बीजेपी नेता तजिंदर पाल सिंह बग्गा ने ताइवान को दी बधाई, चीन ने कहा- आग में घी ना डालें

बीजेपी नेता तजिंदर पाल सिंह बग्‍गा नई दिल्ली स्थित चीनी दूतावास पर ताइवान नेशनल डे पर पोस्टर लगाए.
बीजेपी नेता तजिंदर पाल सिंह बग्‍गा नई दिल्ली स्थित चीनी दूतावास पर ताइवान नेशनल डे पर पोस्टर लगाए.

ताइवान के नेशनल डे (Taiwan National Day) पर दिल्ली स्थित चीनी दूतावास के बाहर बीजेपी के युवा नेता तजिंदर पाल सिंह बग्गा (Tajinder Pal Singh Bagga) ने कुछ पोस्टर लगाए. इसके बाद चीन ने बीजेपी नेता को धमकी दे डाली.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 11, 2020, 6:43 AM IST
  • Share this:
बीजिंग. ताइवान के नेशनल डे (Taiwan National Day) पर दिल्ली स्थित चीनी दूतावास (Chinese Embassy) के बाहर बीजेपी के युवा नेता तजिंदर पाल सिंह बग्गा (Bjp Leader Tajinder Pal Singh Bagga) ने कुछ पोस्टर लगाए. इसके बाद चीन ने अपने सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स के जरिये बग्गा को इस पर धमकी दे डाली. चीन ने कहा कि बग्गा इस तरह के काम करके आग से खेलने का काम ना करे. दरअसल, बग्गा ने ताइवान के नेशनल डे पर को ना सिर्फ पोस्टर लगाए बल्कि उसे इस विशेष दिन के लिए बधाई दी. इससे चीन बौखला उठा और उसने अपने अखबार के जरिये बग्गा को धमकी दे डाली.

बीजेपी नेता का काम आग में घी डालने जैसा है: ग्लोबल टाइम्स

ग्‍लोबल टाइम्‍स ने विश्‍लेषकों के हवाले से यह लिखा कि बीजेपी नेता ने चीनी दूतावास पर ताइवान के नेशनल डे पर बधाई देकर आग में घी डालने जैसा काम किया है. अखबार ने यह भी लिखा कि भारत और चीन के संबंध पहले से ही कटु हैं और इस तरह के काम दोनों के बीच के रिश्तों को बेहतर करने की बजाय खराब करने का ही काम करेंगे.



वन चाइना पॉलिसी नहीं अपनाएगा भारत: विदेश मंत्रालय
ग्‍लोबल टाइम्‍स ने बीजेपी को चेतावनी देत हुए लिखा है कि उसे इस प्रकार का बेवजह की बातों को छोड़ना होगा. यह व्यवहार तार्किक है. ग्लोबल टाइम्‍स ने लिखा है, 'दिल्‍ली की कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में खबरें आई कि चीनी दूतावास के बाहर ताइवान के पोस्‍टर लगे हैं जिनमें लिखा है, 'हैप्‍पी नेशनल डे'. इन पोस्‍टरों को दिल्‍ली के बीजेपी लीडर तजिंदर पाल सिंह बग्‍गा की तरफ से लगाया गया था.' अखबार के मुताबिक यह काम ऐसे समय में हुआ है जब भारत और चीन के रिश्ते ठीक नहीं चल रहे हैं. इसके अलावा भारत के विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता की तरफ से भी भारतीय मीडिया के उन अधिकारों का बचाव किया गया जिसमें मीडिया ने वन चाइना पॉलिसी को मानने से इनकार कर दिया था. विदेश मंत्रालय ने कहा था कि मीडिया अपना नजरिया रखने के लिए स्‍वतंत्र है.

ये भी पढ़ें: ये भी पढ़ें: PHOTOS: किर्गीस्तान में भड़की जनता, सड़कों पर उतरकर लगाने लगी नारे 

पाकिस्तान में बिस्कुट के विज्ञापन पर बवाल, मंत्रियों ने कहा- हम अश्लीलता बर्दाश्त नहीं करेंगे


चीन ने भारत की मीडिया को निर्देश देते हुए सात अक्‍टूबर को चीनी दूतावास की तरफ से भारतीय मीडिया को निर्देश दिया था कि वह उसी तरह का रुख अपनाए जो भारत सरकार पिछले कई वर्षों से अपनाती आ रही है. इसके साथ ही मीडिया को वन चाइना पॉलिसी का पालन करने की बात भी कहीं गई थी. ई-मेल कर दूतावास की तरफ से मीडिया को बताया गया था कि वन चाइना पॉलिसी दोनों देशों के बीच राजनयिक रिश्‍तों का आधार है. चीनी विशेषज्ञ की मानें तो भारत, ताइवान को लेकर भड़काऊ बर्ताव कर रहा है. भारत का ऐसा व्यवहार करना दोनों देशों के संबंधों के लिए बिल्कुल ठीक नहीं है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज