जून में जेनेवा में पुतिन के साथ शिखर वार्ता करेंगे बाइडन: व्हाइट हाउस

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन (फाइल फोटो)

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन (फाइल फोटो)

America-Russia Summit: बाइडन प्रशासन के शुरुआती महीनों में अमेरिका और रूस के बीच बढ़ते तनाव के बीच दोनों नेता आमने-सामने मुलाकात करेंगे.

  • Share this:

वाशिंगटन. अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन (American President Joe Biden) अगले महीने जेनेवा में रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) के साथ शिखर वार्त करेंगे. व्हाइट हाउस (White House) ने इसकी जानकारी दी. बाइडन प्रशासन के शुरुआती महीनों में अमेरिका और रूस के बीच बढ़ते तनाव के बीच दोनों नेता आमने-सामने मुलाकात करेंगे. व्हाइट हाउस ने मंगलवार को शिखर वार्ता की की पुष्टि की. दोनों नेता 16 जून को मुलाकात करेंगे.

व्हाइट हाउस की प्रवक्ता जेन साकी ने एक बयान में कहा, ’’दोनों नेता प्रमुख मुद्दों पर विस्तारपूर्वक चर्चा करेंगे. हम अमेरिका-रूस संबंधों में स्थिरता बहाल करना चाहते हैं.’’ बता दें अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन अमेरिका के आंतरिक मामलों के साथ ही विदेश संबंधों को नए सिरे से मजबूत कर रहे हैं. इससे पहले बाइडन ने मिस्र के अपने समकक्ष अब्देल फतेह अल-सिसी से पश्चिम एशिया में शांति प्रक्रिया और गाजा पट्टी पर मानवीय सहायता पहुंचाने की तत्काल आवश्यकता पर चर्चा की.

व्हाइट हाउस ने सोमवार को बताया कि बाइडन ने इज़राइल और गाजा की हालिया लड़ाई को खत्म करने और वहां दोबारा हिंसा ना हो यह सुनिश्चित करने के लिए अमेरिका के साथ उसकी सफल कूटनीति एवं समन्वय के लिए मिस्र का आभार व्यक्त किया. गाजा में जरूरमंदों को तत्काल मानवीय सहायता मुहैया कराने और पुनर्निर्माण के प्रयासों का इस तरह समर्थन करने की वहां के लोगों को इससे फायदा पहुंचे, हमास को नहीं जैसे मुद्दों पर दोनों नेताओं ने चर्चा की.

उत्तर कोरिया के लिए विशेष दूत की नियुक्ति
बाइडन ने शनिवार को दक्षिण कोरिया के अपने समकक्ष मून जेइ-इन से पहली वार्ता के बाद उत्तर कोरिया के लिए विशेष दूत की नियुक्ति की घोषणा की.

बाइडन ने यहां आए दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति के साथ संयुक्त संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए बृहस्पतिवार को कहा, ‘‘मुझे यह बताते हुए खुशी हो रही है कि राजनयिक और नीति मामलों के गहन जानकार सुंग किम उत्तर कोरिया के लिए अमेरिका के विशेष दूत होंगे.’’




बाइडन ने पत्रकारों को बताया कि उनके प्रशासन द्वारा उत्तर कोरिया की समीक्षा किए जाने के दौरान उनकी टीम ने राष्ट्रपति मून की टीम से गहन विचार विमर्श किया.

(Disclaimer: यह खबर सीधे सिंडीकेट फीड से पब्लिश हुई है. इसे News18Hindi टीम ने संपादित नहीं किया है.)

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज