बताया है कि एनआरसी का प्रकाशन अदालत की निगरानी में संपन्न हुई प्रक्रिया है और अभी इसका अंतिम रूप सामने आना बाकी है. हक का कहना है कि बांग्लादेश अभी इसे लेकर चिंतित नहीं है.
First published: October 5, 2019, 11:36 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading