कैफे कॉफी डे के मालिक के बहाने विजय माल्या ने रोया अपना दुखड़ा

माल्या के मुताबिक वीजी सिद्धार्थ बहुत ही अच्छे शख्स थे. उन्होंने आरोप लगाया कि जिस तरह इनकम टैक्स के लोगों ने उन्हें परेशान किया ठीक उसी तरह उनके साथ भी होता रहा है.

News18Hindi
Updated: July 31, 2019, 9:37 AM IST
कैफे कॉफी डे के मालिक के बहाने विजय माल्या ने रोया अपना दुखड़ा
ब्रिटेन में कोर्ट के बाहर माल्या
News18Hindi
Updated: July 31, 2019, 9:37 AM IST
भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या ने कैफे कॉपी डे के मालिक वीजी सिद्धार्थ के बहाने खुद अपना दुखड़ा रोया है. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि जिस तरह का व्यवहार इनकम टैक्स के अधिकारियों ने वीजी सिद्धार्थ के साथ किया, ठीक वैसै ही उनके साथ भी हुआ था. माल्या इन दिनों ब्रिटेन में हैं और उनकी प्रत्यर्पण की प्रक्रिया आखिरी दौर में है.

माल्या के मुताबिक वीजी सिद्धार्थ बहुत ही अच्छे शख्स थे. उन्होंने आरोप लगाया कि जिस तरह इनकम टैक्स के लोगों ने उन्हें परेशान किया ठीक उसी तरह उनके साथ भी होता रहा है. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, 'मैं वीजी सिद्धार्थ से परोक्ष रूप से जुड़ा हूं. वो बहुत ही अच्छे इंसान और कारोबारी थे. मैं उनकी चिट्ठी देखकर हिल गया हूं. सरकारी एजेंसी और बैंक किसी को भी गायब होने के लिए मजबूर कर सकती है. आप देखिए पूरे पैसे वापस करने के ऑफर के बाद भी वो मेरे साथ क्या कर रहे हैं.'



सिद्धार्थ की लाश मिली

बता दें कि कैफे कॉफी डे के मालिक वीजी सिद्धार्थ की नदी किनारे लाश मिली है. पुलिस ने मेगलुरु में होइग बाजार के पास नेत्रावती के तट से उनकी लाश बरामद की. सिद्धार्थ सोमवार शाम रहस्यमय हालात में लापता हो गए थे. पुलिसकर्मी, तटरक्षक बल, गोताखोर और मछुआरे सहित करीब 200 लोग नदी में उनकी खोजबीन कर रहे थे.

वीजी सिद्धार्थ की चिट्ठी
गायब होने से पहले वीजी सिद्धार्थ ने बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स और सीसीडी फैमिली को एक चिट्ठी लिखी थी. इस चिट्ठी में उन्होंने कंपनी की माली हालत और अपने ऊपर कर्ज़ का ज़िक्र किया है. चिट्ठी में वीजी सिद्धार्थ ने अपनी नाकामी के बारे में लिखा- 'मैं सीसीडी को प्रॉफिटेबल बिजनेस मॉडल बनाने में नाकाम रहा. हालांकि मैंने पूरी मदद की. मैंने इसे पूरी जिंदगी दी. लेकिन मुझे माफ कर दीजिए. मैं आप सबकी उम्मीदों पर खरा नहीं उतर पाया. परेशानियों को खत्म करने के लिए मैं लंबे समय से जूझता रहा, मगर अब हिम्मत हार गया हूं. मुझमें और प्रेशर लेने की ताकत नहीं है. मुझपर दोस्तों का काफी कर्ज है. कुछ प्राइवेट इक्विटी पार्टनर्स भी मुझे अपनी शेयर बेचने का दबाव बना रहे हैं.'
Loading...

ये भी पढ़ें:

राज्यसभा के अंदर सरकार ने यूं जीती तीन तलाक पर 'जंग'

रेप पीड़िता के चाचा उन्नाव रवाना, पत्नी का होगा अंतिम संस्कार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 31, 2019, 9:08 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...