लाइव टीवी

पाकिस्‍तान के पत्रकार सायरिल अलमीदा का गोवा से है ये रिश्‍ता, देश छोड़ने पर लगाई गई थी पाबंदी

News18Hindi
Updated: October 21, 2019, 10:20 PM IST
पाकिस्‍तान के पत्रकार सायरिल अलमीदा का गोवा से है ये रिश्‍ता, देश छोड़ने पर लगाई गई थी पाबंदी
एक गोपनीय बैठक में पाकिस्‍तानी सेना और खुफिया एजेंसी आईएसआई के लिए दंगा अधिनियम पर चर्चा हुई. सायरिल अलमीदा ने इसी बैठक की जानकारी सार्वजनिक कर दी थी. इसके बाद उन पर देश छोड़ने की रोक लगा दी गई.

पाकिस्‍तान (Pakistan) के अंग्रेजी समाचारपत्र 'डॉन' (Dawn) के असिस्‍टेंट एडिटर सायरिल अलमीदा (Cyril Almeida) ने एक साल पहले ही कहा था, पाकिस्‍तान की पत्रकारिता का भविष्‍य उज्‍ज्‍वल नहीं है. तब सायरिल ने सोचा भी नहीं होगा कि उनकी यह बात एक साल से भी कम समय में उनके साथ ही घट जाएगी. इस्‍लामाबाद (Islamabad) ने उन पर गोपनीय सैन्‍य और नागरिक अधिकारियों (civil and military leadership) की बैठक की जानकारी सार्वजनिक करने के कारण प्रतिबंध लगा दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 21, 2019, 10:20 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. 'मुझे पाकिस्‍तानी पत्रकारिता का भविष्‍य उज्‍ज्‍वल नजर नहीं आता है.' अब से एक साल पहले जब पाकिस्‍तानी पत्रकार (Pakistani Journalist) सायरिल अलमीदा (Cyril Almeida) ने ये बात कही थी तो उन्‍हें भी नहीं पता था कि उनकी यह बात उन पर ही सच साबित हो जाएगी. इस्‍लामाबाद (Islamabad) ने पाकिस्‍तान के अंग्रेजी समाचारपत्र 'डॉन' (Dawn) के सहायक संपादक (Assistant Editor) अलमीदा पर देश छोड़ने की पाबंदी लगा दी है. दरअसल, सायरिल ने पिछले सप्‍ताह देश के शीर्ष नागरिक व सैन्‍य अधिकारियों (Civil and Military Leadership) के बीच हुई बैठक की जानकारी सार्वजनिक कर दी थी. इससे नाराज पाकिस्‍तान सरकार (Pakistan Government) ने उनके देश छोड़ने पर पाबंदी लगा दी.

'मुझे कहीं नहीं जाना, पाकिस्‍तान ही मेरा घर है'
रिपोर्ट के मुताबिक, गोपनीय बैठक में पाकिस्‍तानी सेना (Army) व खुफिया एजेंसी आईएसआई (ISI) के लिए दंगा अधिनियम (Riot Act) पर चर्चा हुई. सायरिल अलमीदा ने इसी बैठक की जानकारी सार्वजनिक कर दी थी. सायरिल अलमीदा पिछले साल गोवा आए थे. यहां एक कार्यक्रम में उन्‍होंने कहा था कि पाकिस्‍तान में पत्रकारिता का भविष्‍य अच्‍छा नहीं है. जब अलमीदा को 'एग्जिट कंट्रोल लिस्‍ट' (Exit Control List) में डालने की जानकारी मिली तो उन्‍होंने मंगलवार को ट्वीट किया कि मुझे कहीं नहीं जाना है. पाकिस्‍तान मेरा घर है. पाकिस्‍तान के मीडिया और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं ने उम्‍मीद जताई है कि सायरिल को अपना काम करने के लिए दंड (Penalised) नहीं दिया जाएगा. पाकिस्‍तान के संस्‍थापक मोहम्‍मद अली जिन्‍ना (Mohammed Ali Jinnah) ने 1948 में 'डॉन' की स्‍थापना की थी. अखबार ने अलमीदा को बचाने के लिए अपनी पूरी ताकत झोंक दी है.

गोवा के कैथोलिक ईसाई समुदाय से हैं सायरिल अलमीदा

अलमीदा गोवा के कैथोलिक (Goan Catholics) ईसाई समुदाय से हैं, जो कराची में अति-अल्‍पसंख्‍यक (Micro-Minority) हैं. उनके पूर्वज करीब 100 साल पहले कराची चले गए थे और वहीं बस गए. सायरिल ने 2012 में पहली बार गोवा आर्ट्स एंड लिटरेरी फेस्टिवल (GALF) में हिस्‍सा लिया था. इसके बाद व‍ह दो बार इस फेस्टिवल में शामिल हुए. आखिरी बार वह फेस्टिवल में शामिल होने के लिए दिसंबर 2015 में पहुंचे थे. उनके दोस्‍त बताते हैं कि वह घर पर आज भी कोंकणी (Konkani) ही बोलते हैं. सायरिल ने एक इंटरव्‍यू में कहा था कि कोंकणी से उन्‍हें अपनापन महसूस होता है. ये भाषा मेरे कानों को सुकून देती है.

कैथोलिक समुदाय ने भारत को दिए हैं कई बिशप और आर्कबिशप 
सायरिल को गोवा का खाना (Goan Cuisine) बहुत पसंद है. इसलिए गोवा के हर दौरे पर यहां के मसाले साथ ले जाते थे. कराची में रहने वाले गोवा के लोग आज भी सेंट फ्रांसिस जेवियर फेस्टिवल के लिए भारत आते हैं. ऐतिहासिक दस्‍तावेजों के मुताबिक, पुर्तगाली शासन के दौरान करीब 150 साल पहले गोवा के कैथोलिक ईसाइयों ने कराची पलायन करना शुरू कर दिया था. बंटवारे के बाद इनमें से कुछ लोग पाकिस्‍तान की सेना, पुलिस, रेलवे, अदालतों और सेवा उद्योग में उच्‍च पदों पर भी रहे हैं. इसी समुदाय ने दिल्‍ली, इलाहाबाद, पुणे, नागपुर, कोलकाता, कराची, लाहौर और इस्‍लामाबाद को कई बिशप व आर्कबिशप दिए हैं.
Loading...

ये भी पढ़ें:

OPINION: कश्‍मीर पर नाकामी के बाद आतंकवाद का सहारा ले रहा पाकिस्‍तान

भारतीय सेना पाकिस्‍तान-चीन सीमा पर घुसपैठ रोकने को तैनात करेगी आकाश मिसाइल!

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 21, 2019, 10:20 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...