होम /न्यूज /दुनिया /

दांत में है दर्द तो हो जाएं सावधान, हो सकता है कोरोना संक्रमण का नया लक्षण

दांत में है दर्द तो हो जाएं सावधान, हो सकता है कोरोना संक्रमण का नया लक्षण

नमक और सरसों के तेल से दांतों का पीलापन दूर किया जा सकता है.

नमक और सरसों के तेल से दांतों का पीलापन दूर किया जा सकता है.

Corona Virus New Symptoms: 43 वर्षीय खैमिली भी कोरोना वायरस का सामना कर चुकी हैं. कुछ दिनों पहले उन्हें दांतों में अजीब परेशानी महसूस हुई थी. कुछ डेंटिस्ट यह मानते हैं कि कोविड-19 (Covid-19) दांत से जुड़ी परेशानियों का कारण बन सकता है.

अधिक पढ़ें ...
    न्यूयॉर्क. कोरोना वायरस का शिकार होने के बाद मरीजों को बुखार आते और सांस लेने में परेशानी होते हमने देखा है. लेकिन कोविड-19 से जूझ रहे व्यक्ति में दांत से जुड़ी कोई समस्या शायद नहीं होती थी. न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट बताती है कि कोरोना वायरस का शिकार हो चुके कुछ लोग कमजोर मसूड़े और दांत झड़ने (Weak Gums and Teeths) जैसी समस्याओं का सामना कर रहे हैं. हालांकि, इस बात के अभी तक कोई पुख्ता सबूत नहीं मिल सके हैं और वैज्ञानिकों ने इसके पीछे के कारण तलाशना शुरू कर दिया है.

    43 वर्षीय खैमिली भी कोरोना वायरस का सामना कर चुकी हैं. कुछ दिनों पहले उन्हें दांतों में अजीब परेशानी महसूस हुई. उन्होंने एक मिंट दांतों में दबाई तो कुछ झनझनाहट महसूस हुई. बात में देखा तो दांत हिल भी रहा था. यहां तक खैमिली को लगा कि मिंट की वजह से कुछ अजीब महसूस हुआ, लेकिन अगले ही दिन उनका दांत टूट गया. खास बात है कि इस दौरान न तो खून निकला और न ही दर्द हुआ.

    कोरोना को मात देने वाली खैमिली ऑनलाइन एक सपोर्ट ग्रुप में शामिल हो गईं. वहां मौजूद ऐसे कई लोग थे, जिन्हें कोविड-19 का शिकार होने के बाद दांतों से जुड़ी परेशानियां हुईं थीं. हालांकि, कुछ डेंटिस्ट यह मानते हैं कि कोविड-19 दांत से जुड़ी परेशानियों का कारण बन सकता है. यूनिवर्सिटी ऑफ उटाह के पीरियडॉन्टिस डॉक्टर डेविड ओकाने ने कहा 'किसी व्यक्ति के दांत का अचानक सॉकेट के बाहर आ जाना बेहद आश्चर्यजनक है. दांतों से जुड़ी या समस्या और भी भयंकर हो सकती है.' उन्होंने बताया 'इस बीमारी से रिकवर होने के बाद भी लोगों में लंबे समय तक इसका असर रहता है.'

    पहले भी दांतों की परेशानी से जूझ रहीं थीं खैमिली
    दांत टूटने के बाद जब खैमिली ने डेंटिस्ट से मुलाकात की तो उन्हें बताया गया कि स्मोकिंग की वजह से दांतों के आसपास की हड्डियां कमजोर हो गई हैं. उनके मसूड़ों में कोई इंफेक्शन नहीं हुआ है. खैमिली के साथी भी सर्वाइवर कॉर्प नाम के एक पेज को फॉलो करते हैं. उन्हें पता लगा कि पेज की संस्थापक डायना बैरेंट को 12 साल के बेटे को भी इसी तरह की दिक्कतें हुईं थीं. पहले बच्चे में कोविड-19 के कुछ लक्षण दिखें और बाद में उसका एक दांत टूट गया. कुछ डेंटिस्ट का मानना है कि इस विषय पर और रिसर्च की जरूरत है.

    Tags: Corona new symptoms, Corona Teeth problems, Covid-19 Updates

    अगली ख़बर