कराची में क्रैश हुए PIA विमान का ब्लैक बॉक्स बरामद, जांच समिति को सौंपा गया

पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (पीआईए) ने शनिवार को कहा कि दुर्घटनाग्रस्त हुए एयरबस ए-320 की दो महीने पहले जांच की गई थी
पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (पीआईए) ने शनिवार को कहा कि दुर्घटनाग्रस्त हुए एयरबस ए-320 की दो महीने पहले जांच की गई थी

पीआईए एयरबस जेट (PIA Airbus Jet) जिसमें 99 लोग सवार थे, शुक्रवार दोपहर को हवाई अड्डे पर दो बार उतरने की कोशिश करने के बाद भीड़भाड़ वाले आवासीय इलाके में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था. इस हादसे में नौ बच्चों समेत 97 लोगों की मौत हो गई थी.

  • Share this:
कराची. पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (Pakistan International Airlines) के शुक्रवार को आवासीय इलाके में क्रैश हुए विमान का डेटा रिकॉर्डर और कॉकपिट वॉइस रिकॉर्डर मिल गया है. एयरलाइन के प्रवक्ता ने शनिवार को ये जानकारी दी.

पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (PIA) के प्रवक्ता अब्दुल्ला खान ने कहा कि ब्लैक बॉक्स कल देर रात मिल गया, जिसे हमने एंक्वायरी बोर्ड को सुपुर्द कर दिया है. उन्होंने बताया कि फ्लाइट डाटा रिकॉर्डर और कॉकपिट वॉइस रिकॉर्डर दोनों ही मिल गए हैं.

पीआईए एयरबस जेट (PIA Airbus Jet) जिसमें कि 99 लोग सवार थे शुक्रवार दोपहर को हवाई अड्डे पर दो बार उतरने की कोशिश करने के बाद भीड़भाड़ वाले आवासीय जिले में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था.



दो महीने पहले की गई थी जांच
पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (पीआईए) ने शनिवार को कहा कि दुर्घटनाग्रस्त हुए एयरबस ए-320 की दो महीने पहले जांच की गई थी और इसने दुर्घटना से एक दिन पहले मस्कत से लाहौर (Lahore) के लिए उड़ान भरी थी.



‘डॉन’ समाचार पत्र की खबर के अनुसार भारी वित्तीय घाटे में चल रही एयरलाइंस ने इस विमान के तकनीकी पहलुओं से जुड़ा विवरण जारी करते हुए कहा, ‘‘विमान के इंजन, लैंडिंग गियर या प्रमुख विमान प्रणाली से संबंधित कोई खामी नहीं थी.’’

97 लोगों की हुई मौत, 2 यात्री बचे
पीआईए की उड़ान संख्या पीके-8303 के यहां हवाई अड्डे के निकट एक घनी आबादी वाले आवासीय क्षेत्र में दुर्घटनाग्रस्त होने से नौ बच्चों समेत 97 लोगों की मौत हो गई थी और दो यात्री इस हादसे में चमत्कारिक ढंग से बच गये.

लाहौर से आ रहा विमान शुक्रवार के अपराह्र कराची में उतरने से कुछ मिनट पहले मलिर में मॉडल कॉलोनी के निकट जिन्ना गार्डन इलाके में दुर्घटनाग्रस्त हुआ था.

एक दिन पहले मस्कत से लाहौर के लिए भरी थी उड़ान
पीआईए के इंजीनियरिंग और रखरखाव विभाग के अनुसार विमान की अंतिम बार जांच गत 21 मार्च को गई थी और उसने हादसे से एक दिन पहले मस्कत से लाहौर के लिए उड़ान भरी थी.

विवरण में कहा गया है कि दोनों इंजनों की स्थिति ‘‘संतोषजनक’’ है और नियमित अंतराल पर इसके रखरखाव का काम किया जाता है.

जांच टीम का किया गया गठन
खबर के अनुसार देश के नागरिक उड्डयन प्राधिकरण ने विमान को पांच नवम्बर, 2020 तक उड़ानों के लिए उपयुक्त बताया था. संघीय सरकार ने इस घटना की जांच के लिए एक टीम का गठन का किया है जो जल्द से जल्द अपनी रिपोर्ट सौपेंगी. एक प्रारंभिक बयान एक महीने के भीतर जारी किया जायेगा.

इस बीच पाकिस्तान एयरलाइन्स पायलट एसोसिएशन (पीएएलपीए) ने इस हादसे की गहन जांच कराने की मांग की है.

डॉन समाचार पत्र ने प्रत्यक्षदर्शियों के हवाले से अपनी खबर में कहा कि विमान ने दो बार उतरने की कोशिश की लेकिन विमान नहीं उतर पाया.

(एजेंसी के इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें-
पाकिस्‍तान में राजनेताओं ने हद कर दी, मिल कर किसानों को लूटा : रिपोर्ट

PAK विमान हादसे में जिंदा बचेे शख्‍स का भारत के साथ है 'पाकीज़ा' कनेक्‍शन
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज