दिल्ली हिंसा: बर्नी सैंडर्स के बयान पर बीजेपी नेता ने किया पलटवार, फिर डिलीट किया ट्वीट

दिल्ली हिंसा: बर्नी सैंडर्स के बयान पर बीजेपी नेता ने किया पलटवार, फिर डिलीट किया ट्वीट
बर्नी सैंडर्स की फाइल फोटो

विदेश मंत्रालय ने दिल्ली हिंसा पर अमेरिकी संस्था और अन्य लोगों द्वारा जताई गई चिंता पर कहा कि वे गैर जिम्मेदाराना टिप्पणी ना करें.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 27, 2020, 12:09 PM IST
  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के विरोधियों और समर्थकों के बीच हुई हिंसा के बाद दुनिया भर की नजर भारत पर है. इसी कड़ी में आगामी अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव (US President Election)में राष्ट्रपति पद के संभावित प्रत्याशी बर्नी सैंडर्स  (Bernie Sanders) ने ट्वीट किया. इसके जवाब में भारतीय जनता पार्टी नेता और महासचिव (संगठन) बीएल संतोष (BL Santhosh) ने भी ट्वीट किया. हालांकि संतोष को अपना ट्वीट हटाना पड़ा.

दरअसल, बर्नी सैंडर्स ने लिखा था- '20 करोड़ से ज्यादा मुसलमान भारत को अपना देश मानते हैं. मुस्लिमों के खिलाफ हिंसा हो रही है. 27 की मौत हो गई है और कई घायल हैं.' ट्रंप ने इसका जवाब दिया- 'यह भारत का मामला है. मानवाधिकारों के मुद्दे पर यह नेतृत्व की असफलता है.' इसके जवाब में संतोष ने लिखा 'हम चाहे जितना निरपेक्ष रहने की कोशिश करें लेकिन आप हमें राष्ट्रपति चुनाव (अमेरिकी) में भूमिका अदा करने के लिए उकसा रहे हैं. यह कहने के लिए माफी चाहता हूं लेकिन आप हमें मजबूर कर रहे हैं.' कुछ समय बाद ही संतोष ने अपना ट्वीट हटा दिया.

विदेश मंत्रालय ने कहा- ना करें गैरजिम्मेदाराना टिप्पणी
वहीं विदेश मंत्रालय (Ministry Of External affairs) ने अमेरिकी संस्था और अन्य लोगों द्वारा दिल्ली हिंसा को लेकर जताई गई चिंता पर कहा 'कानूनी एजेंसियां हिंसा रोकने, सामान्य स्थिति बहाल करने के लिए काम कर रही हैं.' विदेश मंत्रालय ने कहा, 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सार्वजनिक तौर पर शांति और भाईचारा कायम करने की अपील की है.' विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा, 'हम अनुरोध करेंगे कि इतने संवेदनशील वक्त में गैरजिम्मेदाराना टिप्पणियां न की जाएं.'



गौरतलब है कि अमेरिकी सांसदों द्वारा नई दिल्ली में हिंसा पर तीखी प्रतिक्रिया करने के एक दिन बाद डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार बर्नी सैंडर्स ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर मानवाधिकारों के मुद्दे पर नाकाम रहने का आरोप लगाया.



बर्नी सैंडर्स और बीएल संतोष के ट्वीट का स्क्रीनशॉट


अंतरराष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता पर अमेरिकी आयोग ने कहा 
भारत की यात्रा के दौरान हिंसा की घटनाओं के बारे में पूछे जाने पर अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा था, ‘जहां तक व्यक्तिगत हमलों का सवाल है तो मैंने इसके बारे में सुना लेकिन उनके (मोदी) साथ चर्चा नहीं की. यह भारत का मामला है.’ सैंडर्स संशोधित नागरिकता कानून को लेकर हिंसा के खिलाफ बोलने वाली सीनेटर एलिजाबेथ वॉरेन के बाद डेमोक्रेटिक पद के दूसरे प्रत्याशी हैं.

डेमोक्रेटिक पार्टी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के अलावा अन्य प्रभावशाली सीनेटरों ने भी बुधवार को घटनाक्रमों पर चिंता जताई. डेमोक्रेटिक पार्टी के सांसद मार्क वार्नर और जीओपी के जॉन कोर्निन ने एक संयुक्त बयान में कहा, ‘हम नई दिल्ली में हालिया हिंसा से चिंतित हैं. हम अपने महत्वपूर्ण दीर्घकालिक संबंधों को आगे बढ़ाने के लिए चिंता के अहम मुद्दों पर मुक्त संवाद का समर्थन करते रहेंगे.’ इससे पहले अंतरराष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता पर अमेरिकी आयोग ने भारत सरकार से अपने नागरिकों की सुरक्षा के लिए तत्काल कार्रवाई करने का अनुरोध किया.

(एजेंसी इनपुट के साथ)

यह भी पढेंं: जस्टिस मुरलीधर मामले में कानून मंत्री ने दी सफाई, कांग्रेस को घेरा
First published: February 27, 2020, 12:00 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading