काबुल में देर रात जोरदार धमाका, 16 की मौत और सौ ज़्यादा घायल

हमले से कुछ समय पहले ही अफगानिस्तान (Afghanistan) के मुख्य टीवी चैनल ‘टोलो न्यूज’ ने अमेरिकी दूत ज़लमय खलीलजाद के साथ एक इंटरव्यू टेलीकास्ट किया था, जिसमें वो इस्लामी चरमपंथी संगठन तालिबान (Taliban) के साथ एक संभावित समझौते पर चर्चा कर रहे थे.

भाषा
Updated: September 3, 2019, 9:50 AM IST
काबुल में देर रात जोरदार धमाका, 16 की मौत और सौ ज़्यादा घायल
हमला ग्रीन विलेज के आवासीय इलाके में हुआ
भाषा
Updated: September 3, 2019, 9:50 AM IST
अफगानिस्तान (Afghanistan) की राजधानी काबुल (Kabul) में सोमवार देर रात हुए भीषण धमाके (Blast) में कम से कम 16 लोगों की मौत हो गई. जबकि सौ से ज्यादा लोग घायल है. तालिबान ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है. हमला ऐसे समय में हुआ है जब अमेरिकी विशेष दूत ज़लमय खलीलजाद तालिबान के साथ बातचीत के लिए अफगानिस्तान की राजधानी काबुल पहुंचे हैं.

ग्रीन विलेज पर हमला
गृह मंत्रालय के प्रवक्ता नसरत रहीमी ने बताया कि हमला ग्रीन विलेज के आवासीय इलाके में हुआ, जहां सहायता एजेंसियों और अंतरराष्ट्रीय संगठनों के कार्यालय हैं. रहीमी ने बताया कि मौके से कई शव बरामद हुए हैं और सौ से ज्यादा घायलों को वहां से निकाला गया है. उन्होंने हताहतों की संख्या बढ़ने की आशंका जताई है. वहीं, तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद ने कहा कि आत्मघाती हमलावर और बंदूकधारियों ने मिल कर ये हमला किया है.

सौ से ज़्यादा घायल (फोटो-AP)


तालिबान से बातचीत से पहले हमला
हमले से कुछ समय पहले ही अफगानिस्तान के मुख्य टीवी चैनल ‘टोलो न्यूज’ ने अमेरिकी दूत ज़लमय खलीलजाद के साथ एक इंटरव्यू टेलीकास्ट किया था, जिसमें वो इस्लामी चरमपंथी संगठन तालिबान के साथ एक संभावित समझौते पर चर्चा कर रहे थे. इसमें उन्होंने कहा कि अगर समझौते को आगे बढ़ाने पर सहमति बनती है तो हम अफगानिस्तान के पांच सैन्य ठिकानों से 135 दिनों के भीतर अपने सैनिकों की वापसी शुरू कर देंगे.

ये भी पढ़ें:
Loading...

4 महीने से ब्रेन डेड महिला बनी मां, डिलीवरी के 3 दिन बाद मौत

इंडिया गेट के समीप भीषण सड़क हादसा, बाप-बेटी की मौत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 3, 2019, 9:50 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...