बांग्लादेश सरकार का आदेश, भारत से सटे 1 KM के दायरे में मोबाइल नेटवर्क बंद

बांग्लादेश ने भारत की सीमा पर टेलिकॉम सर्विसेज पर रोक लगा दी है (फाइल फोटो, Reuters)

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, बांग्लादेश सरकार (Bangladesh Government) के इस फैसले (Decision) के चलते 1 करोड़ लोग प्रभावित होंगे.

  • Share this:
    नई दिल्ली. बांग्लादेश (Bangladesh) सरकार ने सुरक्षा कारणों (Security Reasons) का हवाला देते हुए भारत से लगी सीमा पर एक किलोमीटर के दायरे में मोबाइल नेटवर्क (Mobile Network) बंद करने का आदेश दिया है. बांग्लादेश सरकार की ओर से कहा गया है कि मौजूदा परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए सुरक्षा कारणों के चलते ऐसा किया जा रहा है.

    मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, बांग्लादेश सरकार (Bangladesh Government) के इस फैसले (Decision) के चलते 1 करोड़ लोग प्रभावित होंगे.

    अगली नोटिस तक मोबाइल नेटवर्क रहेगा निलंबित
    ढाका ट्रिब्यून ने बताया कि ऑपरेटरों (Operators) ने सोमवार को भारत के साथ सीमाओं के एक किलोमीटर के भीतर नेटवर्क (Network) को निलंबित कर दिया. बांग्लादेश दूरसंचार नियामक आयोग (BTRC) ने दूरसंचार सेवा प्रदाताओं के लिए अपने आदेश में रविवार को कहा- सीमावर्ती क्षेत्रों में नेटवर्क कवरेज (Network Coverage) को तब तक निलंबित रखा जाना चाहिए जब तक कि देश की सुरक्षा के तहत आगे कोई नोटिस न दिया जाए.

    32 जिलों के करीब 1 करोड़ उपभोक्ताओं को प्रभावित करेगा यर फैसला
    बीटीआरसी के अध्यक्ष जहुरुल हक ने कहा कि सरकार की एक उच्च-स्तरीय बैठक (High-Level Meeting) में यह निर्णय लिया गया, जिसके बाद निर्देश जारी किए गए. ढाका ट्रिब्यून के अनुसार एक बीटीआरसी अधिकारी (BRTC Officers) के हवाले से कहा गया कि लगभग 2,000 बेस ट्रांसीवर स्टेशन बंद कर दिए गए हैं, जो भारत और म्यांमार (Myanmar) के साथ सीमा साझा करने वाले 32 जिलों में लगभग 1 करोड़ उपयोगकर्ताओं को प्रभावित करेगा. रिपोर्ट के अनुसार, गृह मंत्री असदुज्जमां खान कमाल और विदेश मंत्री (Foreign Minister) ए के अब्दुल मोमन ने कहा कि उन्हें इस फैसले की जानकारी नहीं है.

    यह भी पढ़ें: चीन को डोकलाम में उसकी हद बता चुके हैं नए जनरल मनोज मुकुंद नरवणे

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.