लाइव टीवी

सऊदी अरब में पहली बार ऊंटों की लड़ाई का मुकाबला

News18.com
Updated: January 14, 2020, 11:40 AM IST
सऊदी अरब में पहली बार ऊंटों की लड़ाई का मुकाबला
सऊदी अरब में पहली बार शाह अब्‍दुल अजीज केमल (camel) मेले में ऊंटों के बीच मुकाबले का आयोजन किया गया है.

स्‍पेन में होने वाली सांडों की लड़ाई (Bull fight) और सऊदी अरब में होने वाली ऊंटों की लड़ाई में काफी अंतर है. जहां स्‍पेन में होने वाली सांडों की लड़ाई में काफी खून-खराबा होता है, वहींं सऊदी अरब में होने वाली ऊंटों की लड़ाई इस तरह हिंसक रूप नहीं लेती और इसे सिर्फ मनोरंजन के तौर पर लिया जाता है.

  • News18.com
  • Last Updated: January 14, 2020, 11:40 AM IST
  • Share this:
दुनिया भर में सांडों की लड़ाई मशहूर है. लाखों लोग यूरोपीय देशों खासकर स्‍पेन (Spain) में सांडों
के बीच मुकाबला देखते रहते हैं, लेकिन ऊंटों के बीच इस तरह का कोई मुकाबला या
लड़ाई सुनने में नहीं आई. सऊदी अरब (Saudi Arab) में मनोरंजन के खेल के तौर पर अब ऊंटों की लड़ाई कराई जाने लगी है.

हालांकि स्‍पेन में होने वाली सांडों की लड़ाई (Bull fight) और सऊदी अरब में होने वाली ऊंटों की लड़ाई

में काफी अंतर है. जहां स्‍पेन में होने वाली सांडों की लड़ाई में काफी
खून-खराबा होता है, वहींं सऊदी अरब में होने वाली ऊंटों की लड़ाई इससे अलग है और
इसे सिर्फ खेल के तौर पर लिया जाता है.सऊदी अरब के इतिहास में यह पहली बार है कि शाह अब्‍दुल अजीज केमल मेले (Camel Fair) में ऊंटों के बीच मुकाबले का आयोजन किया गया है. यह मेला पूरी दुनिया में ऊंटों के शौकीनों के लिए सबसे बड़ा मेला माना जा रहा है. मुकाबले का तरीका यह है कि किसी एक शख्‍स को चुनकर अखाड़े में भेजा जाता है. फिर वह करीब एक मिनट के लिए ऊंट से टक्‍कर लेता है और अगर वह इस तय सीमा के अंदर ऊंट को गिराने में कामयाब हो जाए तो उसे विजयी घोषित कर दिया जाता है. साथ ही उससे पराजित हुआ ऊंट जीतने वाले का ही हो जाता है.

हालांकि अगर वह तय समय सीमा में ऊंट को गिराने में कामयाब नहीं होता तो किसी अन्‍य व्‍यक्ति को इस मुकाबले के लिए चुन लिया जाता है और उसे ऊंट को 25 सेकंड के अंदर ही गिराना होता है और अगर वह इस चैलेंज पर खरा उतरता है तो उसे पुरस्‍कृत किया जाता है.

यह भी पढ़ें: -

सऊदी अरब में बारिश के बाद भारी बर्फबारी, स्विट्ज़रलैंड जैसा बना दुबई

शख्स ने खाई सांड की पावर बढ़ाने वाली दवा, डॉक्टरों को करनी पड़ी सर्जरी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 14, 2020, 11:25 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर