अपना शहर चुनें

States

Blackout in Pakistan: पाकिस्तान की बिजली गुल, इस्लामाबाद से कराची तक सभी शहर अंधेरे में डूबे

पाकिस्तान में शनिवार देर रात पूरे देश की बिजली एक साथ चली गई.
पाकिस्तान में शनिवार देर रात पूरे देश की बिजली एक साथ चली गई.

पाकिस्तान (Pakistan) में एक साथ कई शहरों में बिजली जाने (Power failure) की खबर दुनियाभर में चर्चा का विषय बन गई और ट्विटर पर #blackout ट्रेंड करने लगा. इससे पहले जनवरी 2015 में भी ऐसे ही तकनीकी खराबी की वजह से पूरे देश की बिजली गुल हो गई थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 10, 2021, 7:35 AM IST
  • Share this:
कराची. पाकिस्तान (Pakistan) में शनिवार देर रात उस समय हड़कंप मच गया जब एक साथ देश के बड़े हिस्से की बिजली गुल (Power failure) हो गई. पाकिस्तान में एक साथ कई शहरों में बिजली जाने की खबर दुनियाभर में चर्चा का विषय बन गई और ट्विटर पर #blackout ट्रेंड करने लगा. खबर है कि तकनीकी खराबी की वजह से रात करीब 11.41 बजे कराची, इस्लामाबाद, लाहौर, पेशावर और रावलपिंडी समेत पूरा पाकिस्तान अंधेरे में डूब गया. बता दें कि पूरे पाकिस्तान में ब्लैक आउट होना कोई नई बात नहीं है. इससे पहले जनवरी 2015 में भी ऐसे ही तकनीकी खराबी की वजह से पूरे देश की बिजली गुल हो गई थी.

इस पूरे मसले पर जानकारी देते हुए पाकिस्तान के ऊर्जा मंत्रालय ने ट्विटर करते हुए लिखा- पावर ट्रांसमिशन सिस्टम की फ्रीक्वेंसी में अचानक 50 से 0 की गिरावट की वजह से देशव्यापी ब्लैकआउट हो गया. मंत्रालय की ओर से बताया गया है कि रात करीब 11 बजकर 41 मिनट पर कुछ तकनीकी दिक्कत की वजह से पूरे देश में ब्लैकआउट हो गया. मंत्रालय ने लोगों से संयम बरतने की अपील की.


पाकिस्तन के प्रधानमंत्री इमरान खान के सहयोगी शाहबाज गिल ने इस बारे में जानकारी देते हुए कहा, ऊर्जा मंत्री उमर अयूब और उनकी पूरी टीम पाकिस्तान में हुए ब्रेकडाउन को ठीक करने के काम में लगी हुई है. बता दें कि इससे पहले जनवरी, 2015 में भी ऐसा हुआ था. पाकिस्तान तकनीकी खामी के चलते कई घंटों तक बिना बिजली के रहा था.



इसे भी पढ़ें :-  इमरान ने कबूला- पाकिस्तानी सेना है दबाव में, कभी भी हो सकता है तख्तापलट

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक रात करीब दो बजे कुछ शहरों में बिजली की बहाली की गई जबकि कुछ शहरों में अभी भी लाइट नहीं आ सकी है. तकनीकी खामियों को दूर करने का काम किया जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज